Latest News

1 26 january 1 abvp 45 Administrative 1 b4 cinema 1 balaji dhaam 1 bhagoria 1 bhagoria festival jhabua 2 bjp 1 cinema hall jhabua 27 city 16 crime 19 cultural 35 education 2 election 15 events 12 Exclusive 1 Famous Place 6 gopal mandir jhabua 17 Health and Medical 78 jhabua 4 jhabua crime 1 Jhabua History 1 matangi 3 Movie Review 5 MPPSC 1 National Body Building Championship India 4 photo gallery 18 politics 2 ram sharnam jhabua 48 religious 5 religious place 2 Road Accident 3 sd academy 65 social 13 sports 1 tourist place 13 Video 1 Visiting Place 11 Women Jhabua 2 अखिल भारतीय किन्नर सम्मेलन 1 अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद 1 अंगूरी बनी अंगारा 1 अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 15 अपराध 1 अल्प विराम कार्यक्रम 6 अवैध शराब 1 आदित्य पंचोली 1 आदिवासी गुड़िया 1 आरटीओं 1 आलेख 1 आवंला नवमी 3 आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट 1 ईद 1 उत्कृष्ट सड़क 20 ऋषभदेव बावन जिनालय 3 एकात्म यात्रा 2 एमपी पीएससी 1 कलाल समाज 1 कलावती भूरिया 3 कलेक्टर 14 कांग्रेस 6 कांतिलाल भूरिया 1 कार्तिक पूर्णिमा 2 किन्नर सम्मेलन 2 कृषि 1 कृषि महोत्सव 3 कृषि विज्ञान केन्द्र झाबुआ 1 केरोसीन 2 क्रिकेट टूर्नामेंट 4 खबरे अब तक 1 खेडापति हनुमान मंदिर 15 खेल 1 गडवाड़ा 1 गणगौर पर्व 1 गर्मी 1 गल पर्व 8 गायत्री शक्तिपीठ 2 गुड़िया कला झाबुआ 1 गोपाल पुरस्कार 4 गोपाल मंदिर झाबुआ 1 गोपाष्टमी 1 गोपेश्वर महादेव 14 घटनाए 1 चक्काजाम 3 जनसुनवाई 1 जय आदिवासी युवा संगठन 5 जय बजरंग व्यायाम शाला 1 जयस 6 जिला चिकित्सालय 3 जिला जेल 3 जिला विकलांग केन्द्र झाबुआ 1 जीवन ज्योति हॉस्पिटल 9 जैन मुनि 6 जैन सोश्यल गुुप 2 झकनावदा 80 झाबुआ 1 झाबुआ इतिहास 1 झाबुआ का राजा 3 झाबुआ पर्व 9 झाबुआ पुलिस 1 झूलेलाल जयंती 1 तुलसी विवाह 6 थांदला 3 दशहरा 1 दस्तक अभियान 1 दिल से कार्यक्रम 3 दीनदयाल उपाध्याय पुण्यतिथि 1 दीपावली 2 देवझिरी 38 धार्मिक 5 धार्मिक स्थल 7 नगरपालिका परिषद झाबुआ 5 नवरात्री 4 नवरात्री चल समारोह 4 नि:शुल्क स्वास्थ्य मेगा शिविर 1 निर्वाचन आयोग 4 परिवहन विभाग 1 पर्यटन स्थल 3 पल्स पोलियो अभियान 7 पारा 1 पावर लिफ्टिंग 14 पेटलावद 1 प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय 3 प्रतियोगी परीक्षा 1 प्रधानमंत्री आवास योजना 30 प्रशासनिक 1 बजरंग दल 2 बाल कल्याण समिति 1 बेटी बचाओं अभियान 2 बोहरा समाज 1 ब्लू व्हेल गेम 1 भगोरिया पर्व 1 भगोरिया मेला 3 भगौरिया पर्व 1 भजन संध्या 1 भर्ती 2 भागवत कथा 28 भाजपा 1 भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान 1 भारतीय जैन संगठना 3 भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा 1 भावांतर योजना 2 मध्यप्रदेश बाल अधिकार संरक्षण आयोग 1 मल्टीप्लेक्स सिनेमा 2 महाशिवरात्रि 1 महिला आयोग 1 महिला एवं बाल विकास विभाग 1 मिशन इन्द्रधनुष 1 मुख्यमंत्री महिला सशक्तिकरण योजना 2 मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चोहान 8 मुस्लिम समाज 1 मुहर्रम 3 मूवी रिव्यु 6 मेघनगर 1 मेरे दीनदयाल सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता 2 मोड़ ब्राह्मण समाज 1 मोदी मोहल्ला 1 मोहनखेड़ा 2 यातायात 1 रंगपुरा 2 राजगढ़ 12 राजनेतिक 8 राजवाडा चौक 11 राणापुर 5 रामशंकर चंचल 1 रामा 1 रायपुरिया 1 राष्ट्रीय एकता दिवस 2 राष्ट्रीय बॉडी बिल्डिंग चैम्पियनशीप 4 राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना 1 राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण 1 रोग निदान 2 रोजगार मेला 15 रोटरी क्लब 2 लक्ष्मीनगर विकास समिति 1 लाडली शिक्षा पर्व 2 वनवासी कल्याण परिषद 1 वरदान नर्सिंग होम 1 वाटसएप 1 विधायक 4 विधायक शांतिलाल बिलवाल 1 विश्व उपभोक्ता संरक्षण दिवस 2 विश्व विकलांग दिवस 2 विश्व हिन्दू परिषद 1 वेलेंटाईन डे 3 व्यापारी प्रीमियर लीग 1 शरद पूर्णिमा 5 शासकीय महाविद्यालय झाबुआ 32 शिक्षा 1 श्रद्धांजलि सभा 3 श्री गौड़ी पार्श्वनाथ जैन मंदिर 9 सकल व्यापारी संघ 2 सत्यसाई सेवा समिति 1 संपादकीय 2 सर्वब्राह्मण समाज 4 साज रंग झाबुआ 33 सामाजिक 1 सारंगी 11 सांस्कृतिक 1 सिंधी समाज 1 सीपीसीटी परीक्षा 3 स्थापना दिवस 3 स्वच्छ भारत मिशन 4 हज 3 हजरत दीदार शाह वली 5 हाथीपावा 1 हिन्दू नववर्ष 5 होली झाबुआ

झाबुआ। वर्तमान भौतिकता की चकाचौंध में नन्हे से बालक से लेकर बुजुर्ग अवस्था के व्यक्ति के हाथ में संचारक्रांति का एक ऐसा माध्यम आ गया जिसके चलते पलभर में दुनिया की खोज खबरें तो पा लेता है। साथ ही संचार की इस क्रांति व भौतिकता की चकाचौंध में साहित्य व संगीत जो पोराणिक काल में चलता था वह अब शनै:-शनै: विलुप्त होने लगा और पाश्चात्य संगीत ठेठ गांव, खेड़ों से लेकर महानगरों तक ऐसा हावी हुआ कि शास्त्री संगीत सुनना ही कर्णभेदी लगने लगा और पाश्चात्य संगीत इतना कर्णप्रिय हो गया कि जो गीत-संगीत पूर्व में शास्त्री संगीतों के आधार पर थे। उन्हे भी भौतिकता की चकाचौंध व पाश्चात्य संस्कृति के संगीत ने ऐसा संजोया कि हर कोई पूर्व के शास्त्री संगीत सुनने की बजाय ''रिमिक्स" शास्त्री उर्फ पाश्चात्य संगीत सुनना पसंद करते है। स्थिति यह हो गई कि पाश्चात्य संस्कृति व भौतिकता की चकाचौंध में विश्व पटल से शास्त्री संगीत विलुप्त होने लगा। जब तक शास्त्री संगीत के क्षेत्र में कुमार गंधर्व थे तब तक यह माना जा रहा था कि पौराणिक काल से लेकर वर्तमान तक शास्त्री संगीत जीवन्त है, लेकिन शास्त्री संगीत के महान गायक कुमार गंधर्व के देवलोक गमन होते ही शास्त्री संगीत पर पाश्चात्य संगीत हावी होने लगा।  
           ऐसे में शास्त्री संगीतकार स्वर्गीय कुमार गंधर्व के सुपुत्र पंडीत भुवनेश्वर ने शास्त्री संगीत का वर्चस्व कायम करने का संकल्प लिया और अपने पिता के पदचिन्हों पर चलते हुए शास्त्री संगीत का न केवल अलख जगाना शुरू किया अपितु अपने पिता की तर्ज पर नए शिष्यों को भी शास्त्री संगीत की शिक्षा देने लगे। उन्ही में से पंडित भुवनेश्वर कौमकली देवास का एक शिष्य डॉ. दीनदयाल चौरसिया भी शामिल हुआ। 
शासकीय संगीत शिक्षक हैं 
प्रदेश भर में शास्त्री संगीत का अलख जगा रहे युवा डाक्टर चौरसिया-Youth-Artist-Chaurasia-waking-up-the-classical-music-of-the-stateयुवा तुर्क 42 वर्षिय डॉ. दीनदयाल चौरसिया वर्तमान में देवास जिले में जवाहर नवोदय विद्यालय में संगीत शिक्षक है। इससे पूर्व डाक्टर चौरसिया आदिवासी बाहुल झाबुआ जिले के थांदला स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय में भी संगीत शिक्षक रह चुके है। गत 14 वर्षों से न केवल शासकीय सेवा में ईमानदारी से अपना कर्तव्य निभाते हुए जवाहर नवोदय विद्यालय में शास्त्री संगीत का अलख जगा रहे अपितु अवकाश के दिनों में प्रदेश भर में विशेष कर प्रदेश के पिछड़ा व आदिवासी बाहुल जिलों के निजी तथा सरकारी स्कूलों में पहुंचकर शास्त्री संगीत का अलख जगा रहे है। 
           इसी कड़ी में डाक्टर दीनदयाल चौरसिया बीते दिनों जिला मुख्यालय स्थित शारदा विद्या मंदिर में पहुंचे जहां संस्थापक ओम शर्मा, किरण शर्मा सहित पूरे स्टाफ ने न केवल डाक्टर चौरसिया का स्वागत व सम्मान किया अपितु शास्त्री संगीत की शिक्षा बच्चों में देने हेतु अनोपचारिक कार्यक्रम आयोजित किया। उक्त कार्यक्रम में डाक्टर दीनदयाल चौरसिया ने तनपुरे के संगीत के साथ न केवल सरस्वती वंदना पेश की अपितु नन्हे विद्यार्थियों से लगाकर संस्था के स्टाफ को भी अवगत कराया कि शास्त्री संगीत का जो महत्व पौराणिक काल में था वह अब भी है पर हमारी कुछेक गलतियों की वजह से पाश्चात्य संगीत हम पर हावी होने लगा है। तय है हम जिस तरह एक बीज रोप कर पौधा पनपाते है और उस पौधे को जिस ओर झूकाना चाहते है उस ओर झुकता है। फर्क सिर्फ हमारी शुद्ध सोच और संस्कृति में है।
         डाक्टर चौरसिया द्वारा शारदा विद्या मंदिर में दिये गये नि:शुल्क शास्त्री संगीत प्रशिक्षण और बच्चों को दिये गये ज्ञान की बच्चों ने कर्तल ध्वनि से स्वागत किया तो संस्था ने भी कार्यक्रम के अंत में प्रदेशभर में पिछड़ों व आदिवासी बाहुल जिलों मे शास्त्री संगीत का अलख जगाए रखने वाले युवा तुर्क डाक्टर दीनदयाल चौरसिया का भावभीना सम्मान किया। इस अवसर पर संस्था संचालक ओम शर्मा ने कहा कि शास्त्री संगीत के क्षेत्र में जो कार्य डाक्टर चौरसिया कर रहे है वह न केवल सराहनीय है अपितु भौतिकता की चकाचौंध में विलुप्त होती संस्कृति बचाने का सार्थक प्रयास है। अभी तो सिर्फ एक संस्था में ही आयोजन हुआ। भविष्य में जिले की अन्य शासकीय अशासकीय संस्था में भी पहुंचकर डाक्टर चौरसिया शास्त्री संगीत का अलख जगाए ऐसा प्रयास हम सब मिलकर करेंगे।

पेटलावद । क्षेत्र में जहां भी किसानों के खेत सूखे पड़े हैं हम उन्हें हरा भरा देखना चाहते हैं एवं इस दिशा में हम निरंतर प्रयास कर रहे हैं एवं इस क्षेत्र में बड़े तालाब आंबापाड़ा ,बखतपुरा ,तारखेड़ी आदि का निर्माण करवा कर क्षेत्र को हरा भरा करने का प्रयास किया है। एवं जहां-जहां भी बड़े तालाबों के निर्माण की गुंजाइश है वहां प्रदेश के किसान हितेषी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिलकर निर्माण कार्य करवाया जावेगा ताकि किसानों के जीवन में खुशहाली आवे किसान संपन्न बने। 
             उक्त आशय के उद्गार ग्राम बोलासा में 4 करोड़ 27 लाख की लागत से बनने वाले बोलासा सिंचाई तालाब के भूमि पूजन अवसर पर विधायक सुश्री निर्मला भूरिया ने व्यक्त किए आगे आपने कहां की यदि 14 वर्ष पूर्व जाकर देखा जाए तो सड़कों की जगह केवल गड्ढे दिखाई देते थे आज जो सड़कों का जाल छोटे-छोटे गांव में दिख रहा है वह भारतीय जनता पार्टी सरकार की ही देन है साथ ही भाजपा सरकार द्वारा किए गए कार्यों जो आपके सामने हैं को गिन पाना मुश्किल है आगे आप ने कहा कि उक्त तालाब के निर्माण से 1.55 हेक्टर जमीन सिंचित होगी एवं इसका सीधा लाभ बोलासा क्षेत्र के किसानों को होगा बोलासा क्षेत्र को वर्षो से लंबित मांग पूरी कर सिंचाई की सौगात देने पर वरिष्ठ भाजपा नेता अंबालाल मेहता एवं ग्रामीणों ने सुश्री भूरिया को अभिनंदन पत्र भेट कर लड्डुओं से तोला एवं वनांचल आदिवासी परंपरा अनुरूप ढोल मांदल की थाप से स्वागत किया। 
            उपस्थित जन समुदाय को मनोहर लाल भटेवरा नगर पंचायत अध्यक्ष ,वरिष्ठ भाजपा नेता अंबालाल मेहता, हेमंत भट्ट जिला भाजपा उपाध्यक्ष, अजमेर सिंह भूरिया मंडल अध्यक्ष ने संबोधित कर भाजपा सरकार की योजनाओं पर प्रकाश डाला इस अवसर पर मांगीलाल पडियार किसान मोर्चा जिला उपाध्यक्ष ,शैतान मल कुमट मीडिया प्रभारी भाजपा ,मंसूरी बाई सिंगार सरपंच, लक्ष्मण मालीवाड मंडल महामंत्री ,देवेंद्र सिंह डावर अनुविभागीय अधिकारी ,एम एल पुरोहित सब इंजीनियर ,गेंदालाल सिंगार पूर्व सरपंच ,पृथ्वीराज सिंह तारखेड़ी, गुलाबचंद पाटीदार ,नाथू पाटीदार, रामचंद्र पाटीदार ,लिंबा वसुनिया, कालू सिंह चौहान ,भंवर सिंह बिलोतीया, तोलिया दायमा, कैलाश भूरिया ,समरथ चौहान, पप्पू परिहार युवा मोर्चा मंडल महामंत्री एवं बड़ी संख्या में महिलाओं सहित ग्रामीण जन उपस्थित थे।

4 करोड़ 27 लाख की लागत से बनने वाले तालाब का सुश्री निर्मला भूरिया ने किया भूमि पूजन -Nirmala-Bhuria-land-pond-constructed-at-cost-of-4-crores-27-laks

राजेश थापा , झाबुआ।  प्रतिभावान अनुसूचित जनजाति के खिलाड़ियों को मध्यप्रदेश शासन के आदिवासी विकास विभाग द्वारा प्रोत्साहन राशि दी जाती है। राष्ट्रीय स्तर की खेल प्रतियोगिता में भाग लेने वाले खिलाड़ियों को 4 हजार रूपये प्रतिमाह की प्रोत्साहन राशि दी जाती है। राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं में व्यक्तिगत रूप से स्वर्ण पदक  प्राप्त करने वाले खिलाड़ी को 21 हजार रूपये की राशि दी जाती है। रजत पदक  प्राप्त करने वाले खिलाड़ी को 15 हजार रूपये तथा कांस्य पदक  प्राप्त करने वाले को 11 हजार रूपये की राशि दी जाती है। राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में सामूहिक स्पर्धा में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर दल के प्रत्येक अनुसूचित जनजाति सदस्य को 10 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है। इसी तरह राष्ट्रीय प्रतियोगिता में दूसरा स्थान प्राप्त करने पर 7 हजार रूपये तथा तीसरा स्थान प्राप्त करने पर 5 हजार रूपये प्रोत्साहन राशि दी जाती है।  
          आदिवासी खिलाड़ियों को राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर 7 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है। इसी तरह दूसरा स्थान प्राप्त करने पर 5 हजार रूपये तथा तीसरा स्थान प्राप्त करने पर 3 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है। इन खिलाड़ियों को खेल एवं युवक कल्याण विभाग द्वारा अलग से पात्रता अनुसार हर माह खेलवृत्ति देने का भी प्रावधान है। इससे प्रतिभावान खिलाड़ियों को अच्छा प्रशिक्षण प्राप्त करने तथा आगे बढने का अवसर मिल रहा है।

झाबुआ। आज अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को जिले में जिला स्तर पर कृषि उपज मण्डी परिसर एवं जिले के ब्लाक स्तर एवं शैक्षणिक संस्थाओं में सामूहिक योग कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिला स्तर पर आयोजित योग कार्यक्रम में विधायक शांतिलाल बिलवाल, कलेक्टर आशीष सक्सेना, पुलिस अधीक्षक महेशचन्द जैन, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे, जिला शिक्षा अधिकारी सोलंकी सहित शासकीय सेवको, सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों एवं विद्यार्थियों ने भाग लिया। 
प्रधानमंत्री के योग कार्यक्रम का सीधा प्रसारण भी देखा
       योग दिवस के अवसर पर उत्तराखंड मे आयोजित कार्यक्रम मे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने सहभागिता की। कार्यक्रम का सीधा प्रसारण एलईडी के माध्यम से जिलेवासियो ने देखा एवं प्रधानमंत्री जी के संदेष को सुना।
केन्द्रीय विद्यालय में भी हुआ अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन 
गेल झाबुआ द्वारा भी आज अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन किया गया। योग के प्रति जागरूकता उत्पन्न करने तथा योग को सर्वव्यापी एवं विश्वव्यापी बनाने के लिए योग दिवस पर सामूहिक योग किया गया। योग हमारी सबसे समृद्ध और संपंन्न सांस्कृतिक विरासत के रूप में हमें प्राप्त हुआ है जो हमारे जीवन और स्वास्थ्य के लिए सबसे उपयुक्त विधा है। 

पेटलावद। जिले के पेटलावद विधानसभो अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत सेमलिया, टोड़ी, भैरूपाड़ा, धोलीखाली मैं विधायक सुश्री निर्मला भूरिया ने स्वयं सहायता समूह द्वारा संचालित उचित मूल्य दुकानों का उद्घाटन किया। ग्राम पंचायत भेरुपाड़ा के कस्तूरी स्वयं सहायता समूह गुलरीपाड़ा की अध्यक्ष श्रीमती सुमन सिंगार एवं श्रीमती बबीता सिंगार उपाध्यक्ष द्वारा ग्राम पंचायत भैरुपाड़ा की उचित मूल्य की दुकान का शुभारंभ किया गया।
        जिसमें विधायक सुश्री निर्मला भूरिया, वरिष्ठ भाजपा नेता भूपेंद्रसिंह सेमलिया, भाजपा नेता मांगीलाल पडियार, किसान मोर्चा जिला सोशल मीडिया प्रभारी शैतानमल कुमट, झकनावदा उपसरपंच संजय कोठारी द्वारा उचित मूल्य की दुकान का उद्घाटन मां शारदाजी के चित्र पर दीप प्रज्वलित कर पुष्पमाला अर्पित कर किया गया। सुश्री भूरिया ने दुकान का रिबन काटकर उद्घाटन किया। इसके पश्चात् ग्राहक को श्रीमती सुमन सिंगार, बबीता सिंगार, रोशन सिंगार, दलसिंह दायमा, रतन मखोड़, दलसिंह मेडा, श्रवण मेड़ा बिजोरी की उपस्थिति में गेहूं तोलकर दिया गया। इस अवसर पर आसपास क्षेत्र के कई ग्रामीण उपस्थित थे। उचित मूल्य दुकान खोलने से आसपास के क्षेत्र में हर्ष का माहौल है। गरीब किसानों को अब परेशानियों का सामना भी नही करना पड़ेंगा।

‘‘मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी योजना‘‘ 1 जुलाई से होगी लागू 

      झाबुआ। प्रदेश सरकार ने तीनों विद्युत वितरण कंपनी पूर्व, मध्य एवं पश्चिम क्षेत्र को 200 रूपए सरल बिजली बिल स्कीम एवं मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी स्कीम के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए निर्देश जारी किए हैं। मुख्यमंत्री जन कल्याण (संबल) योजना में पंजीकृत श्रमिकों के मासिक बिलों के लिए सरल बिजली बिल स्कीम एवं मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी स्कीम आगामी 1 जुलाई से लागू हो रही है। मुख्यमंत्री बकाया बिल माफी स्कीम बीपीएल उपभोक्ताओं के लिए भी है।   
             शासन द्वारा जारी निर्देश में विद्युत कंपनियों से कहा गया है कि योजनाओं के हितग्राहियों की अतिरिक्त सुरक्षा निधियो के एरियर की बकाया राशि माफ करते हुए कोई नई सुरक्षा निधि नहीं ली जाए। नामांतरण की सरल प्रक्रिया अपनाई जाए, जिससे कि एक साथ एक ही घर में कनेक्शनधारी उपभोक्ता के सगे निकट संबंधी पंजीकृत श्रमिक के साथ निवास करने पर योजनाओं का लाभ मिल सके। विद्युत कंपनियों को दोनों योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश भी दिए गए हैं। मुख्यमंत्री जन कल्याण (संबल) योजना में पंजीकृत श्रमिकों को 200 रूपए प्रतिमाह की दर से सरल बिजली बिल स्कीम का लाभ दिया जाएगा। आगामी 1 जुलाई से शुरू होने वाली योजना के बिल अगस्त  में देय होंगे।
कैसे हों इस योजना में शामिल
योजना में शामिल होने के लिए पंजीकृत श्रमिकों को निर्धारित आवेदन पत्र भरकर विद्युत वितरण कंपनी के निकटतम कार्यालय या शिविर में जमा करने होंगे। पंजीकृत श्रमिकों के पंजीयन प्रमाण-पत्र के साथ आवेदन करने पर ऐसे परिवारों को बिना कनेक्शन प्रभार लिए निरूशुल्क विद्युत कनेक्शन प्रदान करने के निर्देश विद्युत वितरण कंपनियों को दिए गए हैं। योजना में 1000 वॉट तक के संयोजित भार वाले उपभोक्ता शामिल हो सकेंगे, किन्तु एयर कंडीशनर एवं हीटर का उपयोग करने वाले उपभोक्ता इस योजना में पात्र नहीं होंगे। योजना में जहां मीटर स्थापित हो, वहां मीटर से रीडिंग करते हुए बिल की गणना की जाएगी।
        शहरी क्षेत्रों में स्थापित मीटर में अंकित खपत एवं विद्युत नियामक आयोग के विद्यमान टैरिफ के अनुसार उपभोक्ता बिल की गणना की जाएगी। उपभोक्ता द्वारा मात्र 200 रूपए मासिक अथवा विगत एक वर्ष का औसत मासिक बिल, जो भी कम हो, देय होगा। बिजली के अपव्यय को रोकने के लिए ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में सरल बिल स्कीम में घर में बल्ब, पंखा चलाने एवं टीवी चलाने के उपयोग को दृष्टिगत रखते हुए खपत की बिलिंग प्रारंभिक रूप से अधिकतम 100 यूनिट रखी गई है। विद्युत वितरण कंपनियों को निर्देश दिए गये हैं कि नियामक आयोग के निर्धारित मानदंड के अतिरिक्त और कोई आंकलित यूनिट बिल में नहीं जोड़ें।
क्या हैं ‘‘मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी योजना‘‘
योजना में पंजीकृत श्रमिकों एवं बीपीएल उपभोक्ताओं के घरेलू संयोजनों में बिजली बिल की बकाया राशि को माफ किया जाएगा। योजना का प्रभाव जून 2018 तक की कुल बकाया राशि पर लागू होगा। योजना के पात्र उपभोक्ताओं के जुलाई के बिल जो माह अगस्त में आएंगे, से परिलक्षित होगा। इसके लिए मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी स्कीम के तहत माफ की गई राशि (मूल एवं सरचार्ज) बिल में स्पष्ट रूप से दर्शाई जाएगी। योजना में जून तक उपभोक्ता द्वारा देय मूल बकाया राशि एवं सरचार्ज की संपूर्ण राशि माफ की जाएगी।
कौन हो सकता है योजना में शामिल
संबल योजना में पंजीकृत श्रमिकों व बीपीएल उपभोक्ताओं में से वे उपभोक्ता भी सम्मिलित हो सकेंगे, जिन पर सामान्य विद्युत बिल की राशि बकाया है। जिन्होंने वितरण कंपनियों के विरूद्ध बकाया राशि के संबंध में न्यायालयीन प्रकरण दर्ज किया है तथा प्रकरण लंबित है अथवा विद्युत बिल की राशि बकाया होने से विद्युत कनेक्शन विच्छेदित किया गया हो। जिनके ऊपर विद्युत वितरण कंपनी द्वारा विद्युत अधिनियम में प्रकरण दर्ज किया गया हो। पूर्व के वर्षों में समाधान योजना का लाभ ले चुके घरेलू उपभोक्ता पात्रता अनुसार इस योजना में पुन: लाभ ले सकेंगे। 


कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने किया राजपूत सरदारों से शहर को हरा-भरा करने का आव्हान

झाबुआ। शहर में प्रत्येक समाज की तरह राजपुत समाज भी अब सामाजिक कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेता है। महाराणा प्रताप वीरता के साथ पर्यावरण का भी विशेष ध्यान रखते थे एवं समय-समय पर सभी को पर्यावरण को बढ़ावा देने की प्रेरणा देते थे। जंगल में घास की रोटी खाकर अकबर से लोहा लेना समाज और देश के लिए असाधारण सी घटना है। हम सभी को झाबुआ शहर को हरा-भरा करने का संकल्प लेना चाहिए एवं जहां आवष्यक लगे कम से कम 10-10 पौधे जरूर लगाकर उन्हें बड़ा करना चाहिए।    
        उक्त प्रेरणादायी विचार कलेक्टर आशीष सक्सेना ने महाराणा प्रतापजी की जयंती के उपलक्ष में रविवार रात स्थानीय पैलेस गार्डन पर आयोजित प्रतिभा सम्मान समारोह में व्यक्त किए। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक महेशचन्द्र जैन ने कहा कि आज महाराणाजी जैसे यौद्धा पैदा होना ही बंद हो गए है। अपने सीने पर कई टनो का लोहा पहने जब महाराणाजी युद्ध भूमि में होते थे, तो उनको देखकर ही दुष्मन भाग खड़े होते थे। यदि सभी ने सहयोग दिया होता तो महाराणा प्रताप को कभी हराया नहीं जा सकता था। पर्यावरण के प्रति लोगों की बढ़ती जागरूकता पर श्री जैन ने कहा कि आज आमजनों में पर्यावरण के प्रति सजगता आई है और इसी कारण हम सभी मिलकर इसके संतुलन में बड़ी भागीदारी निभा सकते है। सभी आने वाले वर्षाकाल में स्वेच्छा से पौधारोपण कर उसे बड़े करने का संकल्प ले। 
महाराणा प्रताप पूरे देश के लिए वीर सपूत है 
समारोह में विशेष रूप से उपस्थित विष्व हिन्दू परिषद् के प्रांतीय अध्यक्ष आशुतोष शेखावत ने बताया कि महाराणा प्रतापजी समाज के ही नहीं अपितु पूरे देश के भी वीर सपूत है। यदि उस दौरान सभी राजपूत राजा एक हो जाते तो अकबर को देश से बाहर कर दिया जाता। महाराणा प्रतापजी ने अंत तक अपनी हार नहीं स्वीकार की और अकबर जैसे आक्रमणकारी से निरंतर लोहा लेते रहे। श्री शेखावत ने इस दौरान वीर सपूत के जीवन पर विस्तार से प्रकाश भी डाला। समारोह का शुभारंभ अतिथियों द्वारा महाराणा प्रतापजी के चित्र पर दीप प्रज्जवलन एवं पुष्पांजलि कर किया गया। 
इनका किया गया सम्मान
इस अवसर पर शहर में समाज का नाम रोशन करने वाले बालक-बालिकाओं के साथ दो सामाजिक सरदारों का भी सम्मान किया गया। समाज के कार्यक्रमों में हमेशा अग्रणी भूमिका निभाने वाले जयंतीलाल राठौर एवं पशु प्रेमी गोविन्दसिंह पंवार का सम्मान शाल-श्रीफल भेटकर एवं पुष्पमालाएं पहनाकर कलेक्टर श्री सक्सेना एवं पुलिस अधीक्षक श्री जैन ने किया। इसके साथ ही शहर में शिक्षा एवं खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट करने वाले छात्र-छात्राओं में अवनि राठौर, तनिष्का गेहलोत, सेजल चौहान, निशा गौर, मिलन झाला, गौतम चंद्रावत, अवनि धाकरे, यशोजित चावड़ा, कृतिका सिसौदिया, यशप्रताप सिकरवार, अनमोल धाकरे, हरिअक्ष पंवार का अतिथियों द्वारा पुष्पमाला पहनाकर एवं प्रशस्ति पत्र तथा शील्ड देकर सम्मानित किया गया। समारोह का संचालन गजेन्द्रसिंह चंद्रावत ने किया एवं आभार नीरजसिंह राठौर ने माना। समारोह को सफल बनाने में राजपूत, क्षत्रिय महासभा, करणी सेना के युवाजनों ने भरपूर सहयोग प्रदान किया। 
विशाल शोर्य यात्रा निकाली गई
इससे पूर्व महाराणा प्रताप जन्मोत्सव समिति द्वारा राजवाड़ा चौक से विशाल शोर्य यात्रा निकाली गई, जिसमें बड़ी संख्या में समाजजन शामिल हुए। यह यात्रा शहर के नेहरू मार्ग, मनोकामना तिराहा, आजाद चौक, बाबेल चौराहा, थांदला गेट, रूनवाल बाजार, जैन मंदिर, लक्ष्मीबाई मार्ग होते हुए पैलेस गार्डन पहुंची। जहां उक्त समारोह का आयोजन हुआ। 

राजपुत समाज की श्रेष्ठ प्रतिभाओं का कलेक्टर- एसपी ने किया सम्मान

जिला कांग्रेस ने राहुल गांधी एवं कमलनाथ का आभार व्यक्त किया 

राजेश थापा, झाबुआ। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने प्रदेश कांग्रेस में उद्योग एवं व्यापार प्रकोष्ठ प्रचार एवं संचार समिति एवं घोषणा पत्र समिति का गठन किया है। उद्योग एवं व्योपार प्रकोष्ठ की पूर्व उद्योग मंत्री नरेन्द्र  नहाटा को अध्यक्ष बनाया गया है वहीं झाबुआ जिले से समाजसेवी प्रकाश रांका को इसका सदस्य बनाया गया है। इसी तरह प्रचार एवं संचार समिति का अध्यक्ष राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा को बनाया गया है। इसमें झाबुआ जिले के युवा नेता डॉ.विक्रांत भूरिया को प्रचार एवं संचार समिति के सदस्या के बतौर नियुक्त किया गया है। इसी प्रकार पूर्व में गठित घोषणा पत्र समिति में भी डॉ. विक्रांत भूरिया को घोषणा पत्र समिति का सदस्य मनोनित किया गया है। इस प्रकार झाबुआ जिले को मध्य प्रदेश की कमेटियों में जगह देकर झाबुआ जिले का विशेष ध्यान रखा गया है।
           डॉ. विक्रांत भूरिया को प्रदेश कांग्रेस से जब जो जवाबदारियां दी गई है उसका उन्होंने पूरी ईमानदारी से पालन कर अच्छे परिणाम दिये है। उनकी नियुक्ति पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल मेहता, जिला पंचायत सुश्री कलावती भूरिया, जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष हनुमंत सिंह डाबडी, रूपसिंह डामोर, विजय पांडे, वरिष्ठ कांग्रेस नेता रमेश डोशी, मानसिंह मेडा, गुरूप्रसाद अरोड़ा, नगीन शाह, चंदूभाई पडियार, पूर्व विधायक जेवियर मेडा, वालसिंह मेडा, वीरसिंह भूरिया, जिला प्रवक्ता हर्ष भट्ट, युवक कांग्रेस अध्यक्ष आशीष भूरिया, एनएसयूआई जिलाध्यक्ष विनय भाबोर, महिला कांग्रेस अध्यक्ष कलावती मेडा सहित अनेक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बधाई देते हुए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राहुल गांधी मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ प्रदेश कांग्रेस प्रभारी एवं राष्ट्रीय सचिव दीपक बाबरिया के प्रति आभार व्यक्त‍ किया। 

डॉ विक्रांत भूरिया और प्रकाश रांका को प्रदेश कांग्रेस में मिली बड़ी जिम्मेदारी

झाबुआ। आमतौर पर यह माना जाता है की अगर मोबाइल गुम हो गया है तो पुलिस कुछ ख़ास मदद नहीं करती इस वजह से लोग पुलिस के पास शिकायत ले कर नहीं जाते। लेकिन झाबुआ पुलिस ने गुम हुए 27 महंगे मोबाइल न सिर्फ खोज निकाले बल्कि उनके मालिकों को बुला कर वापस भी किए हैं। पुलिस के साइबर सेल में 130 मोबाइल गुम होने की शिकायतें दर्ज की गई थी। तीन महीने की खोज के बाद एक लाख 66 हजार रुपए मूल्य के 27 मोबाइल ट्रेस करने में सफलता प्राप्त की है। रविवार को एसपी महेशचंद्र जैन ने कन्ट्रोल रूम में  मोबाइल के मालिकों को अपने अपने मोबाइल प्रदान किये। झाबुआ शहर के अलावा मेघनगर,रानापुर , उदयपुरिया आदि स्थानों से भी मोबाइल उपभोक्ता कोतवाली पहुंचे थे। विगत 17 जून को पुलिस अधीक्षक कार्यालय की ‘‘ट्रेस मोबाइल सेल‘‘  द्वारा निम्न 27 आवेदकों  के गुम हुए मोबाइल लौटाए गए- 
  1. आवेदक कालुसिंह मावी नि. झाबुआ मोबा. 9575999282, दिनांक-02.01.2018 को झाबुआ से कही गुम हो गया। 
  2. आवेदक सेलेस्टीन खडिया नि. डी.आर.पी. लाईन झाबुआ मोबा. 8982861892, 8319802092, दिनांक-03.01.2018 को झाबुआ में कही गुम हो गया । 
  3. आवेदक c/ 282 राकेश डामर नि. डी.आर. पी. लाईन झाबुआ मोबा. , दिनांक-02.01.2018 को झाबुआ में रात्री गश्त के दौरान कही गुम हो गया । 
  4. आवेदक दशरथ नलवाया नि. झाबुआ मोबा. 9752733199, दिनांक-03.01.2018 को झाबुआ में कही गुम हो गया । 
  5. आवेदक हिमांशु पिता परमेश्वर लालजी गुप्ता नि. 26/2, नेहरू मार्ग झाबुआ मोबा. , दिनांक-19.01.2018 को झाबुआ में कही गुम हो गया । 
  6. आवेदक भावेश पिता सूरेन्द्रसिंह बामण नि. रंभापुर मोबा. 7746917880, दिनांक-20.01.2017 को रंभापुर में कही गुम हो गया। 
  7. आवेदक लल्लु सिंह पिता मानसिंह भाबर नि. झाबुआ मोबा. 6260688784 , दिनांक-01.02.2018 को अगराल थांदला से कही गुम हो गया। 
  8. आवेदक दिलीप पिता मोतीसिंह कटारा नि. मेघनगर मोबा. 8849007664, दिनांक-01.02.2018 को मेघनगर में कही गुम हो गया। 
  9. आवेदक मुकेश पिता दलसिंह देवल नि. रजला रामा जि. झाबुआ मोबा. 9589497818, दिनांक-05.03.2018 को पारा से कही गुम हो गया। 
  10. आवेदक रेवन पिता मांगू भूरिया नि. कालापन रानापुर झाबुआ मोबा. 8319406458, दिनांक-05.03.2018 को रानापुर में कही गुम हो गया । 
  11. आवेदक भुपेन्द्र कुमार पिता रामनिवास व्यास नि. 182 शिक्षक कालोनी नीमच मोबा. 9425107005, दिनांक-18.07.2017 को लोकेन्द्र टाकिज रतलाम में कही गुम हो गया। 
  12. आवेदक आर. 224 रामकुमार यादव थाना कोतवाली झाबुआ मोबा. 9993847274, दिनांक-19.03.2018 को झाबुआ में कही गुम हो गया । 
  13. आवेदक राजीव पिता बाबु परमार नि. देवीगढ मेघनगर मोबा. 8827865423, दिनांक-20.03.2018 को देवीगढ थांदला में कही गुम हो गया। 
  14.  आवेदक महेन्द्र कुमार पिता श्यामलाल जी सोनी नि. काकनवानी , दिनांक-27.03.2018 को थांदला से कही गुम हो गया। 
  15. आवेदक रोशन पिता लक्ष्मण बाबुरिया नि. रम्भापुर मेघनगर मोबा. 9171662930, दिनांक-02.04.2018 को मेघनगर में कही गुम हो गया। 
  16. आवेदक बृजनंदन शर्मा प्राचार्य एवं बीईओ मेघनगर नि. रेल्वे फाटक के पास रम्भापुर रोड मेघनगर मोबा. 9981117083, दिनांक-03.04.2018 को मेघनगर में कही गुम हो गया। 
  17. आवेदक सुनील डामोर नि. रातीतलाई झाबुआ मोबा. 7089329842, दिनांक-05.04.2018 को झाबुआ से कही गुम हो गया। 
  18. आवेदक जितेन्द्र प्रसाद अग्निहोत्री नि. सुभाष मार्ग झाबुआ , दिनांक-14.08.2017 को झाबुआ से कही गुम हो गया। 
  19. आवेदक डाँ श्वेता जमरा प्रभारी अधीक्षक भू-अभिलेख झाबुआ मोबा. 8878861868, दिनांक-08.05.2018 को झाबुआ में कही गुम हो गया । 
  20. आवेदक शादिक उर्फ जुम्मा पिता गुलमोहम्मद खान नि. मौलाना आजाद मार्ग झाबुआ मोबा. 9755491498, दिनांक-06.10.2017 को झाबुआ से कही गुम हो गया। 
  21. आवेदक राकेश पिता बालू पिठवा नि. रानापुर , दिनांक-25.10.2017 को रानापुर में कही गुम हो गया । 
  22. आवेदक प्रेमसिंह रावत पिता सेफडिया रावत ग्राम बावडी खुर्द पो. उदयगढ तह. जोबट जि. अलीराजपुर मोबा. 7697383810, दिनांक-20.10.2017 को जोबट में कही गुम हो गया। 
  23. आवेदक गमना पिता हुकिया भूरिया नि. ढाढनिया मेघनगर झाबुआ मोबा. 8238347457, दिनांक-30.10.2017 को ग्राम ढाढनिया मेघनगर में कही गुम हो गया। 
  24. आवेदक मनुसिंह परमार नि. रामकृष्ण नगर के पीछे झाबुआ मोबा. 9713018502, दिनांक-17.11.2017 को रानापुर में कही गुम हो गया । 
  25. आवेदक अमित कुमार पिता मीणा नि. मेघनगर झाबुआ मोबा. 946000661, दिनांक-21.11.2017 को मेघनगर में कही गुम हो गया। 
  26. आवेदक आर्थन पिता सूर्यकांत व्यास नि. मेघनगर झाबुआ मोबा. 7879417077, दिनांक-23.11.2017 को मेघनगर में कही गुम हो गया। 
  27. आवेदक कविता कलेशिया नि. 332, चैतन्य मार्ग उदयपुरिया झाबुआ मोबा. 8518099077, दिनांक-26.12.2017 को झाबुआ से कही गुम हो गया।

Trending

[random][carousel1 autoplay]

More From Web

आपकी राय / आपके विचार .....

निष्पक्ष, और निडर पत्रकारिता समाज के उत्थान के लिए बहुत जरुरी है , उम्मीद करते है की आशा न्यूज़ समाचार पत्र भी निरंतर इस कर्त्तव्य पथ पर चलते हुए समाज को एक नई दिशा दिखायेगा , संपादक और पूरी टीम बधाई की पात्र है !- अंतर सिंह आर्य , पूर्व प्रभारी मंत्री Whatsapp Status Shel Silverstein Poems Facetime for PC Download

आशा न्यूज़ समाचार पत्र के शुरुवात पर हार्दिक बधाई , शुभकामनाये !!!!- निर्मला भूरिया , विधायक

जिले में समाचार पत्रो की भरमार है , सच को जनता के सामने लाना और समाज के विकास में योगदान समाचार पत्रो का प्रथम ध्येय होना चाहिए ... उम्मीद करते है की आशा न्यूज़ सच की कसौटी और समाज के उत्थान में एक अहम कड़ी बनकर उभरेगा - कांतिलाल भूरिया , सांसद

आशा न्यूज़ से में फेसबुक के माध्यम से लम्बे समय से जुड़ा हुआ हूँ , प्रकाशित खबरे निश्चित ही सच की कसौटी ओर आमजन के विकास के बीच एक अहम कड़ी है , आशा न्यूज़ की पूरी टीम बधाई की पात्र है .- शांतिलाल बिलवाल , विधायक झाबुआ

आशा न्यूज़ चैनल की शुरुवात पर बधाई , कुछ समय पूर्व प्रकाशित एक अंक पड़ा था तीखे तेवर , निडर पत्रकारिता इस न्यूज़ चैनल की प्रथम प्राथमिकता है जो प्रकाशित उस अंक में मुझे प्रतीत हुआ , नई शुरुवात के लिए बधाई और शुभकामनाये.- कलावती भूरिया , जिला पंचायत अध्यक्ष

मुझे झाबुआ आये कुछ ही समय हुआ है , अभी पिछले सप्ताह ही एक शासकीय स्कूल में भारी अनियमितता की जानकारी मुझे आशा न्यूज़ द्वारा मिली थी तब सम्बंधित अधिकारी को निर्देशित कर पुरे मामले को संज्ञान में लेने का निर्देश दिया गया था समाचार पत्रो का कर्त्तव्य आशा न्यूज़ द्वारा भली भाति निर्वहन किया जा रहा है निश्चित है की भविष्य में यह आशा न्यूज़ जिले के लिए अहम कड़ी बनकर उभरेगा !!- डॉ अरुणा गुप्ता , पूर्व कलेक्टर झाबुआ

Congratulations on the beginning of Asha Newspaper .... Sharp frown, fearless Journalism first Priority of the Newspaper . The Entire Team Deserves Congratulations... & heartly Best Wishes- कृष्णा वेणी देसावतु , पूर्व एसपी झाबुआ

आशा न्यूज़ का ताजा प्रकाशित अंक मैंने दो तीन पहले ही पड़ा था आशा न्यूज़ पर प्रकाशित खबरों की सामग्री अद्भुत है , समाज के हर एक पहलु धर्म , अपराध , राजनीती जैसी हर श्रेणी की खबरों को इस समाचार पत्र में बखूबी प्रस्तुत किया गया है जो पाठको और समाज के हर वर्ग के लोगो के लिए नितांत आवश्यक है , समाचार पत्र की नयी शुरुवात लिए बधाई !!- रचना भदौरिया , एडिशनल एसपी झाबुआ

महज़ ३ वर्ष के अल्प समय में आशा न्यूज़ समूचे प्रदेश का उभरता और अग्रणी समाचार पत्र के रूप में आम जन के सामने है , मुद्दा चाहे सामाजिक ,राजनैतिक , प्रशासनिक कुछ भी हो, हर एक खबर का पूरा कवरेज और सच को सामने लाने की अतुल्य क्षमता निश्चित ही आगामी दिनों में इस आशा न्यूज़ के लिए एक वरदान साबित होगी, संपादक और पूरी टीम को हृदय से आभार और शुभकामनाएँ !!- संजीव दुबे , निदेशक एसडी एकेडमी झाबुआ

Contact Form

Name

Email *

Message *

E-PAPER
Layout
Boxed Full
Boxed Background Image
Main Color
#007ABE
Powered by Blogger.