Articles by "cultural"

#Measles-Rubella 15 अगस्त 26 january 26 जनवरी abvp Administrative Admission-Alert b4 cinema balaji dhaam bhagoria bhagoria festival jhabua bjp cbse result cinema hall jhabua city crime cultural education election Epaper events Exclusive Famous Place Gallery gopal mandir jhabua Health and Medical jhabua jhabua crime Jhabua History Jobs Kadaknath matangi Meghnagar MISSING- ALERT Movie Review MPEB MPPSC National Body Building Championship India New Year NSUI petlawad politics post office ram sharnam jhabua Ranapur religious religious place Road Accident rotary club sd academy social sports thandla tourist place Video Visiting Place Women Jhabua अखिल भारतीय किन्नर सम्मेलन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद अखिल भारतीय साहित्य परिषद अंगूरी बनी अंगारा अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस अपराध अरोडा समाज अल्प विराम कार्यक्रम अवैध शराब आईसेक्ट आंगनवाड़ी आचार संहिता आजाद जयंती आदित्य पंचोली आदिवासी गुड़िया आनंद उत्सव आपकी सरकार आपके द्वार आबकारी विभाग आयुष्मान भारत योजना आरटीओं आर्ट आॅफ लिविंग शिविर आर्मी भर्ती आलेख आवंला नवमी आंवला नवमी आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक इनरव्हील क्लब ईद उत्कृष्ट सड़क उपचुनाव उमापति महादेव ऋषभदेव बावन जिनालय एकात्म यात्रा एजुकेट गर्ल्स एनएसयूआई एमपी पीएससी कड़कनाथ मुर्गा कन्या भोज कम्प्यूटर ऑपरेटर महासंघ कलाल समाज कलावती भूरिया कलेक्टर कलेक्टर कार्यालय कल्लाजी महाराज कवि सम्मेलन कांग्रेस कांतिलाल भूरिया कार्तिक पूर्णिमा कालिका माता मंदिर कालीदेवी कावड़ यात्रा किन्नर सम्मेलन कृषि कृषि महोत्सव कृषि विज्ञान केन्द्र झाबुआ केरोसीन कैथोलिक डायसिस झाबुआ कोरोना वायरस क्रिकेट टूर्नामेंट क्रिसमम क्षत्रिय महासभा खबरे अब तक खाद्य एवं औषधि विभाग खेडापति हनुमान मंदिर खेल गडवाड़ा गणगौर पर्व गणतंत्र दिवस गणेशोत्सव गर्मी गल पर्व गायत्री शक्तिपीठ गुड़िया कला झाबुआ गुड़ी पड़वा गेल झाबुआ गोपाल पुरस्कार गोपाल मंदिर झाबुआ गोपाष्टमी गोपेश्वर महादेव गोवर्धननाथ मंदिर गौशाला ग्रामीण बैंक घटनाए चक्काजाम चर्च चुनाव जन आशीर्वाद यात्रा जनसुनवाई जन्माष्टमी जय आदिवासी युवा संगठन जय बजरंग व्यायाम शाला जयस जवाहर नवोदय विद्यालय जिला चिकित्सालय जिला जेल जिला विकलांग केन्द्र झाबुआ जिला सहकारी बैंक जीवन ज्योति हॉस्पिटल जैन मुनि जैन सोश्यल गुुप ज्योतिष परामर्श शिविर झकनावदा झाबुआ झाबुआ इतिहास झाबुआ का राजा झाबुआ पर्व झाबुआ पुलिस झाबुआ रियासत झाबूआ झूलेलाल जयंती डाकघर डीआरपी लाईन तुलसी विवाह तेली समाज थांदला दशहरा दस्तक अभियान दिल से कार्यक्रम दीनदयाल उपाध्याय पुण्यतिथि दीपावली देवझिरी देवझिरी जैन तीर्थ धरना प्रदर्शन धारा 144 धार्मिक धार्मिक स्थल नक्षत्र वाटिका नगर परिषद नगरपालिका परिषद झाबुआ नरेंद्र मोदी नवरात्री नवरात्री चल समारोह नागरिकता संशोधन नि:शुल्क स्वास्थ्य मेगा शिविर निर्मला भूरिया निर्वाचन आयोग पथ संचलन परिवहन विभाग पर्यटन स्थल पल्स पोलियो अभियान पाक्सो एक्ट पारा पावर लिफ्टिंग पिटोल पीएचई विभाग पुण्यतिथि पेटलावद पेंशनर एसोसिएशन पैलेस गार्डन पोलीटेक्निक काॅलेज प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय प्रतिभा सम्मान सम्मारोह प्रतियोगी परीक्षा प्रधानमंत्री आवास योजना प्रशासनिक फुटतालाब फेंसी ड्रेस फ्लैग मार्च बजरंग दल बस स्टैंड बहादुर सागर तालाब बामनिया बारिश बाल कल्याण समिति बालिका सशक्तिकरण अभियान बेटी बचाओं अभियान बोहरा समाज ब्राह्राण समाज ब्लू व्हेल गेम भगोरिया पर्व भगोरिया मेला भगौरिया पर्व भजन संध्या भर्ती भागवत कथा भाजपा भारत निर्वाचन आयोग भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान भारतीय जीवन बीमा निगम भारतीय जैन संगठना भारतीय थल सेना भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा भावांतर योजना मध्यप्रदेश टूरिज्म अवार्ड मध्यप्रदेश पर्यटन विभाग मध्यप्रदेश बाल अधिकार संरक्षण आयोग मनकामेश्वर महादेव मनरेगा मल्टीप्लेक्स सिनेमा महात्मा गांधी महाशिवरात्रि महिला आयोग महिला एवं बाल विकास विभाग माछलिया घाट मिशन इन्द्रधनुष मीजल्स रूबेला मुख्यमंत्री उत्कृष्टता पुरस्कार मुख्यमंत्री कन्यादान योजना मुख्यमंत्री कप मुख्यमंत्री महिला सशक्तिकरण योजना मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चोहान मुस्लिम समाज मुहर्रम मूवी रिव्यु मेघनगर मेरे दीनदयाल सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता मैराथन दौड़ मोड़ ब्राह्मण समाज मोदी मोहल्ला मोहनखेड़ा यातायात युवा दिवस युवा शक्ति संगठन यूनीसेफ योग योग शिविर रक्तदान रंगपुरा रंगोली रतलाम राजगढ़ राजगढ नाका राजनेतिक राजपुत समाज राजवाडा चौक राज्यपाल राणापुर राम शरणम् झाबुआ रामशंकर चंचल रामा रायपुरिया राष्ट्रीय एकता दिवस राष्ट्रीय खेल दिवस राष्ट्रीय पोषण मिशन राष्ट्रीय बालरंग राष्ट्रीय बॉडी बिल्डिंग चैम्पियनशीप राष्ट्रीय मानवाधिकार राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ रेल्वे स्टेशन रोग निदान रोजगार मेला रोटरी क्लब लक्ष्मीनगर विकास समिति लाडली शिक्षा पर्व लॉक डाउन लोक सेवा केन्द्र लोकरंग लोकरंग शिविर वनवासी कल्याण परिषद वरदान नर्सिंग होम वर्ल्ड रिकॉर्ड वाटसएप विजय दिवस विद्युत प्रदाय विधायक विधायक शांतिलाल बिलवाल विश्व आदिवासी दिवस विश्व उपभोक्ता संरक्षण दिवस विश्व विकलांग दिवस विश्व हिन्दू परिषद वेटलिफ्टिंग वेलेंटाईन डे वैश्य महासम्मेलन व्यापारी प्रीमियर लीग शरद पूर्णिमा शहीद सैनिक शारदा विद्या मंदिर शासकीय महाविद्यालय झाबुआ शिक्षा शिवगंगा शिविर शौर्य दिवस श्रद्धांजलि सभा श्रावण सोमवार श्री गौड़ी पार्श्वनाथ जैन मंदिर सकल व्यापारी संघ संगीत सत्यसाई सेवा समिति सदभावना दौड संपादकीय सर्वब्राह्मण समाज साई मंदिर साज रंग झाबुआ सामाजिक सामूहिक सूर्य नमस्कार सारंगी सांसद सांस्कृतिक साहित्य सिंधी समाज सीपीसीटी परीक्षा सुर श्री स्थापना दिवस स्वच्छ भारत मिशन स्वतंत्रता दिवस हज हजरत दीदार शाह वली हनुमान जयंती हरितालिका तीज हरियाली अमावस्या हस्तशिल्प हाथीपावा हाथीपावा महोत्सव हिन्दू नववर्ष होर्डिग्स होली झाबुआ
Showing posts with label cultural. Show all posts

झाबुआ । कलेक्टर कार्यालय के समीप कलादीर्घा  (आजीविका भवन) के सामने हस्तशिल्प एवं क्राफ्ट मेला 1 मार्च से 8 मार्च तक प्रातः 7 से रात्री 9 बजे तक जिला प्रशासन द्वारा आयोजित किया जा रहा है। इस भव्य आयोजन में बाग  प्रिन्ट, महेष्वरी साडिया, बटीक प्रिंट, हस्तशिल्प पेटीकोट, गलसन, ज्वेलरी, खजुरपत्ता उत्पादन, आयुर्वेदिक जडी बुटी, जैविक सब्जी, डेबोटेटीव, तीर कमार ओैर फालिया, ग्रामोद्योग सामग्री राजस्थानी ड्रेस, ज्वेलरी बेहतरीन किस्म की उपलब्घ रहेगी। इसके अतिरिक्त यहां पर फुड जोन की व्यवस्था भी सुनिष्चित की गयी है। जहां पर दाल, पानिया, आइसक्रीम, पानी पुरी, चार, साबुदान खिचडी, पान की दुकान मीकी माउस, जम्पींग गेम उपलब्घ रहेगा।
Jhabua News- हस्तशिल्प एवं क्राफ्ट मेला 1 मार्च से 8 मार्च 2020 तक इस आयोजन में साय 7 बजे से 9 बजे तक प्रदेश के प्रसिद्ध मुकेश दरबार (बुरहानपुर) द्वारा आदिवासी नृत्य, अनमोल प्रयास ग्रुप झाबुआ का गीत एवं नाच का मंचन, गंगाराम भमल(थांदला) का आदिवासी नृत्य एवं नुक्कड नाटक प्रफुल्ल गेहलोत(देवास) द्वारा लोक नृत्य, मार्च नृत्य की बेहतरिन प्रस्तुती दी जावेगी। कलेक्टर प्रबल सिपाहा के निर्देश पर आयोजन को सफल बनाने के लिये विभागीय उत्कृष्ट प्रदर्शनी को भी स्थान दिया गया है। आयोजन हतु जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री संदीप शर्मा ने आयोजन को भवय बनाने के लिये आवष्यक निर्देश दिये गये है। इस हतु आयोजन के नोडल अधिकारी विरेन्द्र सिंह इस्के, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र एवं विशाल राय डीपीएम आजीविका परियोजना, श्रीमती सरोज पाटीदार, अभिलाश सोनी, जिला प्रबंधक इस आयोजन को मुर्त रूप देगे। 

झाबुआ। अमर शहीद चंद्रशेखर आज़ाद के शहादत दिवस पर संस्था लोकरंग और राष्ट्र जागरण मंच ने एक शाम आज़ाद के नाम कार्यक्रम का आयोजन स्थानीय आज़ाद चौक पर किया था। लोकरंग के कलाकारों  आज़ाद के जीवन के ऊपर नृत्य नाटिक की बेहतरीन प्रस्तुति दी।  आज़ाद के फौलादी इरादों की जीवंत करती इस नृत्य नाटिका में आज़ाद के जीवन के महत्वपूर्ण घटनाक्रम को संवाद और नृत्य के जरिये लोकरंग के कलाकारों ने प्रस्तुत किया था। अंतिम समय में जब आज़ाद के बाद आखिर गोली बची थी, वे भारत भूमि की माटी को नमन कर आत्म बलिदान करते हैं...नृत्य नाटिक के इस दृश्य ने लोगों के रोंगटे खड़ कर दिए , लोगों के महसूस किया कि 27 फरवरी 1931 को अलफ्रेंड पार्क प्रयागराज में क्या कुछ हुआ था । संस्था के कलाकार राहुल डामोर,महावीर परमार,ऋतिक नाडिया,सुरेश डामोर,यश त्रिवेदी,अल्फाज़ खान और अंकुर ने ये नृत्य नाटिका प्रस्तुत की थी ।
      कार्यक्रम की शुरूआत में आज़ाद को याद करते हुए माल्यार्पण और  क्रांति की प्रतीक मशाल का प्रज्जवलन किया गया । मशाल प्रज्जवलन आज़ाद के भक्त सत्यनाराणय राठौर ने किया । सत्यनारायण राठौर नियमित रूप से आज़ाद चौक पर आज़ाद प्रतिमा पर सेवा करते हैं, रोज प्रतिमा की सफाई करना और वहां पुष्प अर्पित करना उनकी दिनचर्चा का अहम हिस्सा है । इसके बाद कलाकार अन्नू भाबोर ने भाली बोली में आज़ाद को याद को करते हुए गीत के माध्यम से अपनी भावनाओं को कार्यक्रम में मौजूद लोगों के सामने रखा....आज़ाद के ऊपर लिखे उनके भीली गीत की लोगों ने मुक्त कंठ से प्रशंसा की ।

     कार्यक्रम में लोकरंग के कलाकारों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां दी...संस्था के कलाकार डॉली सोलंकी, शुभ जैन, दर्श ने वाद्य यंत्रों पर सारे जहां से अच्छा गीत की शानदार प्रस्तुति से लोगों का मन मोह लिया । देश ही धर्म है नृत्य भी संस्था के छोटे-छोटे कलाकारों ने प्रस्तुत किया और ये संदेश दिया कि हर भारतीय का धर्म केवल भारत देश है, ना कोई जाति है, ना कोई धर्म है...भारत देश ही हर भारतीय का धर्म है । नृत्य बाल कलाकार दर्शनी नायडू, सुदीप्ता नायडू, राशि बिलवाल प्रस्तुत किया था । कार्यक्रम में कवि भेरूसिंह तंरग ने अपना शानदार गीत प्रस्तुत किया तो वहीं शायर एज़ाज धारवी ने भी अपनी नज्म़ के जरिये आज़ाद को याद किया । कार्यक्रम में राष्ट्र जागरण मंच के नारायण सिंह ठाकुर ने भी अपने विचार रखे । मंचीय कार्यक्रम के बाद आज़ाद प्रेमी शहर के लोग हाथों में मशाल लेकर आज़ाद चौक से शहीद स्मारक विजय स्तंभ पहुंचे । झाबुआ नगर के का मुख्य बाजार वंदे मातरम्, भारत माता की जय और चंद्रशेखर आज़ाद अमर रहे के नारों से गूंज उठा । शहीद स्मारक पर आज़ाद समेत देश की स्वतंत्रता के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले शहीदों की याद में 2 मिनट का मौन रखकर उन्हें श्रृद्धाजंलि दी गई । मशाल जुलूस में बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक शामिल हुए थे, जिसमें महिलाएं भी शामिल हुई थी ।
        कार्यक्रम में बड़ी संख्या की शहर के युवाओं के साथ झाबुआ सामाजिक और साहितित्य जगत से जुड़े लोग और आम  नागरिक पहुंचे थे । कार्यक्रम में इतिहासकार के.के.त्रिवेदी, समाजसेवी विद्याराम शर्मा, साहित्यकार गणेश उपाध्याय,हर्ष भट्ट खासतौर पर मौजूद थे । कार्यक्रम को सफल बनाने में राष्ट्र जागरण मंच से सौरभ सोनी, राजीव शुक्ला,सुशील बाजपेयी,अंकित जैन,  हिमांशु त्रिवेदी,मनोज पांचाल,लोकरंग संस्था के प्रवेश उपाध्याय,दीपक दोहरे, विकास पांडे,कृष्णा कलानी,विपिन अडबालकर,आशीष पांडे और कलाकारों का विशेष सहयोग प्राप्त हुआ । कार्यक्रम के अंत में पधारे सभी आज़ाद प्रेमी जनता का और कार्यक्रम प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग करने वालों का आभार राष्ट्रजागरण मंच के आलोक कुमार द्विवेदी ने माना, कार्यक्रम का संचालन लोगरंग संस्था के वीरेन्द्र सिहं राठौर ने किया । 

Jhabua News- आज़ाद चौक से शहीद स्मारक तक निकाला मशाल जुलूस,लोगों ने याद किया अमर शहीद चंद्रशेखर आज़ाद को

Jhabua Samachar- आज़ाद चौक से शहीद स्मारक तक निकाला मशाल जुलूस,लोगों ने याद किया अमर शहीद चंद्रशेखर आज़ाद को


आज़ाद चौक से शहीद स्मारक तक निकाला मशाल जुलूस,लोगों ने याद किया अमर शहीद चंद्रशेखर आज़ाद को

आज़ाद चौक से शहीद स्मारक तक निकाला मशाल जुलूस,लोगों ने याद किया अमर शहीद चंद्रशेखर आज़ाद को

रात 12 बजे कैथोलिक चर्च प्रांगण में मनाया गया बालक येशूजी का जन्मोत्सव

झाबुआ। क्रिसमस पर्व पर 24 दिसंबर, मंगलवार देर शाम से शहर में  मेला लगा। मेले में झूले-चकरी उत्कृष्ट विद्यालय मैदान पर लगे, वहीं दुकाने उत्कृष्ट मैदान, सज्जन रोड़, जिला चिकित्सालय मार्ग, मेन बाजार, टाऊन हॉल परिसर एवं बस स्टेंड के पीछे भी कुछ दुकाने सजी। मेले में हजारों की संख्या में प्रथम दिन शहर के साथ विषेष रूप से र्ग्रामीण क्षेत्रों के महिला-पुरूष, युवा एवं बच्चो ने पहुंचकर जमकर आनंद लिया। रात 11.30 बजे से कैथोलिक चर्च प्रांगण में बालक येशु जी का जन्मोत्सव कार्यक्रम आरंभ हुआ। ठीक 12 बजे चर्च के घंटों के बीच फा. माईकल मकवाना से सैकड़ों की संख्या में उपस्थित इसाई समाजजनों को विशेष प्रार्थना करवाई।

उत्कृष्ट मैदान पर खचाखच भीड़

मेले में झूले-चकरी उत्कृष्ट विद्यालय मैदान पर सजने से यहां खचाखच भीड़ रहीं। प्रतिवर्ष राजस्थान से झाबुआ आकर झूले-चकरी लगाने वाले ठेकेदार गफफारभाई ने बताया कि उनके द्वारा मेला स्थल पर बड़ा झूला, नांव झूला बड़ा एवं छोटा, राकेट झूला, ब्रेक डांस, मौत का कुआं, आदिवासियों के प्रिय झूले के साथ बच्चों के लिए ट्रेन, जंपिंग झूला, एरोप्लेन, मोटरसाइ्रकिल, हाथी झूला, स्वीमिंग पुल आदि लगाए गएं। जादूई-शो 25 दिसंबर से आरंभ होगा, इन झूले-चकरियों का लोगों ने जमकर लुत्फ उठाया। दुकाने मैदान के साथ सज्जन रोड और जिला चिकित्सालय मार्ग श्रृंगार, कपड़ों, बच्चों के मनोरंजन, खिलौनों के साथ 50 से अधिक दुकाने सजी, जहां भी सैकड़ों लोगों ने पहुंचकर खरीददारी की।

रात 11 बजे से पुलिस ने बंद करवाना शुरू किए झूले एवं दुकाने

मेला स्थल उत्कृष्ट उमा विद्याल मैदान पर पुलिस थाना झाबुआ की ओर से थाना प्रभारी सुरेन्द्रसिंह गाड़रिया के नेतृत्व में पुलिस सहायता केंद्र भी स्थापित किया गया, ताकि किसी भी प्रकार की कोई घटना होने परतत्काल उससे निपटा जा सके। इसके साथ ही पूरे मेले में ही पुलिस की चॉक-चौबंद व्यवस्था दिखाई दी। चूंकि संपूर्ण देश के साथ झाबुआ शहर में भी धारा 144 लागू होने से पुलिस ने रात 11 बजे से मेले में झूले-चकरी एवं दुकाने बंद करवाना शुरू कर दी। इस तरह से करीब 12 बजे तक पूरे मेले को बंद करवा दिया गया।

बालक येशुजी की सजी सुंदर झांकी

जिला चिकित्सालय मार्ग चर्च परिसर के सामने ग्रामीणों के समूह ने, जिसमें विशेषकर युवाओं ने ढोल-मांदल पर जमकर नृत्य करते हुए कुर्राटियां मारी एवं क्रिमसस पर्व का उल्लास बिखरने के साथ खुशियां मनाई। वहीं चर्च परिसर के अंदर क्रिसमस की सुंदर झांकी भी सजी। जिसमें बालक येषूजी के जन्म का सुंदर चित्रण किया गया। सुंदर एवं विद्युत सज्जा से जगमगम झांकी के यहां सैकड़ों लोगों ने पहुंचकर दर्शन किए एवं झांकी को निहारा। रात 11.30 बजे से कैथोलिक चर्च प्रांगण में इसाई समाजजनों द्वारा बालक येशुजी का जन्मोत्सव मनाया गया। जिसके अंतर्गत सर्वप्रथम मुख्य फा. माईकल मकवाना, पीआरओ फा. रॉकी शाह एवं अन्य फादरगणों द्वारा मंच पर पहुंचकर जन्मोत्सव की विधि आरंभ की गई। फा. माईकल मकवाना ने बालक येशुजी के जन्म के संदेशो का अलग-अलग वाचन कर क्रिमसस पर्व के महत्व को भी प्रतिपादित किया। रात 12 बजे घंटे बजने के साथ विशेष प्रार्थना हुई। प्रार्थना बाद सभी को परम प्रसाद का वितरण किया गया। बाद गोैशाला सजाओं प्रतियोगिता में विजेता रहे समाज के लोगों का शाल ओढ़ाकर सम्मान किया। सभी के प्रति आभार फा. प्रताप बारिया ने माना। इस दौरान पूरा चर्च परिसर आकर्षक विद्युत सज्जा से भी जगमग हुआ.

Jhabua News-क्रिसमम मेले में हजारों लोगों ने लिया झूले-चकरी का आनंद, सजी दुकानों पर की जमकर खरीददारी Crismas jhabuaक्रिसमम मेले में हजारों लोगों ने लिया झूले-चकरी का आनंद, सजी दुकानों पर की जमकर खरीददारी
क्रिसमम मेले में हजारों लोगों ने लिया झूले-चकरी का आनंद, सजी दुकानों पर की जमकर खरीददारी

क्रिसमम मेले में हजारों लोगों ने लिया झूले-चकरी का आनंद, सजी दुकानों पर की जमकर खरीददारी

क्रिसमम मेले में हजारों लोगों ने लिया झूले-चकरी का आनंद, सजी दुकानों पर की जमकर खरीददारी


झाबुआ। 16 दिसंबर की तारीख आते ही हर भारतीय को साल 1971 याद आ जाता है। यह वही तारीख जब भारत और पाकिस्तान युद्ध में भारत की सबसे बड़ी जीत हुई थी। 3 दिसंबर को पाकिस्तान ने भारत के 11 एयरफील्ड्स पर हमला किया था। इसके बाद यह युद्ध शुरू हुआ और महज 13 दिन में भारतीय जांबाजों ने पाकिस्तान को खदेड़ दिया था। इस युद्ध में भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सेना को धूल चटा दिया था। इस दौरान भारत ने करीब 1 लाख युद्ध के कैदी पकड़े थे और बांग्लादेश को पाकिस्तान से आजाद करा दिया था। इसके बाद एक नया देश बांग्लादेश बना। भारत में हर साल 16 दिसंबर का दिन विजय दिवस का रूप में मनाया जाता है। 
       विजय दिवस के उपलक्ष्य में सदभावना दौड का भी आयोजन किया गया है। यह विजय दौड राजवाडा चौक पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती शांति राजेश डामोर, अपर कलेक्टर एसपीएस चौहान एवं श्रीमती आयशा कुरैशी ने हरी झंडी देकर रवाना किया। यह रैली सायं 5 बजे प्रारंभ होकर मैन बाजार होते हुवे बस स्टेड से विजय स्तम्भ टाउन हॉल पर समाप्त हुई। इस दौड में खिलाडी, छात्र-छात्राओं, एनसीसी, एनएसएस,नेहरू युवा केन्द, अर्द्धशासकीय, एनजीओ, अधिकारी,कर्मचारी रैली में सम्मिलित हुए। टाउन हाल पर इस रैली को महेन्द्र खुराना एवं श्रीमती आयशा कुरैशी ने सम्बोधित किया। अपने सम्बोधन में बताया गया कि वर्ष 1971 में पाकिस्तान को शिकस्त देने वाले हमारे वीर जवानो की बहादूरी एवं उनके युद्व कौशल के बारे में अवगत कराया। इस विजय दौड में देश भक्ति नारो के साथ जय घोष किया गया। इसका समन्वय श्रीमती आयशा कुरैशी , महेन्द्र खुराना, कुलदीप धबाई एवं योगेश गुप्ता द्वारा किया गया।

Jhabua News-विजय दिवस पर सद्भावना दौड आयोजित






सभी को मध्यप्रदेश के विकास का संकल्प दिलाया

   झाबुआ। मध्यप्रदेश स्थापना दिवस के अवसर पर डीआरपी लाईन पुलिस परेड ग्राउण्ड झाबुआ में आयोजित कार्यक्रम में रंग-बिरंगी ड्रेसेस पहने विभिन्न स्कूलों के विद्यार्थियों ने देश भक्ति गीत एवं जिले की संस्कृति को प्रदर्शित करते हुए गीतों पर नृत्य किया। प्रातः 11 बजे कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रभारी मंत्री एवं नर्मदा घाटी विकास एवं पर्यटन विभाग मंत्री मध्यप्रदेश शासन सुरेन्द्रसिह बघेल ने ध्वजारोहण किया। तत्पष्चात प्रभारी मंत्री सुरेन्द्रसिह बघेल ने मुख्य मंत्री के संदेश का वाचन किया। रंग-बिरंगे गुब्बारे आकाश में छोडे गये। समारोह में स्कूली विद्यार्थियों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों का प्रदर्शन किया गया। समारोह के अन्त में विभिन्न विभागों के उत्कृष्ट कार्य करने वाले शासकीय सेवकों विधार्थियो, समारोह में प्रदर्शनकरने वाले एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों को पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम का संचालन लोकेन्द्र चौहान हरिश कुण्डल एवं डाॅ. गीता दुबे द्वारा किया गया.
         कार्यक्रम में विधायक पेटलावद वालसिंह मेडा, कलेक्टर प्रबल सिपाहा, पुलिस अधीक्षक विनीत जैन, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत संदीप शर्मा, जिला पंचायत अध्यक्ष शांति डामोर, झाबुआ नगर पालिका अध्यक्ष मन्नू डोडियार, सभी विभागों के शासकीय सेवक जनप्रतिनिधिगण, बडी संख्या में विद्यार्थी एवं नागरिक गण उपस्थित थे। कार्यक्रम में प्रभारी मंत्री श्री बघेल ने प्रदेश के विकास के लिए संकल्प दिलाया।  

Jhabua News-म.प्र. स्थापना दिवस पर प्रभारी मंत्री सुरेन्द्र सिंह बघेल ने किया ध्वजारोहण





[left-side]

झाबुआ। शहर के राधाकृष्ण मार्ग में रहने वाले युवा पुनित संजय सकलेचा ने दीपावली पर्व पर अपने घर के आंगन में ‘झाबुआ का राजवाड़ा महल’ की रंगोली बनाकर उसमें राजा-महाराजाओं के समय से चली आ रहीं भगोरिया परंपरा को भी प्रतिपादित किया।  पुनित सकलेचा ने बताया कि वे पिछले 10 सालों से देश की अलग-अलग थीम पर रांगोली बनाते आ रहे है। इस दीपावली पर उन्होंने ‘झाबुआ के राजवाडा महल’ का रंगोली के माध्यम से चित्रांकन किया। हूबहू राजवाड़ा महल बनाकर महल के ऊपर दीपावली का जष्न और भगोरिया की खुशी में मांदल बजाता आदिवासी तथा झूले चकरी दिखाकर ऐतिहासिक परंपराओं की ओर लोगों को ध्यान आकर्षित करने के लिए रंगोली का निर्माण किया।  
रंगोली के साथ ली सेल्फी
पुनित ने बताया कि उनके द्वारा यह रंगोली करीब 5 घंटे में तैयार की गई।  रंगोली का शीर्षक उन्होंने ‘झाबुआ का गौरव’ दिया। पुनित ने रांगोली बनाने के बाद  रंगोली के साथ अपनी सेल्फी भी ली। जिसे सोष्यल मीडिया पर उन्होंने अपने मित्रोको शेयर किया। पुनित समय-समय पर ऐसे रचनात्क कार्य अपनी रूचि अनुसार करते रहते है।

Jhabua News-दीपावली पर बनाई झाबुआ के राजवाड़ा की रांगोली, भगोरिया परंपरा को भी किया प्रतिपादित

स्वातंत्र्य वीर सावरकर की रंगोली बना कर दिया सन्देश 

झाबुआ। अंग्रेजो को देश से खदेड़ने के लिए नेताजी सुभाषचन्द्र बोस और क्रांतिकारी अमर शहीद भगतसिंह सहित अनेक क्रांतिकारियों के योगदान को देश आज भी याद करता है। नेताजी सहित अनेक क्रांतिकारियों ने जिनसे प्रेरणा प्राप्त की ऐसे स्वातंत्र्यवीर , वीर सावरकर जी को लेकर आज देश भर में चर्चाओ का दौर जारी है। ऐसे में नगर के गोपाल कॉलोनी निवासी कलाकार अंबरीष भावसार ने घर आंगन में वीर सावरकर के चित्र को एक बड़ी रंगोली के रूप में उकेर कर अपनी अभिव्यक्ति दी। कलाकार अम्बरीष भावसार ने रंगोली के बारे में बताते हुए कहा कि अंग्रेजो से लड़ाई में जो एक बार भी जेल नहीं गए और आजादी की लड़ाई में जिनका कोई उल्लेखनीय योगदान नहीं रहा। ऐसे लोगो को भी आजादी के तत्काल बाद भारत रत्न जैसे सर्वोच्च पुरुस्कार दिए गए जबकि आजादी के लिए बरसो बरस जिन्होंने काला पानी की कठोर यातनाए सही ऐसे क्रांतिकारियों के भी प्रेरणा पुरुष वीर सावरकर जी को भारत रत्न , आजादी के तत्काल बाद ही देकर सम्मानित किया जाना चाहिए था।
       यह देश का दुर्भाग्य की आज भी जब उन्हें भारत रत्न देने के प्रयास किए जा रहे हैं। ऐसे में भी भारत विरोधी मानसिकता के लोग इस बात का विरोध करते नजर आते हैं। बस इसी विषय को जन - जन तक पहुँचाने के उद्देश्य को लेकर घर आँगन में रंगोली बनाई हैं। गौरतलब हैं कलाकार अंबरीष भावसार प्रतिवर्ष दीपावली के अवसर विषय विशेष को लेकर रंगोली बनाते हैं। उनकी रंगोली की अनेक कला साधकों ने मुक्त कंठ से सराहा।


गौ-वर्धन दिवस पर पर गौ-माता सरंक्षण की बनाई रांगोली 

झाबुआ। आल  मीडिया जैन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के मप्र उपाध्यक्ष एवं जिले के झकनावदा निवासी मनीष कुमट ने दीपावली पर्व के अगले दिन आने वाले गौवर्धन दिवस पर गौ-माता के संरक्षण संबंधी रांगोली बनाकर गौ-माता को राष्ट्रीय माता का दर्जा दिया जिसकी झकनावदा के लोगों ने प्रशंसाकी। झकनावदा निवासी मनीष कुमट ने बताया कि उन्होंने गौवर्धन दिवस पर सुबह जीवदया के प्रेम को प्रकट करती रांगोली उकेरी। जिसमें सुंदर गौ-माता के चित्र के साथ ही मटकी बनाकर जीव दया ही सर्वोपरि है का संदेश दिया, रांगोली के नीचे आईजा परिवार लिखा। यह रांगोली बनाने में उन्हें करीब आधे घंटे का समय लगा।

झाबुआ : असत्य पर सत्य की जीत के पर्व विजयादशमी की शाम मंगलवार को राणापुर रोड स्थित बिलीडोज मैदान पर 51 फीट के रावण का दहन किया गया। कालिका माता मंदिर परिसर से विजय जुलूस निकला । इसमें राम-लक्ष्मण और हनुमान का रूप धरे कलाकार शामिल रहे। जुलूस के मैदान में पहुंचते ही जय जय श्री राम और धर्म की जय हो अधर्म का नाश हो के नारों से पूरा मैदान गूँज उठा. डेढ़ घंटे से अधिक समय तक चलती आतिशबाज़ी ने पुरे शहर का माहौल रंगीन कर दिया।
ये परंपरा शहर में 369 साल से अनवरत जारी है...
इतिहासविद डॉ. केके त्रिवेदी  के अनुसार झाबुआ में रावण दहन की परंपरा 1648 में शुरू हुई थी। राठौर वंश के तीसरे शासक माहसिंह ने बदनावर से राजधानी स्थानांतरित कर झाबुआ को राजधानी बनाया था। उन्होंने पहली बार झाबुआ में दशहरा मैदान पर रावण दहन की परंपरा शुरू की। तब से अब तक विजय के प्रतीक पर्व दशहरे पर रावण दहन हो रहा है। इसी कड़ी में मंगलवार को रावण दहन हुआ । इस दौरान आतिशबाजी आकर्षण का केंद्र रही । 
       नगरपालिका ने आतिशबाजी का कार्य देवास के कलाकारों को दिया वही रावण का पुतला थांदला से कलाकारों से बनवाया । शाम 5:30 बजे से आतिशबाज़ी शुरू हुई जो रावण दहन के समय तक चलती रही। सोमवार को ढांचा बनकर तैयार हो गया। आसपास के हजारों वनवासियों के आयोजन में शामिल होने के चलते रावण के पुतले से 100 मीटर क्षेत्र में बेरिकेड्स लगाए गए।

Jhabua News- Jhabua Rawan Dahan Dahsehra -आतिशबाजी के साथ हुआ बुराई के प्रतीक रावण का दहन दशहरा झाबुआ











यहाँ 39 साल से हो रहा दहन
       गोपाल कॉलोनी में रहने वाले त्रिवेदी परिवार द्वारा 39 वर्षों से रावण दहन कार्यक्रम किया जा रहा हैं। ये परंपरा अभी तक नहीं टूटी है। इसे उन लोगों ने अपनी युवावस्था में शुरू किया था, जो अब बुजुर्ग हो चुके हैं। अब जिम्मेदारी नई पीढ़ी ने उठा ली। त्रिवेदी परिवार का ये रावण ऊंचाई तो 10 फीट के लगभग होता है, लेकिन इसकी सुंदरता निहारने शहर से कई लोग आते हैं। मंगलवार की शाम भी रावण दहन किया गया। रावण दहन को देखने के लिए कॉलोनी के साथ-साथ अन्य स्थानों से भी लोग आए। 


आता है 5 से 8 हजार रुपए खर्च
त्रिवेदी परिवार के अश्विन त्रिवेदी द्वारा पिछले 15 वर्षों से इस कार्य को किया जा रहा है । अश्विन ने बताया, कि रावण बनाने पर 5 से 8 हजार रुपए खर्च आता है। अश्विन ने बताया की शुरुवात में बड़े पिताजी श्री राम प्रसाद त्रिवेदी द्वारा रावण दहन का कार्य शुरू किया गया था , उनके द्वारा सतत कई वर्षो तक इस कार्य को किया गया , पिछले 15 वर्षो से में और मेरे अनुज राहुल, मनीष, भावेश द्वारा उनके इस दायित्व को आगे बढ़ाते हुए इस कार्य को किया जा रहा है । 
बढ़ती जा रही भीड़
      गोपाल कॉलोनी के इस रावण के दहन को देखने के लिए साल दर साल लोगों की संख्या बढ़ती जा रही है। दरअसल यहां आकर्षक आतिशबाजी होती है। साथ ही दहन का समय मुख्य आयोजन के बाद का होता है। यहां कॉलोनी के लोग तो एकत्रित होते ही हैं। दहन देखकर शहर लौटने वाले लोग भी रुककर कार्यक्रम देखते हैं। पिछले साल रावण दहन के समय डेढ़ हजार से ज्यादा लोग थे।

आतिशबाजी के साथ हुआ बुराई के प्रतीक रावण का दहन- अश्विन त्रिवेदी द्वारा रावण दहन jhabua-dashehra
 अश्विन त्रिवेदी द्वारा बनाया गया रावण 

झाबुआ। झाबुआ रियासत के महाराजा श्रीमंत नरेन्द्रसिंह जी को वर्ल्ड बुक आफ रेकार्ड्स द्वारा गुड विल एम्बेसेडर नामीनेट किये जाने पर झाबुआ नगर ही नही पूरे जिले एवं प्रदेश  को र्गारवान्वित किया है । श्रीमंत नरेन्द्रसिंहजी अत्यन्त ही मिलनसार होकर धार्मिक, समााजिक, एव जन कल्याण के क्षेत्र में बरसों से जुडे हुए है । 

Jhabua News- Jhabua Prince Maharaja Narendra Singh-महाराजा नरेन्द्रसिंहजी को वर्ल्ड बुक आफ रेकार्ड्स ने गुडविल एम्बेसेडर नामांकित किया    श्रीमंत नरेन्द्रसिंह को मिली इस सम्मान एवं उपलब्धि पर नगर की विभिन्न सामाजिक संस्थाओं की ओर से 5 अक्टूबर शनिवार को सांय काल 6 बजे पैलेस गार्डन पर भव्य रूप  से सम्मानित किया जाकर उन्हे बधाईया दी जावेगी ।   
     पैलेस के हाउस होल्ड आफीसर नानालाल कोठारी ने बताया कि  श्रीमती नरेन्द्रसिंह जी ने आदिवासी अंचल में धर्म जागरूकता के साथ ही सामाजिक एवं सेवा क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए जन जन की आस्था को संबल प्रदान किया है । श्री कोठारी ने  समाज सेवियों एवं गणमान्यजनों, नागरिकों से इस समान समारोह में उपस्थित रहने की अपील की है । 




महाराजा नरेन्द्रसिंहजी को वर्ल्ड बुक आफ रेकार्ड्स ने गुडविल एम्बेसेडर नामांकित किया

बम्बई के ढोलताशा, गुजरात के कलाकार एवं आदिवासी नर्तक दलों ने नगर में अपनी कला का प्रदर्शन किया 

चल समारोह  का नगर मे जगह जगह हुआ आत्मीय स्वागत

झाबुआ।  नगर के हृदय स्थल राजवाडा चौक पर प्रातः 10 बजे से ही मातारानी के जय जय कारों के साथ पूरा वातावरण मातामय हो गया ।राजवाडा मित्र मंडल झाबुआ द्वारा श्री देवधर्मराज मंदिर पर प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी 34 वां नवरात्री महोत्सव का आगाज धुमधाम से हुआ । राजवाडा मित्र मंडल के संरक्षक बृजेन्द्र शर्मा चुन्नु भैया के नेतृत्व में प्रातः 10-30 बजे से मातारानी की भव्य शोभायात्रा  निकाली गई नवरात्री महोत्सव की महिला सरंक्षक शोभना शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि इस शोभायात्रा में नगर के सभी समाजों, वर्गो के लोगों ने भाग लिया । उद्योगपति राजू नायक, विद्याधर जोशी, जिला भाजपा अध्यक्ष ओम प्रकाश शर्मा, जितेन्द्र पटेल, देवेन्द्र चैहान, संजय कटकानी, लाखन सोलंकी, गोपाल नीमा, पंकज चैधरी, दीपक भंडारी, भावेश सहित नगर के बडी संख्या में लोंगों ने  शोभायात्रा में सहभागिता की ।
      राजवाडा चौक पर लम्बोदर ढोल ताशा पार्टी मुंबई के करीब 50 महिला एवं पुरूष कलाकारों ने एक साथ समवेतरूप  से ढोल पर अदभुद एवं कर्णप्रिय धुने बजाकर तथा ध्वज लहराते हुए  अपनी कला का प्रदर्शन किया । शोभायात्रा में सबसे आगे जोबट की भगोरिया आदिवासी नर्तदल के 50 महिला एवं पुरूष कलाकार पारम्परिक वाद्य यंत्रों पर अपनी आदिवासी संस्कृति का नुमाइश करते हुए तथा नृत्य करते हुए चल रहे थे । इनके नृत्य को देख कर नगरवासियों ने इनकी कला की प्रसंशा की । इसके पीछे बेंड बाजों पर माता रानी के भजनों के कर्ण प्रिय संगीत ने पूरे नगर को मातामय कर दिया । इसके पीछे अहमदाबाद गु1ध्  जरात की गरबा पार्टी के 50 से अधिक सदस्य गरबों की संगीत मय प्रस्तुति देकर अपनी कला का प्रदर्शन कर रहे थे । इसके पीछे विशान घंट नाद के साथ ही मुम्बइ्र से आई ढोल ताशा पाटी जिसमें छोटे बच्चों, महिलाओं सहित पुरूष कलाकार अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर रहे थे । इसके बाद विशाल जन समुह का नेतृत्व चुन्नु भाई शर्मा, राजू नायक, विद्याधर जोशी, सहित राजवाडा मित्र मंडल के सदस्यगण कर रहे  थे । 
     नेहरू मार्ग पर जेैसे ही जुलुस पहूंचा जगह जगह पुष्प वर्षा की गई तथा राजवाडा मित्र मंडल के सभी पदाधिकारियों का आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट के राजेश नागर, सुधीर कुश्वाह द्वारा, आजाद साहित्य परिषद द्वारा डा. के के त्रिवेदी, प्रवी सोनी, पीडी रायपुरिया द्वारा स्वागत किया गया । वही चारभूजा चौराहे पर करणी सेना राजपुत मंडल द्वारा रविराजराज राठौर के नेतृत्व में पुष्पमालाओं से स्वागत किया, श्री गोवर्धननाथ जी की हवेली पर दिलीप आचाय्र, रमेश त्रिवेदी, राधेश्याम पटेल, हरिश शाह,, आदि ने पुष्पमालाओं एवं दुपट्टा पहिनाकर स्वागत किया । आजाद चौक भी व्यापारियों ने जुलुस का पुष्पवर्षा कर भव्य स्वागत किया । बाबेल चौराहे पर बोहरा समाज के शब्बीरभाई, बाबेल परिवार, कनकमल कटकानी परिवार की ओर से स्वागत किया गया । थांदला गेट पर पेंशनर्स एसोसिएशन की ओर से रतनसिंह राठौर, एमसी गुप्ता, बाल मुकुन्दसिंह, राजेन्द्र कुमार सोनी सहित बडी संख्या में उपस्थित पेंशनरों ने शोभायात्रा एव्रं आयोजकों का पुष्पमाला एवं शाल श्रीफल से स्वागत किया ।नगर के विभिन्न चौराहों पर चल समारोह मे शामील कलाकारों को कुल्फी, एवं निंबु रस, आदि का भी वितरण व्यापारियों क्षरा किया गया । बोहरा समाज ने भी जुलुस का स्वागत गर्मजोशी से किया ।
     नगर के राधाकृष्ण मार्ग,जैन मंदिर चौराहा, लक्ष्मीबाई मार्ग में भी जगह जगह स्वागत का क्रम जारी रहा । विशाल चल समारोह नगर के आजाद चौक पर पहूंचा जहां बेंड बाजों की कर्णप्रिय धुन एवं मातारानी के जय जय कारों के साथ श्री देवधर्मराज मंदिर में मातारानी की विशाल प्रतिमा का विधि विधान एवं मंत्रोच्चार के साथ स्थापना की गई तथा महा मंगल आरती एवं प्रसादी का वितरण किया गया । राजवाडा मित्र मंडल द्वारा आज से राजवाडा चौक पर गुजराती परिवेश में आकर्षक परिधानों में गुजरात अहमदाबाद के 50 कलाकारों सहित नगर के युवा, महिलाओं, बच्चों द्वारा गराबों में सहभागिता की जावेगी । पूरा राजवाडा चौक रविवार से माता रानी की आराधना में गरबों के माध्यम से  अपनी भक्ति भावना को प्रवाहित करेगा ।

Jhabua News-राजवाडा मित्र मंडल के बैनर तले निकला मातारानी का भव्य चल समारोह

Jhabua News-राजवाडा मित्र मंडल के बैनर तले निकला मातारानी का भव्य चल समारोह
Jhabua News-राजवाडा मित्र मंडल के बैनर तले निकला मातारानी का भव्य चल समारोह

Jhabua News-राजवाडा मित्र मंडल के बैनर तले निकला मातारानी का भव्य चल समारोह

Jhabua News-राजवाडा मित्र मंडल के बैनर तले निकला मातारानी का भव्य चल समारोह
Jhabua News-राजवाडा मित्र मंडल के बैनर तले निकला मातारानी का भव्य चल समारोह



गायकी में प्रतिभागियों ने दिखाया अपना हुनर 

5 प्रतिभागी हुए चयनित 

झाबुआ। रोटरी क्लब स्मार्ट सिटी भोपाल के वरिष्ठ रोटेरिन असीम जिंदल के मार्गदर्शन में संपूर्ण देश में आयोजित एकल गायन प्रतियोगिता ‘सुर श्री 2019’ में पार्टिसिपेट हेतु रोटरी क्लब ‘मेन’ झाबुआ द्वारा चयन (आडिशन) का आयोजन दोपहर 12 बजे से स्थानीय सिद्धेष्वर काॅलोनी स्थित रोटरी सदन में रखा गया। जिसमें स्कूल एवं काॅलेज स्तर पर प्रतिभागियों ने हिस्सा लेकर गायकी में अपना हुनर दिखाया। कुल 20 प्रतिभागियो में से 5 प्रतिभागी चयनित हुए। आडिशन के समापन पर सभी प्रतियोगियो को प्रमाण-पत्र भी प्रदान किए गए।  
           प्रतियोगिता के शुभारंभ अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में वरिष्ठ रोटेरियन यशवंत भंडारी, उमंग सक्सेना, मगनलाल गादिया, अमितसिंह जादौन (यादव), संस्कार भारती एवं बबलू संगीत कला की अध्यक्ष श्रीमती भारती सोनी ने मां सरस्वतीजी के चित्र पर दीप प्रज्जवलन कर आडिशन का शुभारंभ किया। सभी मंचासीन अतिथियों का स्वागत रोटरी क्लब ‘मेन’ सचिव मनोज अरोरा ने किया। बाद अतिथि उद्बोधन में वरिष्ठ रोटेरियन श्री भंडारी ने कहा कि झाबुआ में गायन में प्रतिभाऔ की कोई कमी नहीं है, वर्तमान में झाबुआ में कई बालक-बालिकाएं ऐसे है, जो गायन विद्या में अपना सर्वश्रेष्ठ पराफारमेंस कर ना केवल मप्र अपितु देश में भी अपनी उक्त कला का प्रदर्शन कर परिवार समाज तथा क्षेत्र का नाम रोशन कर सकते है, आज उन्हें तरासने के लिए तीन गायकी के प्रशिक्षक निर्णायक हमारे बीच मौजूद है, जो प्रतिभागियों की गायकी का हुनर दिखने के बाद उनका चयन करेंगे।
पिछले वर्ष भी किया गया सूर-श्री काॅम्पीटिशन
रोटरी मंडल 3040 के डिस्ट्रीक्ट सचिव उमंग सक्सेना ने बताया कि पिछले वर्ष भी संपूर्ण देश में सूर-श्री काॅम्पीटशन का आयोजन भोपाल स्मार्ट सिटी के वरिष्ठ रोटेरियन असीम जिंदल के मार्गदर्शन में रखा गया था। इस वर्ष भी यह राष्ट्रीय स्तर पर का आयोजन उनके मार्गदर्शन में हो रहा हे। जिसका उद्देष्य देश भर में बालक-बालिकाओ को गायकी में अपना हुनर दिखाने के अवसर प्रदान करने के साथ ही उन्हें उचित मंच दिलाना भी है।
फिनाले का प्रथम पुरस्कार 5 लाख रू.
संचालन करते हुए रोटरी क्लब ‘मेन’  अध्यक्ष हिमांशु त्रिवेदी ने बताया कि यह गायन आडिशन आज झाबुआ के लिए आयोजित किया गया। आगामी 2 अक्टूबर को रोटरी क्लब झोन का आडिशन होगा। बाद सूरश्री-2019 का सेमीफायनल मप्र की राजनधानी भोपाल में एवं बाद फिनाले काॅम्पिटिशन इंदोर में होना है। सूरी-श्री-2019 का फिनाले का प्रथम पुरस्कार 5 लाख रू. रखा गया है। इसके अलावा अन्य कई पुरस्कार एवं उपहार भी प्रदान किए जाएंगे। 
20 प्रतिभागियों ने लिया हिस्सा
बाद आडिशन में झाबुआ के कुल 20 प्रतिभागियों ने हिस्सा लेकर गायकी में अपना हुनर दिखाया। 15 से 21 वर्ष तक के प्रतिभागियों ने फिल्मी, देशभक्ति गीतों पर अपनी प्रस्तुति दी। प्रतियोगिता के निर्णायक शेलेन्द्रसिंह राठौर, एमके खुराना एवं युवा विपुल सारोलकर रहे। जिन्होंने प्रतिभागियों की परमफारमेंस देखने के बाद उन्हें आवष्यक मार्गदर्शन भी दिया। 
ये प्रतिभागी हुए चयनित
चयन प्रतियोगिता में प्रथम निहाली चैहान, द्वितीय अर्जुन त्रिवेदी, तृतीय निलेश गणावा खच्चर टोड़ी, चौथे नंबर पर वैष्णवी बारोट एवं पांचवे नंबर पर विष्वास शाह रहे। चयनित प्रतिभागियों के साथ अन्य सभी प्रतिभागियों को समापन पर अतिथियों द्वारा प्रमाण-पत्र प्रदान किए गए। चयनित प्रतिभागी अब जोन स्तर होने वाली प्रतियोगिता में हिस्सा लेंगे। इस अवसर पर वरिष्ठ अभिभावक स्वपनिल सक्सेना, रोटरेक्ट क्लब सचिव दौलत गोलानी, रोटरी क्लब के पूर्व कार्यवाहक सचिव राकेश पोतदार, मुकेश बुंदेला, भूपेश सिंगोड़ आदि सहित प्रतिभागी एवं उनके अभिभावकगण उपस्थित थे। अंत में आभार रोटरी क्लब ‘मेन’ सचिव मनोज अरोरा ने माना।

Jhabua News-रोटरी क्लब द्वारा एकल गायन प्रतियोगिता ‘सूर श्री-2019’ के आडिशन संपंन्न

Jhabua News-रोटरी क्लब द्वारा एकल गायन प्रतियोगिता ‘सूर श्री-2019’ के आडिशन संपंन्न

शारदा ऑफ एजुकेशन द्वारा आयोजित हुआ अनूठा कार्यक्रम 

झाबुआ। जन्माष्टमी की पूर्व संध्या पर झाबुआ का राजवाड़ा चौक 1111 कृष्ण से सरोबार दिखाई दिया। पूरा नगर जहां तीन वर्ष से लेकर पंद्रह वर्ष तक कृष्ण बने बच्चों को देखकर आल्हादित था, वहीं झाबुआ ने विश्व स्तर पर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड संस्था के प्रतिनिधि मनीष विश्नोई की उपस्थिति में इस ऐतिहासिक पल को नगर के इतिहास में दर्ज करवाया । इस आयोजन में विश्व में अनूठे एवं भव्य आयोजन को दर्ज कराने में शारदा ग्रुप ऑफ एजुकेशन के द्वारा आयोजित इस धार्मिक एवं मनोहारी कार्यक्रम में अपना स्थान बनाने में कामयाबी हासिल की।  दोपहर 3 बजे से प्रारंभ हुए इस कार्यक्रम में नन्हे मुन्ने बच्चे राजवाड़ा चौक में कृष्ण रूप में तैयार किये गए।  
      रोटरी में बनाई गई लाईन पर पंक्तिबद्ध कृष्ण स्वरूप में विभिन्न वेशभूषा एवं मेकअप में एकत्रित होकर दिखाई दिए। कार्यक्रम के दौरान स्कूली बच्चो ने राधा कृष्ण एवं गोपियों की भूमिका में संगीतमय नृत्य की प्रस्तुति दी जिससे पुरा राजवाड़ा चौक तालियो से से गुंजायमान हो गया। पुरा माहौल कृष्ण के स्वरूप से भक्तिमय हो गया तथा श्रीकृष्ण के जयकारों से गूंज उठा। इस अवसर पर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड संस्था के प्रतिनिधि डॉ. मनीष विश्नोई मुंबई , शिवगंगा के प्रमुख पद्मश्री महेश शर्मा, इतिहासविद डॉ केके त्रिवेदी सहित नगर के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। आयोजन स्थल पर बडी संख्या में महिला एवं पुरूष कार्यक्रम को देखने उपस्थित रहे। 
Jhabua Sharda Group of Education Students enter Krishna's name in Guinness Book of World Records-गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में बच्चों ने कृष्ण बन अपना नाम दर्ज कराया

Jhabua news- Sharda Group of Education Students enter Krishna's name in Guinness Book of World Records-गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में बच्चों ने कृष्ण बन अपना नाम दर्ज कराया Jhabua news- Sharda Group of Education Students enter Krishna's name in Guinness Book of World Records-गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में बच्चों ने कृष्ण बन अपना नाम दर्ज कराया

Jhabua news- Sharda Group of Education Students enter Krishna's name in Guinness Book of World Records-गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में बच्चों ने कृष्ण बन अपना नाम दर्ज कराया

Jhabua news- Sharda Group of Education Students enter Krishna's name in Guinness Book of World Records-गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में बच्चों ने कृष्ण बन अपना नाम दर्ज कराया


Jhabua news- Sharda Group of Education Students enter Krishna's name in Guinness Book of World Records-गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में बच्चों ने कृष्ण बन अपना नाम दर्ज कराया

Jhabua news- Sharda Group of Education Students enter Krishna's name in Guinness Book of World Records-गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में बच्चों ने कृष्ण बन अपना नाम दर्ज कराया

Jhabua Guinness Book of World Records-गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में बच्चों ने कृष्ण बन अपना नाम दर्ज कराया

Trending

[random][carousel1 autoplay]

More From Web

आपकी राय / आपके विचार .....

निष्पक्ष, और निडर पत्रकारिता समाज के उत्थान के लिए बहुत जरुरी है , उम्मीद करते है की आशा न्यूज़ समाचार पत्र भी निरंतर इस कर्त्तव्य पथ पर चलते हुए समाज को एक नई दिशा दिखायेगा , संपादक और पूरी टीम बधाई की पात्र है !- अंतर सिंह आर्य , पूर्व प्रभारी मंत्री Whatsapp Status Shel Silverstein Poems Facetime for PC Download

आशा न्यूज़ समाचार पत्र के शुरुवात पर हार्दिक बधाई , शुभकामनाये !!!!- निर्मला भूरिया , पुर्व विधायक

जिले में समाचार पत्रो की भरमार है , सच को जनता के सामने लाना और समाज के विकास में योगदान समाचार पत्रो का प्रथम ध्येय होना चाहिए ... उम्मीद करते है की आशा न्यूज़ सच की कसौटी और समाज के उत्थान में एक अहम कड़ी बनकर उभरेगा - कांतिलाल भूरिया , पुर्व सांसद

आशा न्यूज़ से में फेसबुक के माध्यम से लम्बे समय से जुड़ा हुआ हूँ , प्रकाशित खबरे निश्चित ही सच की कसौटी ओर आमजन के विकास के बीच एक अहम कड़ी है , आशा न्यूज़ की पूरी टीम बधाई की पात्र है .- शांतिलाल बिलवाल , पुर्व विधायक झाबुआ

आशा न्यूज़ चैनल की शुरुवात पर बधाई , कुछ समय पूर्व प्रकाशित एक अंक पड़ा था तीखे तेवर , निडर पत्रकारिता इस न्यूज़ चैनल की प्रथम प्राथमिकता है जो प्रकाशित उस अंक में मुझे प्रतीत हुआ , नई शुरुवात के लिए बधाई और शुभकामनाये.- कलावती भूरिया , पुर्व जिला पंचायत अध्यक्ष

मुझे झाबुआ आये कुछ ही समय हुआ है , अभी पिछले सप्ताह ही एक शासकीय स्कूल में भारी अनियमितता की जानकारी मुझे आशा न्यूज़ द्वारा मिली थी तब सम्बंधित अधिकारी को निर्देशित कर पुरे मामले को संज्ञान में लेने का निर्देश दिया गया था समाचार पत्रो का कर्त्तव्य आशा न्यूज़ द्वारा भली भाति निर्वहन किया जा रहा है निश्चित है की भविष्य में यह आशा न्यूज़ जिले के लिए अहम कड़ी बनकर उभरेगा !!- डॉ अरुणा गुप्ता , पूर्व कलेक्टर झाबुआ

Congratulations on the beginning of Asha Newspaper .... Sharp frown, fearless Journalism first Priority of the Newspaper . The Entire Team Deserves Congratulations... & heartly Best Wishes- कृष्णा वेणी देसावतु , पूर्व एसपी झाबुआ

महज़ ३ वर्ष के अल्प समय में आशा न्यूज़ समूचे प्रदेश का उभरता और अग्रणी समाचार पत्र के रूप में आम जन के सामने है , मुद्दा चाहे सामाजिक ,राजनैतिक , प्रशासनिक कुछ भी हो, हर एक खबर का पूरा कवरेज और सच को सामने लाने की अतुल्य क्षमता निश्चित ही आगामी दिनों में इस आशा न्यूज़ के लिए एक वरदान साबित होगी, संपादक और पूरी टीम को हृदय से आभार और शुभकामनाएँ !!- संजीव दुबे , निदेशक एसडी एकेडमी झाबुआ

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.