Latest News

#Measles-Rubella 15 अगस्त 26 january 26 जनवरी abvp Administrative b4 cinema balaji dhaam bhagoria bhagoria festival jhabua bjp cbse result cinema hall jhabua city crime cultural education election events Exclusive Famous Place gopal mandir jhabua Health and Medical jhabua jhabua crime Jhabua History Jobs Kadaknath matangi Meghnagar Movie Review MPEB MPPSC National Body Building Championship India New Year NSUI petlawad photo gallery politics post office ram sharnam jhabua Ranapur religious religious place Road Accident rotary club sd academy social sports thandla tourist place Video Visiting Place Women Jhabua अखिल भारतीय किन्नर सम्मेलन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद अंगूरी बनी अंगारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस अपराध अरोडा समाज अल्प विराम कार्यक्रम अवैध शराब आंगनवाड़ी आचार संहिता आजाद जयंती आदित्य पंचोली आदिवासी गुड़िया आनंद उत्सव आपकी सरकार आपके द्वार आयुष्मान भारत योजना आरटीओं आर्ट आॅफ लिविंग शिविर आलेख आवंला नवमी आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक इनरव्हील क्लब ईद उत्कृष्ट सड़क उमापति महादेव ऋषभदेव बावन जिनालय एकात्म यात्रा एनएसयूआई एमपी पीएससी कड़कनाथ मुर्गा कम्प्यूटर ऑपरेटर महासंघ कलाल समाज कलावती भूरिया कलेक्टर कलेक्टर कार्यालय कल्लाजी महाराज कवि सम्मेलन कांग्रेस कांतिलाल भूरिया कार्तिक पूर्णिमा कावड़ यात्रा किन्नर सम्मेलन कृषि कृषि महोत्सव कृषि विज्ञान केन्द्र झाबुआ केरोसीन कैथोलिक डायसिस झाबुआ क्रिकेट टूर्नामेंट क्षत्रिय महासभा खबरे अब तक खेडापति हनुमान मंदिर खेल गडवाड़ा गणगौर पर्व गणतंत्र दिवस गणेशोत्सव गर्मी गल पर्व गायत्री शक्तिपीठ गुड़िया कला झाबुआ गुड़ी पड़वा गेल झाबुआ गोपाल पुरस्कार गोपाल मंदिर झाबुआ गोपाष्टमी गोपेश्वर महादेव गोवर्धननाथ मंदिर गौशाला ग्रामीण बैंक घटनाए चक्काजाम चुनाव जन आशीर्वाद यात्रा जनसुनवाई जन्माष्टमी जय आदिवासी युवा संगठन जय बजरंग व्यायाम शाला जयस जिला चिकित्सालय जिला जेल जिला विकलांग केन्द्र झाबुआ जीवन ज्योति हॉस्पिटल जैन मुनि जैन सोश्यल गुुप ज्योतिष परामर्श शिविर झकनावदा झाबुआ झाबुआ इतिहास झाबुआ का राजा झाबुआ पर्व झाबुआ पुलिस झाबूआ झूलेलाल जयंती डाकघर डीआरपी लाईन तुलसी विवाह तेली समाज थांदला दशहरा दस्तक अभियान दिल से कार्यक्रम दीनदयाल उपाध्याय पुण्यतिथि दीपावली देवझिरी धार्मिक धार्मिक स्थल नक्षत्र वाटिका नगरपालिका परिषद झाबुआ नरेंद्र मोदी नवरात्री नवरात्री चल समारोह नि:शुल्क स्वास्थ्य मेगा शिविर निर्मला भूरिया निर्वाचन आयोग पथ संचलन परिवहन विभाग पर्यटन स्थल पल्स पोलियो अभियान पाक्सो एक्ट पारा पावर लिफ्टिंग पिटोल पीएचई विभाग पेटलावद पेंशनर एसोसिएशन पैलेस गार्डन पोलीटेक्निक काॅलेज प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय प्रतिभा सम्मान सम्मारोह प्रतियोगी परीक्षा प्रधानमंत्री आवास योजना प्रशासनिक फुटतालाब फेंसी ड्रेस बजरंग दल बस स्टैंड बहादुर सागर तालाब बामनिया बारिश बाल कल्याण समिति बालिका सशक्तिकरण अभियान बेटी बचाओं अभियान बोहरा समाज ब्राह्राण समाज ब्लू व्हेल गेम भगोरिया पर्व भगोरिया मेला भगौरिया पर्व भजन संध्या भर्ती भागवत कथा भाजपा भारत निर्वाचन आयोग भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान भारतीय जीवन बीमा निगम भारतीय जैन संगठना भारतीय थल सेना भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा भावांतर योजना मध्यप्रदेश टूरिज्म अवार्ड मध्यप्रदेश पर्यटन विभाग मध्यप्रदेश बाल अधिकार संरक्षण आयोग मनकामेश्वर महादेव मल्टीप्लेक्स सिनेमा महाशिवरात्रि महिला आयोग महिला एवं बाल विकास विभाग माछलिया घाट मिशन इन्द्रधनुष मीजल्स रूबेला मुख्यमंत्री उत्कृष्टता पुरस्कार मुख्यमंत्री कन्यादान योजना मुख्यमंत्री कप मुख्यमंत्री महिला सशक्तिकरण योजना मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चोहान मुस्लिम समाज मुहर्रम मूवी रिव्यु मेघनगर मेरे दीनदयाल सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता मैराथन दौड़ मोड़ ब्राह्मण समाज मोदी मोहल्ला मोहनखेड़ा यातायात युवा दिवस यूनीसेफ योग शिविर रक्तदान रंगपुरा रतलाम राजगढ़ राजनेतिक राजपुत समाज राजवाडा चौक राज्यपाल राणापुर राम शरणम् झाबुआ रामशंकर चंचल रामा रायपुरिया राष्ट्रीय एकता दिवस राष्ट्रीय खेल दिवस राष्ट्रीय पोषण मिशन राष्ट्रीय बालरंग राष्ट्रीय बॉडी बिल्डिंग चैम्पियनशीप राष्ट्रीय मानवाधिकार राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ रेल्वे स्टेशन रोग निदान रोजगार मेला रोटरी क्लब लक्ष्मीनगर विकास समिति लाडली शिक्षा पर्व लोक सेवा केन्द्र लोकरंग शिविर वनवासी कल्याण परिषद वरदान नर्सिंग होम वाटसएप विधायक विधायक शांतिलाल बिलवाल विश्व आदिवासी दिवस विश्व उपभोक्ता संरक्षण दिवस विश्व विकलांग दिवस विश्व हिन्दू परिषद वेलेंटाईन डे वैश्य महासम्मेलन व्यापारी प्रीमियर लीग शरद पूर्णिमा शहीद सैनिक शारदा विद्या मंदिर शासकीय महाविद्यालय झाबुआ शिक्षा शिवगंगा शौर्य दिवस श्रद्धांजलि सभा श्रावण सोमवार श्री गौड़ी पार्श्वनाथ जैन मंदिर सकल व्यापारी संघ संगीत सत्यसाई सेवा समिति सदभावना दौड संपादकीय सर्वब्राह्मण समाज साज रंग झाबुआ सामाजिक सामूहिक सूर्य नमस्कार सारंगी सांसद सांस्कृतिक सिंधी समाज सीपीसीटी परीक्षा स्थापना दिवस स्वच्छ भारत मिशन स्वतंत्रता दिवस हज हजरत दीदार शाह वली हनुमान जयंती हरितालिका तीज हरियाली अमावस्या हाथीपावा हाथीपावा महोत्सव हिन्दू नववर्ष होली झाबुआ

झाबुआ। देश की जियोग्राफिकल इंडिकेशन्स रजिस्ट्री ने झाबुआ की पारंपरिक प्रजाति के कड़कनाथ मुर्गे को लेकर सूबे के दावे पर मंजूरी की मुहर लगा दी है. करीब साढ़े छह साल की लंबी जद्दोजहद के बाद झाबुआ के कड़कनाथ मुर्गे के काले मांस के नाम भौगोलिक पहचान (जीआई) का चिह्न पंजीकृत किया गया है. इस निशान के लिए सहकारी सोसायटी कृषक भारती कोऑपरेटिव लिमिटेड (कृभको) के स्थापित संगठन ग्रामीण विकास ट्रस्ट के झाबुआ स्थित केंद्र ने आवेदन किया था. जियोग्राफिकल इंडिकेशन्स रजिस्ट्री की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक 'मांस उत्पाद तथा पोल्ट्री एवं पोल्ट्री मीट की श्रेणी' में किये गये इस आवेदन को 30 जुलाई को मंजूर कर लिया गया है. यानी झाबुआ के कड़कनाथ मुर्गे के काले मांस के नाम जीआई तमगा पंजीकृत हो गया है.  
jhabua-famous-kadaknath-breed-of-chickens-झाबुआ कड़कनाथ मुर्गे को मिला जीआई टैग
           यह जीआई पंजीयन सात फरवरी 2022 तक वैध रहेगा. ग्रामीण विकास ट्रस्ट के क्षेत्रीय कार्यक्रम प्रबंधक महेंद्र सिंह राठौर ने इसकी तसदीक की. उन्होंने बताया, हमारी अर्जी पर झाबुआ के कड़कनाथ मुर्गे के काले मांस के नाम जीआई चिन्ह का पंजीयन हो गया है. हमें इसकी औपचारिक सूचना मिल चुकी है.

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मिलेगी जिले को पहचान 

       झाबुआ मूल के कड़कनाथ मुर्गे को स्थानीय जुबान में कालामासी कहा जाता है. इसकी त्वचा और पंखों से लेकर मांस तक का रंग काला होता है. कड़कनाथ के मांस में दूसरी प्रजातियों के चिकन के मुकाबले चर्बी और कोलेस्ट्रॉल काफी कम होता है. झाबुआवंशी मुर्गे के गोश्त में प्रोटीन की मात्रा अपेक्षाकृत ज्यादा होती है. कड़कनाथ चिकन की मांग इसलिए भी बढ़ती जा रही है, क्योंकि इसमें अलग स्वाद के साथ औषधीय गुण भी होते हैं. कड़कनाथ प्रजाति के जीवित पक्षी, इसके अंडे और इसका मांस दूसरी कुक्कुट प्रजातियों के मुकाबले काफी महंगी दरों पर बिकता है.
       झाबुआ की गैर सरकारी संस्था ने आठ फरवरी 2012 को कड़कनाथ मुर्गे के काले मांस को लेकर जीआई प्रमाणपत्र की अर्जी दी थी. लंबी जद्दोजहद के बाद इस अर्जी पर अंतिम फैसला हो पाता, इससे पहले ही एक निजी कंपनी यह दावा करते करते हुए जीआई तमगे की जंग में कूद गयी थी कि छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में मुर्गे की इस प्रजाति को अनोखे ढंग से पालकर संरक्षित किया जा रहा है. हालांकि, जियोग्राफिकल इंडिकेशन्स रजिस्ट्री ने झाबुआ के कड़कनाथ मुर्गे के काले मांस को लेकर मध्यप्रदेश का दावा मार्च में शुरुआती तौर पर मंजूर कर लिया था और अपनी भौगोलिक उपदर्शन पत्रिका में इस बारे में विज्ञापन भी प्रकाशित किया था. इसके बाद पड़ोसी छत्तीसगढ़ ने इस प्रजाति के लजीज मांस को लेकर जीआई प्रमाणपत्र हासिल करने की जंग में कदम पीछे खींच लिये थे.
कड़कनाथ मुर्गे को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कारोबारी पहचान मिलेगी
जीआई रजिस्ट्रेशन का चिन्ह विशिष्ट भौगोलिक क्षेत्रों में उत्पन्न होने वाले ऐसे उत्पादों को दिया जाता है जो अनूठी खासियत रखते हों. अब जीआई चिन्ह के कारण कड़कनाथ चिकन को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कारोबारी पहचान मिलेगी एवं  इसके निर्यात के रास्ते खुल जायेंगे. इस चिन्ह के कारण झाबुआ के कड़कनाथ चिकन के ग्राहकों को इस मांस की गुणवत्ता का भरोसा मिलेगा. इस मांस के उत्पादकों को नक्कालों के खिलाफ पुख्ता कानूनी संरक्षण भी हासिल होगा.
भोपाल में कड़कनाथ एप लांच किया गया
         चेन्नई जीआई रजिस्ट्रेशन के दफ्तर से खबर मिलते ही भोपाल में एप लांच किया गया। गुरुवार को सहकारिता विभाग की प्रमुख सचिव रेणु पंत झाबुआ पहुंचीं। उन्होंने बताया कि कड़कनाथ मुर्गे के पालन और खरीद-फरोख्त के कारोबार से जुड़ी सहकारी समितियों के लिए मप्र कड़कनाथ मोबाइल एप तैयार किया है। एप में झाबुआ, आलीराजपुर और देवास जिले की कड़कनाथ मुर्गा पालन के लिए काम कर रही चार सहकारी समितियों सहित 20 से ज्यादा संस्थाओं की जानकारी दी गई है।

      विभागीय राज्यमंत्री विश्वास सारंग ने इसे लोकार्पित करते हुए बताया कि एप समितियों को एक ऐसा प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराएगा, जो उन्हें आधुनिक बाजार की सुविधा देगा। एप के मेन्यू में क्लिक करने पर समिति का ईमेल, फोन नंबर और उत्पादन की जानकारी मिल जाएगी। इसमें मांग और पूछताछ का विकल्प भी दिया गया है। एप के जरिए कोई भी व्यक्ति समितियों के पास उपलब्ध कड़कनाथ मुर्गा खरीदने के लिए ऑनलाइन मांग कर सकता है। भविष्य में ऑनलाइन ऑर्डर के साथ होम डिलीवरी की भी सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। एप्प को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।

kadaknath-breed-android-app-download-jhabua-famous-kadaknath-breed-of-chickens-झाबुआ कड़कनाथ मुर्गे को मिला जीआई टैग

झाबुआ का “गर्व” और “काला सोना” भी कहा जाता है
जनजातीय लोगों में इस मुर्गे को ज्यादातर “बलि” के लिये पाला जाता है, दीपावली के बाद, त्योहार आदि पर देवी को बलि चढाने के लिये इसका उपयोग किया जाता है । इसकी खासियत यह है कि इसका खून और माँस काले रंग का होता है । लेकिन यह मुर्गा दरअसल अपने स्वाद और औषधीय गुणों के लिये अधिक मशहूर है । 
         कड़कनाथ भारत का एकमात्र काले माँस वाला चिकन है । झाबुआ में इसका प्रचलित नाम है “कालामासी”। आदिवासियों, भील, भिलालों में इसके लोकप्रिय होने का मुख्य कारण है इसका स्थानीय परिस्थितियों से घुल-मिल जाना, उसकी “मीट” क्वालिटी और वजन । शोध के अनुसार इसके मीट में सफ़ेद चिकन के मुकाबले “कोलेस्ट्रॊल” का स्तर कम होता है, “अमीनो एसिड” का स्तर ज्यादा होता है । यह कामोत्तेजक होता है और औषधि के रूप में “नर्वस डिसऑर्डर” को ठीक करने में काम आता है । कड़कनाथ के रक्त में कई बीमारियों को ठीक करने के गुण पाये गये हैं, लेकिन आमतौर पर यह पुरुष हारमोन को बढावा देने वाला और उत्तेजक माना जाता है ।
         इस प्रजाति के घटने का एक कारण यह भी है कि आदिवासी लोग इसे व्यावसायिक तौर पर नहीं पालते, बल्कि अपने स्वतः के उपयोग हेतु पाँच से तीस की संख्या के बीच घर के पिछवाडे में पाल लेते हैं । सरकारी तौर पर इसके पोल्ट्री फ़ॉर्म तैयार करने के लिये कोई विशेष सुविधा नहीं दी जा रही है, इसलिये इनके संरक्षण की समस्या आ रही है । 
ये है कड़कनाथ मुर्गे के गुण 
  • प्रोटीन और लौह तत्व की मात्रा – 25.7%, मुर्गे का बीस हफ़्ते की उम्र में वजन – 920 ग्राम
  • मुर्गे की “सेक्सुअल मेच्युरिटी” – 180 दिन की उम्र में मुर्गी का वार्षिक अंडा उत्पादन – 105 से 110 (मतलब हर तीन दिन में एक अंडा) । 
  • कड़कनाथ के मांस में 25 से 27 प्रतिशत प्रोटीन होता है, जबकि अन्य मुर्गों में केवल 16 से 17 प्रतिशत ही प्रोटीन पाया जाता है. इसके अलावा, कड़कनाथ में लगभग एक प्रतिशत चर्बी होती है, जबकि अन्य मुर्गों में 5 से 6 प्रतिशत चर्बी रहती है.
  •  कड़कनाथ 500 रुपए से लेकर 1500 रुपए किलो तक बिकता है.  वही एक अंडे की कीमत 20 से 50 रूपए तक होती है.
  • कड़कनाथ के एक किलोग्राम के मांस में कॉलेस्ट्राल की मात्रा करीब 184 एमजी होती है, जबकि अन्य मुर्गों में करीब 214 एमजी प्रति किलोग्राम होती है. 
  • इसमें प्रोटीन की मात्रा अधिक और फैट की मात्रा न के बराबर पाई जाती है. यह विटामिन-बी-1, बी-2, बी-6, बी-12, सी, ई, नियासिन, कैल्शियम, फास्फोरस और हीमोग्लोबिन से भरपूर होता है. यह अन्य मुर्गो की तुलना में लाभकारी है. इसका रक्त, हड्डियां और सम्पूर्ण शरीर काला होता है.
jhabua-famous-kadaknath-breed-of-chickens-झाबुआ कड़कनाथ मुर्गे को मिला जीआई टैग



सजा भोले नाथ का दरबार, भक्तो ने दुध, दही से अभिषेक कर चढाये बिलपत्र

मंदिरों में गूंजे ऊॅं नमः शिवाय के स्वर 

झाबुआ। श्रावण के पहले सोमवार मे शहर के भोले नाथ के मंदिरो की साज सज्जा अलसुबह से ही शुरू कर दी गयी। सोमवार को सुबह से ही भक्तो के द्वारा भगवान भोले नाथ का अभिषेक किया गया। मंदिरो में श्रावण के पहले दिन से विशेष साज सज्जा का आयोजन किया गया। वही शहर के सभी भोलेनाथ के मंदिरो पर जगमग लाईटे लगाई गई।   
शहर में पहले सोमवार को सभी भगवान भोलेनाथ के मंदिरो पर दर्शनो के लिये भक्तो की सुबह से ही लंबी कतार लगी हुई दिखी। वही मंदिरो में भक्तो के द्वारा भगवान भोलेनाथ का अभिषेक दुध, दही , मक्खन एवं बिल पत्र चढाकर किया गया। वही भोलेनाथ से भक्तो ने अपनी मनोकामना के लिये प्रार्थना की। शहर के सिद्धेश्वर कॉलोनी स्थित भोलेनाथ महादेव मंदिर पर विशेष साज सज्जा एवं रंग बिरंगी लाईटो से मंदिर को सजाया गया। वही भोलेनाथ के शिवलिंग को चुनरी रंग के साफे के साथ पगडी बांधकर सुशोभित किया गया। मंदिरो में विशेष फुलो से सजाया गया। 
        श्रावण मास के प्रारंभ होते ही भगवान भोलेनाथ शिवशंकर की आराधनाएं आरंभ हो गई। श्रावण माह के चलते विभिन्न संगठनो द्वारा कावड यात्रा का आयोजन भी किया जाता है। विश्व हिन्दू परिषद्, शिवगंगा, सिद्धेश्वर महोदव समिति सहित अन्य संगठन देवझिरी से मॉ नर्मदा का पानी भरकर शहर के शिवालयो में अभिषेक करते है। विश्व हिन्दू परिषद् द्वारा कावड यात्रा के बाद धर्मसभा का आयोजन भी किया जाता है। शिवगंगा द्वारा पिछले कई वर्षो से कावड यात्रा के साथ ही बौद्धिक सत्र किया जाता है। शिवम कावड यात्री पिछले तीन दशक से कोटेश्वर से झाबुआ तक पैदल कावड यात्रा निकालते आ रहे है। इस वर्ष भी वे 8 अगस्त को कोटेश्वर के लिए रवाना होंगे। 
जगह जगह होगी आराधनाएं
श्रावण मास के शुरू होते ही भगवान भोलेनाथ के मंदिरो में भक्तो का तांता लगा हुआ है। डीआरपी लाईन स्थित गोपेश्वर महादेव मंदिर में भी पूरे श्रावण के महिने सहित सोमवार के दिन श्रृद्धालुआ की भीड लगी। सुबह से ही श्रृद्धालुओ के द्वारा पुजा अर्चना करने की भीड उमड पडी। वही सायंकाल मंदिर पर विशेष महाआरती का आयोजन कर महाप्रसादी वितरीत की जायेगी।
       सिद्धेश्वर कॉलोनी स्थित सिद्धेश्वर महादेव मंदिर पर भी शिवभक्त एकत्रित होकर भगवान भोलेनाथ की आराधना करेंगे। मंदिर को आकर्षक रूप से सजाया गया। सोमवार की शाम को यहां भोलेनाथ का आकर्षक श्रृंगार भी किया गया। श्रृंद्धालुओ द्वारा फरियाली खिचडी भी वितरीत की जाएगी। 
      छोटे तालाब स्थित मनकामेश्वर महादेव मंदिर को विद्युत रोशनी से सजाया गया है। यहां सोमवार की सुबह शिवभक्त भगवान भोले की आराधना मे लीन रहे। शाम को भोले बाबा का आकर्षक श्रृंगार किया गया। इस मंदिर में 14 अगस्त से लेकर 20 अगस्त तक प्रतिदिन नवग्रह की कथा आयोजित की जायेगी। 
        विवेकानंद कॉलोनी स्थित उमापति महादेव मंदिर मे भी भोलेनाथ के दर्शन के लिए श्रद्धालु कतारबद्ध दिखाई दिये। यहां भी प्रतिदिन महाआरती के साथ महाआरती का आयोजन किया जायेगा।
        कॉलेज मार्ग स्थित नजर बाग के सोमेश्वर शिव मंदिर व रामद्वारा स्थित बडकेश्वर महादेव मंदिर पर भी श्रावण मास के तहत प्रतिदिन भगवान का श्रृंगार किया जायेगा। साथ ही सोमवार को विशेष झांकी भी सजाई गयी। 
उपवास एवं व्रत रखे जा रहे 
इस दौरान श्रृद्धालुओं द्वारा उपवास एवं व्रत भी रखे जा रहे है। क्षमतानुसार किसी श्रद्धालु द्वारा पूरे श्रावण माह में तो किसी भक्त द्वारा प्रत्येक सोमवार को व्रत एवं उपवास रखकर फरियाली ग्रहण किया जायेगा। इसके साथ ही घरों में प्रतिदिन भगवान शिवजी की पूजा-अर्चना एवं आराधना की जायेगी साथ ही जाप किए जा जायेगे। 
पुष्प एवं धतुरे से हो रहीं पूजन
भगवान शिवजी की मंदिरों में तरह-तरह के पुष्पों एवं शिवजी को प्रिय धतुरे तथा बिल्व पत्र से पूजन की जा रहीं है। इसके साथ ही जल, दूध से अभिषेक किया जा रहा है एवं पूजन सामग्री में अबीर, गुलाब, चंदन का उपयोग किया जा रहा है। भाग एवं मेवे की प्रसाद भी भोले भंडारीजी को चढ़ाई जा रहीं है। प्रत्येक सोमवार को मंदिरों में शिवजी के जयकारे गूंजायमान होंगे तथा रात्रि में झांकी एवं आकर्षक विद्युत सज्जा भी मंदिरों पर दिखाई देंगी।
अमरनाथ एवं महांकाल मंदिर के दर्शन के लिए जा रहे भक्तजन
इन दिनों में भक्तजन उज्जैन स्थित महांकाल मंदिर, अमरनाथ यात्रा एवं अन्य शिवजी के तीर्थ स्थलों पर भी दर्शन के लिए जा रहे है एवं वहां दर्शन एवं पूजन कर मनोकामनाएं मांग रहे है। इसके साथ ही शहर से सटे देवझिरी तीर्थ स्थल पर भी प्रत्येक सोमवार को श्रृद्धालुओं का मेला लगेगा। प्रत्येक सोमवार को श्रृद्धालुओं की मंदिर में अत्यधिक भीड़ लगी रहेगी। यहां भक्तों द्वारा पवित्र कुंड में स्नान करने के बाद मंदिर में भगवान के दर्शन कर नारियल बदारा जायेगे। इसके अलावा झाबुआ-मेघनगर मार्ग पर स्थित श्री पारदेश्वर एवं श्री दूधेश्वरमहादेव मंदिर में भी दर्शन के लिए भक्तों का तांता लग रहा है एवं विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम श्रावण माह के दौरान किये जायेगे।
कावड़ यात्राओं का होगा दौर 
श्रावण माह में पूरे जिलेभर में कावड़ यात्रा भी निकलना शुरू हो गयी है। जिसमें हजारों की संख्या में कावड़ियों ने शामिल होकर जयघोष करते हुए पूरे शहर में भ्रमण करेंगे। पश्चात् विशाल धर्मसभा का भी आयोजन होगा। आगामी दिनों में शिवगंगा एवं शिवम कावड़ यात्रा भी कावड़ यात्रा निकाली जाएगी, जिससे पूरा जिला धर्ममय होगा।

श्रावण मास श्रावण सोमवार- shrawan somvar jhabua

श्रावण मास श्रावण सोमवार- shrawan somvar jhabua

श्रावण मास श्रावण सोमवार- shrawan somvar jhabua

श्रावण मास श्रावण सोमवार- shrawan somvar jhabua

श्रावण मास श्रावण सोमवार- shrawan somvar jhabua

हाथीपावा पहाड़ी पर किया पौधारोपण 

झाबुआ। बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओं के साथ पर्यावरण सरंक्षण का संदेश को लेकर 5 हजार किलोमीटर की लंबी साइकिल यात्रा पर निकली हरियाणा की सुनिता चौकन ने आज झाबुआ में शहीद चंद्रशेखर आज़ाद की जयंति पर उन्हे याद कर पौधा रोपण किया। इस दौरान सुनिता का शहर में विभिन्न सामाजिक संगठनों ने भव्य स्वागत किया। 15 जुलाई को गुजरात के सोमनाथ से शुरू हुई यह यात्रा 40 दिनों के सफर के दौरान 5 राज्यों से होते हुए नेपाल में समाप्त होगी। सुनिता प्रतिदिन सुबह 5 बजे अपनी यात्रा शुरू करती है। प्रतिदिन करीब 100 किलोमीटर की दूरी तय करने के बाद रात्री विश्राम होता है। पूरी यात्रा में 5 हजार किलोमीटर की दूरी तय होगी जो सिक्किम से होते हुए नेपाल तक जाएगी। सुनिता को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं अभियान में अपनी भूमिका के लिये साल 2016 में तत्कालिन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी नारी शक्ति सम्मान से और 2017 में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर हरियाणा हिरो सम्मान से सम्मानित कर चुके है। यात्रा को लेकर सुनिता के कई अनुभव भी है जो यादगार है। साथ ही अपनी यात्रा के दौरान बेटियों के प्रति सुरक्षा का भाव भी महसूस हुआ।
             सुनितासिंह चौकेन ने सोमवार सुबह 8 बजे स्थानीय विजय स्तंभ तिराहे से अपनी साईकिल से शहर के मुख्य बाजारों में भ्रमण किया। इस बीच उनका जगह-जगह विभिन्न सामाजिक संस्थाओं एवं अनेक समाजजनों द्वारा स्वागत करते हुए कहीं पुष्पमालाएं पहनाई गई तो कहीं पुष्प वर्षा कर सुश्री चौकेन का शहर प्रवेश कर स्वागत हुआ। आजाद चौक पहुंचने पर यहां सुश्री चौकेन ने शहीद चन्द्रशेखर आजाद की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। यहां उनका पूरे शहर की ओर से विभिन्न सामाजिक एवं धार्मिक संस्थाओं द्वारा नागरिक अभिनंदन किया गया। यहां से सुश्री चौकेन ने हाथीपावा पहाड़ी पर पहुंचकर कलेक्टर आशीष सक्सेना के साथ पौधारोपण भी किया। सुश्री सुनितासिंह के समस्त कार्यक्रमों में रोटरी क्लब के पदाधिकारी एवं सदस्य पूरे समय उनके साथ रहे।


        अपने निर्धारित कार्यक्रम के तहत सुश्री सुनितासिंह चौकेन ने स्थानीय विजय स्तंभ तिराहे से अपनी साईकिल यात्रा प्रारंभ की। यहां पर सीधी समाज की ओर से सुभाष गिधवानी, लक्की गिरधानी, अशोक सावलानी, गायत्री सावलानी, श्याम सावलानी, पंजाबी समाज से सुभाष छाबड़ा के साथ इंदरसेन संघवी एवं इन्हरव्हील क्लब की ज्योति रांका के नेतृत्व में क्लब की अन्य महिलाओं द्वारा सुश्री चौकेन का पुष्प गुच्छ भेंटकर स्वागत किया गया। यहां से यात्रा ढोल और ताषों के साथ आगे बढ़ी। जिला चिकित्सालय मार्ग से बस स्टेंड स्थित फव्वारा चौक पहुंचने पर यहां जिला कराते एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष उमंग सक्सेना, सचिव सूर्यप्रतापसिंह के साथ अन्य पदाधिकारियों एवं कराते के खिलाड़ियों ने मिलकर भारत की बेटी का स्वागत करते हुए बालिका खिलाड़ियों ने उन्हें पुष्पमालाएं पहनाई एवं हाथ मिलाकर अभिवादन किया। पंतजलि एवं विष्व हिन्दू परिषद् की ओर से हिमांशु त्रिवेदी, रोशन सावलानी ने स्वागत किया। यात्रा ने मेन बाजार से थांदला गेट पहुंचने पर यहां साज रंग की ओर से, बाबेल चौराहा के बाद आजाद चौक पर पहुंचने पर यहां सर्वप्रथम सुश्री सुनितासिंह ने आजाद की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। 
भव्य सम्मान किया गया 
अलग-अलग सामाजिक एवं धार्मिक संस्थाओं द्वारा सुश्री चौकेन का सम्मान किया गया। जिसमें रोटरी क्लब की ओर से प्रकाश रांका, प्रदीप रूनवाल, अमितसिंह जादौन (यादव), हिमांशु त्रिवेदी, अर्पित संघवी, कार्तिक नीमा, यशिल शाह, मनोज पाठक, रोटरेक्ट क्लब से दौलत गोलानी, इन्हरव्हील क्लब मेन, जिला आजाद साहित्य परिषद, सकल व्यापारी संघ, आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट से राजेश नागर, सुधीर कुशवाह, श्रीमती वंदना व्यास, जिला पंतजलि योग समिति से सुश्री रूक्मणी वर्मा, भारत स्काउट एवं गाईड से जयेन्द्र बैरागी, शशि त्रिवेदी, प्रदीप पंड्या एवं बृजकिशोर सिकरवार एवं स्काउट के छात्र-छात्राओं, ओटला ग्रुप, साज रंग, परहित जन सेवा संस्था, गायत्री परिवार से पं. घनष्याम बैरागी एवं अन्य परिजनों, नगरपालिका की ओर से पपीश पानेरी, राजवाड़ा मित्र मंडल की ओर से ओमप्रकाश शर्मा, श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना की ओर से रविराजसिंह राठौर, जिला बजरंग व्यायाम शाला से सुशील वाजपेयी एवं उनकी टीम, संकल्प ग्रुप की ओर से श्रीमती भारती सोनी, मुकेश जैन ‘नाकोड़ा’, अमित मेहता, निखिल भंडारी, अरविन्द लोढ़ा, जिला कर सलाहकार परिषद की ओर से प्रमोद भंडारी, सर्व ब्राह्मण समाज की ओर से अष्विन शर्मा, पपीश पानेरी, विशाल शर्मा, विरेन्द्रसिंह ठाकुर, हर्ष भट्ट, पुलिस विभाग, नीमा समाज, नर्मदा-झाबुआ ग्रामीण बैंक सहित शहर की अन्य सामाजिक-धार्मिक संस्थाओं द्वारा मिलकर सुश्री चौकेन का पुष्प गुच्छ भेंटकर एवं शाल ओढ़ाकर तथा श्रीफल भेंटकर भावभरा सम्मान किया गया। 
मेरी यात्रा का उद्देष्य बेटियों की सुरक्षा और पर्यावरण को बढ़ावा देना
आजाद चौक पर आयोजित सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए हरियाणा की ब्रांड एम्बेसेडर एवं नारी शक्ति अवार्ड से सम्मानित सुश्री चौकेन ने अपने उद्बोधन में कहा कि वह हरियाणा राज्य के रेवाड़ी क्षेत्र की रहने वाली है और उन्होंने यह यात्रा इसलिए शुरू की है, ताकि पूरे देश में बेटियों की सुरक्षा के लिए शासन-प्रशासन के साथ हर कोई सजग हो सके, हम बेटियों का सम्मान करे, उन्हें पढ़ाएं और निरंतर प्रगति की ओर से अग्रसर करे। साथ ही पर्यावरण को लेकर कहा कि मैं अपनी भारत यात्रा के दौरान जिन स्थानों से होकर निकल रहीं हू, वहां आवष्यक रूप से पौधारोपण कर हरियाली को बढ़ावा देना एवं उसके प्रति लोगों में जागृति लाना भी मेरा मकसद है। इस दौरान सुनितासिंह के साथ रोटरी मंडल 3040 इंदौर के प्रेसिडेंट आशीत राजकुटिया एवं वूमन रोटरी चेयरमेन श्रीमती अर्चना राजकोटिया एवं हरियाणा रेवाड़ी से चीफ कोर्डिनेटर अरूण गुप्ता भी विशेष रूप से उपस्थित थे। 
हाथीपावा पर किया पौधारोपण 
यहां से सुश्री चौकेन नेहरू मार्ग, राजवाड़ा चौक, कैलाश मार्ग, मारूति नगर होते हुए हाथीपावा पहाड़ी  पर अपनी साईकिल से पहुंची। जहां कलेक्टर आशीष सक्सेना के साथ सुश्री चौकेन ने स्वयं श्रमदान करते हुए गड्ढ़ा खोदकर पौधारोपण किया एवं भारत माता तथा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं के घोष लगाए गए। इस अवसर पर रोटरी क्लब से यशवंत भंडारी, उमंग सक्सेना, जयेन्द्र बैरागी द्वारा सुश्री चौकेन को अभिनंदन-पत्र प्रदान किया गया। इसके पश्चात् सुश्री चौकेन ने साईकिल से अपनी अगली यात्रा के लिए झाबुआ से प्रस्थान किया। 

लाइव वीडियो 
लाइव फोटो 


आजाद अमर रहे .... अमर रहे .... के जयघोष लगाए गए 

झाबुआ। देश के वीर सपूत, महान क्रांतिकारी शहीद चन्द्रशेखर आजाद की 112वीं जयंती स्थानीय शासकीय शहीद चन्द्रशेखर आजाद स्नातकोत्तर महाविद्यालय में जनभागीदारी समिति एवं कॉलेज प्रशासन द्वारा मिलकर मनाई गई। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में कॉलेज के जनभागीदारी समिति अध्यक्ष यशवंत भंडारी एवं सदस्य श्रीमती अर्चना राठौर उपस्थित थी। अध्यक्षता महाविद्यालय प्राचार्य डॉ. एचआर अनिजवाल ने की। इस अवसर विशेष रूप से संस्था के वरिष्ठ प्राध्यापकगण उपस्थित थे।  
कार्यक्रम के प्रारंभ में सभी अतिथियों द्वारा महाविद्यालय परिसर में स्थापित आजाद के चित्र पर धूप-दीप कर माल्यार्पण किया गया। इसके पश्चात् उपस्थित सभी प्रध्यापकगणों के साथ छात्र-छात्राओं ने भी आजाद की प्रतिमा पर माल्यार्पण करते हुए उन्हें नमन किया तथा उनके आदर्शो पर चलने का संकल्प लिया। इसके पश्चात् सामूहिक रूप से चन्द्रषेखर आजाद अमर रहे .... अमर रहे .... के जयघोष लगाए गए। 
        कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि जनभागीदारी समिति अध्यक्ष श्री भंडारी ने कहा कि चन्द्रशेखर आजाद का जन्म झाबुआ के समीपस्थ आलीराजपुर जिले के चन्द्रशेखर आजाद नगर (भाबरा) में हुआ। उनका देश की आजादी में विशेष सहयोग रहा। आप युवा छात्र-छात्राओं को आजाद से प्रेरणा लेकर उनके बताए मार्गों पर चलने की आवष्यकता है। आजाद हमेशा आदर्श पुरूष रहे और उन्होंने अंतिम सांस तक देश की आजादी के लिए निरंतर लड़ाई लड़ी। कार्यक्रम को जनभागीदारी समिति सदस्य श्रीमती अर्चना राठौर एवं प्राचार्य श्री अनिजवाल ने भी संबोधित करते हुए आज की युवा पीढ़ी को आजाद के जीवन से प्रेरणा लेने की बात कहीं।
ये थे उपस्थित 
इस अवसर पर पीजी कॉलेज की वरिष्ठ प्राध्यापिका डॉ. गीता दुबे, डॉ. सुरेशचन्द्र जैन, डॉ. रविन्द्रसिंह, डॉ. जेसी सिन्हा, प्रो. केसी कोठारी, श्रीकांत शाह, वीरसिंह कटारा, अंजना मुवेल, मंजुला गिरवाल सहित अन्य प्राध्यापकगण तथा बड़ी संख्या में महाविद्यालयीन छात्र-छात्राएं उपस्थित थी। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ प्राध्यापक एवं जनभागीदारी समिति प्रभारी डॉ. गोपाल भूरिया ने किया। 

शहीद चन्द्रशेखर आजाद की 112वी जयंती पर विभिन्न संगठनो ने पुष्पांजलि अर्पित की -112th shaid chandra shekhar azad jyanti 2018

सर्व ब्राहम्ण समाज ने शहीद चन्द्रशेखर आजाद की 112वी जयंति पर आजाद की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की 

झाबुआ। सर्व ब्राहम्ण समाज के पदाधिकारीयों एव सदस्यों ने प्रातः 09ः00 बजे स्थानीय आजाद चौक स्थित शहीद चंन्द्रशेखर आजाद की प्रतिमा पर माल्यापर्ण एवं दीप प्रज्जवलित कर उन्हें भावभीनी पुष्पांजलि अर्पित की । ब्राहम्ण समाज के जननायक कांतिकारी अमर शहीद चन्द्रशेखर आजाद का जन्म 24 जुलाई  1906 को ब्राहमण परिवार में हुआ था, उनके पिता  श्री  सीताराम तिवारी एवं माता जगरानी देवी था, आजाद का प्रारंभिक जीवन आदिवासी बाहुल्य क्षेत्रों आदिवासीयों के साथ में व्यतित हुआ था । शहीद चंन्द्रशेखर आजाद ने देश की आजादी के लिये आजाद ने अपने प्राणों का बलीदान देकर ब्राहम्ण समाज को गौरवान्वित किया ।
            शहीद चन्द्रशेखर आजाद अपने नाम के समान ही सदेव अंग्रेजों के हाथों में नहीं आये और आजाद रहकर ही अपने प्राणों का बलिदान दिया । इस अवसर पर ब्राहम्ण समाज के संरक्षक डॉ के.के.त्रिवेदी समाज के पदाधिकारी हर्ष भट्ट, आचार्य नामदेव, अष्विनी शर्मा,सुनिल शर्मा, भागवत शुक्ला, जनार्दन शुक्ला,पपीश पानेरी, आशीश पाण्डे,  राजेश नागर, ओमप्रकाश शर्मा, महिला पदाधिकारी, वीणा भार्गव,रेखा शर्मा, विजीया लक्ष्मी शुक्ला, लीला त्रिवेदी, मधु जोशी, ज्योति जोशी ,ज्योति त्रिवेदी,शशिकला त्रिवेदी आदि भारी संख्या में सर्व ब्राहम्ण समाज के लोग उपस्थित रहें । 
समाज की महिला ईकाई द्वारा इस अवसर पर रातितलाई स्कुल में जाकर शहीद चन्द्रशेखर आजाद की जीवन परिचय एवं कविता पाठ प्रतियोगीता करवाई, तथा प्रतिभाशाली छात्रों को पुरूस्कृत कर स्वच्छता का संदेश दिया ।  


सर्व ब्राहम्ण समाज ने शहीद चन्द्रशेखर आजाद की 112वी जयंति पर आजाद की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की- 112th shaid chandra shekhar azad jyanti 2018

आज सुबह करेगी मुख्य बाजारों में साईकिल से भ्रमण, हाथीपावा पहाड़ी पर किया जाएगा पौधारोपण

झाबुआ। भारत की बेटी, भारत का स्वाभिमान, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का झंडा लेकर पूरे देश की यात्रा कर रहीं सुश्री सुनिता सिंह चौकेन का रविवार शाम करीब 5.30 गुजरात के दाहौद से मप्र की सीमा झाबुआ में आगमन हुआ। मप्र की सीमा में प्रवेश पर ही पिटोल में उनकी आगवानी रोटरी क्लब के पूर्व अध्यक्ष एवं युवा अभिभाषक उमंग सक्सेना द्वारा करते हुए उनका स्वागत किया गया। पिटोल में जगह-जगह स्वागत के बाद फुलमाल तिराहे होते हुए मेघनगर नाके पर पहुंचने पर रोटरी क्लब एवं रोटरेक्ट क्लब ने मिलकर सुश्री चौकेन का पुष्पामालाओं से स्वागत किया। यहां कुछ देर रूकने के बाद सुश्री चौकेन कॉलेज मार्ग स्थित सर्किट हाऊस विश्राम के लिए रवाना हुइ्र्र।
    ज्ञातव्य है कि सुश्री सुनितासिंह चौकेन बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं को ध्वज लेकर एवरेस्ट पर चढ़ने वाली प्रथम महिला है। हरियाणा की रहने वाली सुश्री चौकेन को हरियाणा का ब्रांड एम्बेसेडर बनाए जाने के साथ ही देश के महामहिम राष्ट्रपति एवं प्रधानमंत्री द्वारा नारी शक्ति अवार्ड से सम्मानित किया गया है। सुश्री चौकेन प्रतिदिन 180 किमी का सफर साईकिल से तय कर रहीं है। उनका उद्देष्य भारत में बेटियों के महत्व के प्रति देशवासियों में जागृति लाना है। बेटियों के अधिकारों और उनकी षिक्षा के लिए यात्रा कर रहीं सुश्री चौकेन का रविवार को दाहौद की ओर से फुलमाल तिराहे से शहर में प्रवेष हुआ। 
मेघनगर नाके पर किया भव्य स्वागत
मेघनगर नाके पर रोटरी क्लब की ओर से वरिष्ठ रोटेरियन जयेन्द्र बैरागी, श्रीमती अर्चना राठौर, वरिष्ठ समातजसेवी अशोक शर्मा, सुनील संघवी, मनोज पाठक, अध्यक्ष अमितसिंह जादौन (यादव), सचिव हिमांशु त्रिवेदी, अन्य पदाधिकारियों में अर्पित संघवी, कार्तिक नीमा, यशिल शाह, रोटरेक्ट क्लब से उपाध्यक्ष दौलत गोलानी, सचिव राकेश पोतदार, भारत स्काउट गाईड से प्रदीप पंड्या, बृजकिषोर सिकरवार आदि द्वारा स्वागत किया गया। यहां सुश्री चौकेन द्वारा कुछ देर ठहरने एवं स्वल्पाहार ग्रहण करने के बाद यहां से सर्किट हाऊस के लिए रवाना हुई। रात्रि विश्राम यहीं किया जाएगा। 
आज निकलेगी शहर भ्रमण पर
 सोमवार को सुबह करीब 8 बजे स्थानीय विजय स्तंभ तिराहे से वे झाबुआ भ्रमण के लिए बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं का झंडा लेकर साईकिल से निकलेगी। उनके साथ रोटरी, रोटरेक्ट क्लब के पदाधिकारी-सदस्य भी वाहन से साथ चलेंगे। यहां से जिला चिकित्सालय मार्ग, बस स्टेंड स्थित फव्वारा चौक, मेन बाजार, थांदला गेट, बाबेल चौराहा, आजाद चौक पहुंचने पर यहां सभी सामाजिक संस्थाओं द्वारा मिलकर उनका भव्य नागरिक अभिनंदन किया जाएगा। यहां शहीद चन्द्रशेखर आजाद की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद आगे राजवाड़ा चौक, हुड़ा क्षेत्र होते हुए हाथीपावा पहाड़ी पहुंचने पर यहां कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक की उपस्थिति में पौधारोपण किया जाएगा। इस बीच जगह-जगह मार्गों में उनका कहीं पुष्पवर्षा कर तो कहीं पुष्पमाला पहनाकर भव्य स्वागत होगा। इसके पश्चात् सुश्री चौकने अपने अगले गंतव्य स्थल की ओर यहां से रवाना होगी। 

भारत की बेटी सुश्री सुनितासिंह चौकेन की आगवानी कर रोटरी क्लब ने किया भव्य स्वागत, सुबह करेगी मुख्य बाजारों में साईकिल से भ्रमण



समर्थन में उतरी जिला पंचायत अध्यक्ष सुश्री कलावती भूरिया

झाबुआ। एकलव्य आदर्श विद्यालय मोरडुंडीया में व्याप्त अव्यवस्था के खिलाफ सोमवार को छात्र/छात्राओं ने मोर्चा खोल दिया। छात्रों, शिक्षकों और कर्मचारियों के लामबंद कक्षाओं में पठन-पाठन से लेकर कार्यालय तक के काम ठप हो गए। छात्रावास की समस्याओं को लेकर छात्र/छात्राओं द्वारा भी धरना प्रदर्शन किया। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष सुश्री कलावती भूरिया ने छात्रावास पहुंचकर छात्र/छात्राओं के साथ बैठक कर समस्याओं को सुना व छात्र/छात्राओ की मांग का समर्थन किया।

        कलावती भूरिया ने प्रदेश शासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में जब से शिवराजसिह की सरकार काबिज हुई हैं तब से शिक्षा का स्तर दिनों दिन बिगडता जा रहा हैं। बच्चे सुविधाओं के अभाव में अपनी पढ़ाई  पुरी कर रहे हैं, शिक्षा एवं छात्रावास के नाम पर शासन से जो राशि आती हैं, वों भ्रष्टाचार की भेट चढ जाती है। एक तरफ मुख्यमंत्री अपने आप को छात्र/छात्राओं को भांजे भांजीया बताते हुए थकते नहीं किन्तु हकीकत कुछ और हैं, इसका एक उदाहरण झाबुआ के ग्राम मोरडुडिंया में स्थित एकलव्य आदर्श विद्यालय छात्र/छात्राओं द्वारा छात्रावास की दुर्दशा एवं विद्यालय भवन के अधुरें पडें कार्य को लेकर धरना प्रदर्शन किया। 
छात्र/छात्राओं ने सुश्री भूरिया को बताया कि शासन प्रशासन के द्वारा हमारी कोई भी सुनवाई नहीं की जाती हैं, इसी माह में छात्रावास में बारह फीट का अजगर निकला था, जिस कारण छात्र/छात्राओं में छात्रावास की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर प्रशनचिन्ह खडा हो गया है। बार-बार शिकायत करने पर भी न तो छात्रावास की वॅाल बाउण्ड्री बन रही हैं,और विद्यालय का भवन भी अधुरा पडा हुआ हैं और न ही छात्र/छात्राओं को कोई विशेष सुविधा दी जा रही है। सुश्री भूरिया ने छात्र/छात्राओं की मांगों को लेकर कलेक्टर महोदय को तत्काल ही बाउण्ड्री वाल व अन्य समस्याओं का त्वरित निराकरण करने के लिये कहा हैं, और यह भी कहां कि किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना घटित होती हैं तो इसकी सम्पूर्ण जवाबदेही जिला प्रशासन एवं संबंधित विभाग की होगी । 



झाबुआ। मध्य प्रदेश के हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी में कक्षा 9वीं से 12वीं तक अध्ययनरत छात्र-छात्राओं में मध्य प्रदेश में पर्यटन के प्रति जागरूकता लाने उनकी पर्यटन रूचि में मध्य प्रदेश के स्थानों के संदर्भ में कौतुहल उत्पन्न हो, के उद्देश्य से किव्ज़ प्रतियोगिता को आयोजित करने जा रहा है ताकि वे अभिप्रेत हो और मध्यप्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों को अपने पर्यटन हेतु चयन में प्राथमिकता दें तथा अपने परिवार को भी प्रेरित करें। मध्य प्रदेश पर्यटन किव्ज़  प्रतियोगिता म.प्र. के समस्त 51 जिलों में एक साथ एक ही तिथि में 31 जुलाई 2018 को एक समय में आयोजित की जा रही है। इसके लिए 31 जुलाई 2018 को प्रथम चरण में प्रातः 9 बजे से 12.00 बजे तक तथा द्वितीय चरण अपरान्ह 2.30 बजे से 5.30 बजे तक सुनिश्चित किया गया है। प्रस्तावित समय अनुसार पंजीयन कार्य प्रातः 9 बजे से 10.00 बजे तक जिला स्तर लिखित परीक्षा प्रथम चरण प्रातः 10.00 बजे से 12.00 बजे तक भोजन तथा मूल्यांकन दोपहर 12.00 बजे से 2.30 बजे तक,किव्ज़  प्रतियोगिता आयोजन (मल्टीमीडिया) दोपहर 2.30 बजे से 4.30 बजे तक तथा पुरस्कार वितरण समय 4.30 से 5.30 तक किया जायेगा।   
MP-tourism-quiz-competition-2018-मध्यप्रदेश पर्यटन विभाग द्वारा Quiz प्रतियोगिता 31 जुलाई को                  मध्यप्रदेश पर्यटन किव्ज़  प्रतियोगिता 2018 दो स्तरों पर संपादित होगी प्रथम चरण में जिला स्तर पर तथा द्वितीय चरण में राज्य स्तर पर आयोजित की जायेगी। प्रथम चरण जिला स्तर पर 31 जुलाई 2018 को अयोजित होगा इस हेतु जिला प्रशासन प्रमुख कलेक्टर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत एवं जिला स्तर पर पर्यटन हेतु प्रमोशन, संबर्धन हेतु गठित परिषद (डी.टी.पी.सी.) डिस्ट्रिक्ट टूरिज्म प्रमोशन काउंसिल जिला शिक्षा अधिकारी, जिला कलेक्टर द्वारा नामांकित नोडल अधिकारी एवं शिक्षा विभाग से एक किव्ज़ मास्टर की एक समिति का गठन किया जायेगा। जिनके सहयोग से एवं समन्वय से यह प्रतियोगिता संपन्न कराई जायेगी। द्वितीय चरण जिला स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त टीम या दल को राज्य स्तर पर आमंत्रित कर राज्य स्तरीय आयोजन 29 अगस्त 2018 को संपादित होगा। यह आयोजन मध्यप्रदेश पर्यटन बोर्ड के मार्गदर्शन तथा मध्यप्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम के संयोजन में संपादित होगा। 
                  प्रतियोगिता में विद्यालय प्राचार्य कार्यक्रम अधिकारी के अधिकारिक पत्र के अनुसार कक्षा 9वीं से 12वीं हाईस्कूल, हायर सकेण्डरी के अध्ययनरत तीन श्रेष्ठ विद्यार्थी सहभागिता कर सकेंगे। जिनके चयन का संपूर्ण दायित्व विद्यालय प्राचार्य प्रबंधन का होगा। इस हेतु विद्यालय प्राचार्य वस्तुनिष्ठ प्रतिमाला तथा किव्ज़ के माध्यम से विद्यालय स्तर पर विद्यार्थियों का चयन कर प्रतियोगिता हेतु उनका पंजीयन सुनिश्चित करेंगे। इन विद्यार्थियों की सहभागिता हेतु निर्धारित फार्मेट में 20 जुलाई 2018 तक कार्यालय समय में कार्यालय जिला शिक्षा अधिकारी, प्राचार्य जिला स्तर पर उत्कृष्ट विद्यालय एवं जिला टूरिज्म प्रमोशन काउंसिल कार्यालय (कलेक्ट्रेट) में जमा किए जा सकतें है। इसमें प्राचार्य की सील, हस्ताक्षर होना अनिवार्य है अंतिम तिथि 20 जुलाई संध्या 5ः30 बजे बाद प्रविष्टि स्वीकार्य नहीं होगी। 

कलेक्टर , एसपी ने केक काटकर मनाई हाथीपावा पर पौधारोपण की पहली वर्षगांठ 

झाबुआ। रविवार तड़के सुबह शहर से सटी हाथीपावा पहाड़ी पर कोई पौधा लगा रहा था, तो कोई पूर्व में रोपे गए पौधों को पानी दे रहा था तो कोई अपने लगाए पौधों के पास खड़े होकर सेल्फी ले रहा था। सभी अपनी मस्ती में मशगुल थे। आयोजन स्थल पर पोहे एवं फल की भी व्यवस्था की गई थी।
   अवसर था हाथीपावा पहाड़ी पर पौधारोंपण कार्य के एक वर्ष पूर्ण होने का। इस अवसर पर जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, वन विभाग के साथ विभिन्न सामाजिक-धार्मिक संस्थाओं एवं स्कूली तथा कॉलेज के छात्र-छात्राओं द्वारा संयुक्त रूप से हाथीपावा महोत्सव मनाया गया। रविवार की सुबह 7 बजते ही एक के बाद एक हाथीपावा पहाड़ी पर लोगों का आना शुरू हो गया। कुछ ही देर में यहां लोगों का भारी मजमा लग गया। सभी अपने-अपने अनुसार हाथीपावा पर पौधारोपण की पहली वर्षगांठ मना रहे थे। मप्र उपभोक्ता हितैषी मंच के जिलाध्यक्ष एवं सामाजिक कार्यो में हमेशा अग्रणी रहने वाले जयेन्द्र बैरागी एक अनोखे अंदाज में दिखाई दिए। उन्होने हरे वस्त्र एवं रंग-बिरंगे छाते के साथ स्वच्छ झाबुआ हरा-भरा झाबुआ का संदेश दिया। 
किसी ने रोपे पौधें ने किसी ने दिया पानी
हाथीपावा पर पौघारोपण कार्य के एक वर्ष होने पर इस उपलक्ष में विभिन्न सामाजिक संगठनों एवं शहर के गणमान्य नागरिकों द्वारा यहां पौधे रोपने का कार्य करने के साथ ही पहले से उनके द्वारा रोपे गए पौधो को पानी भी दिया गया एवं पौधो के पास सपरिवार तथा समूह में खड़े रहकर सेल्फी ली। महिलाओं द्वारा समूह में पौधारोपण करने के साथ पौधों को पानी देने एवं वन विभाग द्वारा श्रमदान कर नए पौधे रोपने जैसे कार्य भी यहां किए गए। कई महिलाओं ने उत्साहित होकर भजन-किर्तन किए। उत्कृष्ट उमा विद्यालय, कन्या उमा विद्यालय, केषव इंटरनेषनल स्कूल, शारदा विद्या मंदिर, पद्म कॉलेज ऑफ नर्सिंग की छात्राओं ने भी हाथीपावा पहुंचकर यहां अलग-अलग समूह बनाकर पौधारोपण करने के साथ उनकी साज-संभाल का कार्य किया।


कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने काटा केक
आयोजनस्थल पर कलेक्टर आशीष सक्सेना एवं पुलिस अधीक्षक महेशचन्द्र जैन भी पहुंचे और उन्होंने पूरे हाथीपावा का अवलोकन करने के बाद यहां केक काटकर खुशियां मनाई गई। बाद सभी ने एक-दूसरे को केक खिलाया एवं टॉफी का वितरण किया गया। इस अवसर पर प्रषासनिक अधिकारियों में जिला पंचायत सीईओ जमुना भिड़े, एसडीएम झाबुआ केसी परते, वन विभाग के डीएफओ सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे। 
स्वल्पाहार का वितरण किया गया 
यहां कार्यक्रम करीब ढ़ाई घंटे तक चला। बाद कार्यक्रम से लौटने वाले लोगों के लिए आयोजन स्थल के प्रवेश द्वार पर स्वादिष्ट पोहे की व्यवस्था सकल व्यापारी संघ की ओर से की गई तो वहीं फल का वितरण शारदा विद्या मंदिर की ओर से किया गया। शुद्ध पेयजल की भी व्यवस्था की गई थी। संपूर्ण आयोजन के दौरान जिला आजाद साहित्य परिषद् के अध्यक्ष डॉ. केके त्रिवेदी, पीजी कॉलेज के जनभागीदारी समिति अध्यक्ष यशवंत भंडारी, सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर, सचिव कमलेश पटेल, सह-सचिव पंकज जैन मोगरा, कोषाध्यक्ष राजेश शाह, हरिशभाई शाह लाला, अमित जैन, युवा इकाई के हार्दिक अरोड़ा, आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट से सेवा प्रकल्प अध्यक्ष रविराजसिंह राठौर, सचिव सुनील चौहान, रोटरी क्लब आजाद से संजय कांठी, अजय रामावत, श्री शर्मा, संतोष प्रधान, शारदा विद्या मंदिर के संचालक राज्य कर्मचारी संघ के राकेश परमार, शारदा विद्या मंदिर से राकेश शाह, जिला पंचायत एवं आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट से सुधीर कुशवाह, जिला पेंशनर्स एसोसिएशन से अध्यक्ष रतनसिंह राठौर, जितेन्द्र शाह, पूर्व प्राचार्य समीउद्दीन सैयद, समाजसेवी अशोक शर्मा, संकल्प ग्रुप की संयोजक श्रीमती भारती सोनी, मप्र उपभोक्ता फोरम की सदस्य किरण शर्मा आदि उपस्थित थे।

हाथीपावा महोत्सव : विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं के साथ स्कूली छात्र-छात्राओं ने लगाए पौधे
हाथीपावा महोत्सव : विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं के साथ स्कूली छात्र-छात्राओं ने लगाए पौधे
हाथीपावा महोत्सव : Haathipawa-jhabua-विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं के साथ स्कूली छात्र-छात्राओं ने लगाए पौधे  हाथीपावा महोत्सव : Haathipava-jhabua-विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं के साथ स्कूली छात्र-छात्राओं ने लगाए पौधे

हाथीपावा महोत्सव : Haathipawa-jhabua-विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं के साथ स्कूली छात्र-छात्राओं ने लगाए पौधे

हाथीपावा महोत्सव : Haathipawa-jhabua-विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं के साथ स्कूली छात्र-छात्राओं ने लगाए पौधे

हाथीपावा महोत्सव : Haathipawa-jhabua-विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं के साथ स्कूली छात्र-छात्राओं ने लगाए पौधे

झाबुआ। जिले के ग्राम बिजोरी से लगे तारखेड़ी की विरान घाटी पर रविवार शाम करीब 4.30 बजे मवेशी चरा रहे लोगों ने देखा कि एक अज्ञात व्यक्ति का शव पड़ा है। यह देख कर उन्होंने आस-पास के गांव वालों को सूचित किया।  
           जिसके बाद ग्रामीणों ने एकत्रित होकर पाया कि अज्ञात व्यक्ति का शव गला रेतकर निर्वस्त्र स्थिति में खाई में पड़ा हुआ है। मृतक की नाक कटी हुई स्थिति में मिली। बाद ग्रामीणों ने झकनावदा चौकी प्रभारी कुंवरसिंह चौहान को सूचना दी। मौके पर पुलिस द्वारा पहुंचकर जांच की गइ्र। अभी तक मौत के कारण का खुलासा नहीं हो पाया है। प्राप्त जानकारी  के अनुसार उक्त शव पिछले 2 दिनों से खाई में पड़ा हुआ था ,लेकिन ग्रामीणों ने भय के कारण इसकी जानकारी किसी को नही दी, लेकिन रविवार को जागरूक एवं सेवाभावी ग्रामीणों की सूचना पर झकनावदा चौकी प्रभारी श्री चौहान के साथ प्रधान आरक्षक हरिराम चौहान, आरक्षक धीरज ठाकुर ने मौके पर पहुंच कर जांच की एवं घटना में मर्ग कायम कर विवेचना में लिया।

झाबुआ- बिजोरी तारखेड़ी मार्ग के समीप अज्ञात व्यक्ति का मिला शव




Trending

[random][carousel1 autoplay]

More From Web

आपकी राय / आपके विचार .....

निष्पक्ष, और निडर पत्रकारिता समाज के उत्थान के लिए बहुत जरुरी है , उम्मीद करते है की आशा न्यूज़ समाचार पत्र भी निरंतर इस कर्त्तव्य पथ पर चलते हुए समाज को एक नई दिशा दिखायेगा , संपादक और पूरी टीम बधाई की पात्र है !- अंतर सिंह आर्य , पूर्व प्रभारी मंत्री Whatsapp Status Shel Silverstein Poems Facetime for PC Download

आशा न्यूज़ समाचार पत्र के शुरुवात पर हार्दिक बधाई , शुभकामनाये !!!!- निर्मला भूरिया , पुर्व विधायक

जिले में समाचार पत्रो की भरमार है , सच को जनता के सामने लाना और समाज के विकास में योगदान समाचार पत्रो का प्रथम ध्येय होना चाहिए ... उम्मीद करते है की आशा न्यूज़ सच की कसौटी और समाज के उत्थान में एक अहम कड़ी बनकर उभरेगा - कांतिलाल भूरिया , पुर्व सांसद

आशा न्यूज़ से में फेसबुक के माध्यम से लम्बे समय से जुड़ा हुआ हूँ , प्रकाशित खबरे निश्चित ही सच की कसौटी ओर आमजन के विकास के बीच एक अहम कड़ी है , आशा न्यूज़ की पूरी टीम बधाई की पात्र है .- शांतिलाल बिलवाल , पुर्व विधायक झाबुआ

आशा न्यूज़ चैनल की शुरुवात पर बधाई , कुछ समय पूर्व प्रकाशित एक अंक पड़ा था तीखे तेवर , निडर पत्रकारिता इस न्यूज़ चैनल की प्रथम प्राथमिकता है जो प्रकाशित उस अंक में मुझे प्रतीत हुआ , नई शुरुवात के लिए बधाई और शुभकामनाये.- कलावती भूरिया , पुर्व जिला पंचायत अध्यक्ष

मुझे झाबुआ आये कुछ ही समय हुआ है , अभी पिछले सप्ताह ही एक शासकीय स्कूल में भारी अनियमितता की जानकारी मुझे आशा न्यूज़ द्वारा मिली थी तब सम्बंधित अधिकारी को निर्देशित कर पुरे मामले को संज्ञान में लेने का निर्देश दिया गया था समाचार पत्रो का कर्त्तव्य आशा न्यूज़ द्वारा भली भाति निर्वहन किया जा रहा है निश्चित है की भविष्य में यह आशा न्यूज़ जिले के लिए अहम कड़ी बनकर उभरेगा !!- डॉ अरुणा गुप्ता , पूर्व कलेक्टर झाबुआ

Congratulations on the beginning of Asha Newspaper .... Sharp frown, fearless Journalism first Priority of the Newspaper . The Entire Team Deserves Congratulations... & heartly Best Wishes- कृष्णा वेणी देसावतु , पूर्व एसपी झाबुआ

महज़ ३ वर्ष के अल्प समय में आशा न्यूज़ समूचे प्रदेश का उभरता और अग्रणी समाचार पत्र के रूप में आम जन के सामने है , मुद्दा चाहे सामाजिक ,राजनैतिक , प्रशासनिक कुछ भी हो, हर एक खबर का पूरा कवरेज और सच को सामने लाने की अतुल्य क्षमता निश्चित ही आगामी दिनों में इस आशा न्यूज़ के लिए एक वरदान साबित होगी, संपादक और पूरी टीम को हृदय से आभार और शुभकामनाएँ !!- संजीव दुबे , निदेशक एसडी एकेडमी झाबुआ

Contact Form

Name

Email *

Message *

E-PAPER
Layout
Boxed Full
Boxed Background Image
Main Color
#007ABE
Powered by Blogger.