Articles by "city"

1 26 january 1 abvp 45 Administrative 1 b4 cinema 1 balaji dhaam 1 bhagoria 1 bhagoria festival jhabua 2 bjp 1 cinema hall jhabua 27 city 16 crime 19 cultural 35 education 2 election 15 events 12 Exclusive 1 Famous Place 6 gopal mandir jhabua 17 Health and Medical 78 jhabua 4 jhabua crime 1 Jhabua History 1 matangi 3 Movie Review 5 MPPSC 1 National Body Building Championship India 4 photo gallery 18 politics 2 ram sharnam jhabua 48 religious 5 religious place 2 Road Accident 3 sd academy 65 social 13 sports 1 tourist place 13 Video 1 Visiting Place 11 Women Jhabua 2 अखिल भारतीय किन्नर सम्मेलन 1 अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद 1 अंगूरी बनी अंगारा 1 अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 15 अपराध 1 अल्प विराम कार्यक्रम 6 अवैध शराब 1 आदित्य पंचोली 1 आदिवासी गुड़िया 1 आरटीओं 1 आलेख 1 आवंला नवमी 3 आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट 1 ईद 1 उत्कृष्ट सड़क 20 ऋषभदेव बावन जिनालय 3 एकात्म यात्रा 2 एमपी पीएससी 1 कलाल समाज 1 कलावती भूरिया 3 कलेक्टर 14 कांग्रेस 6 कांतिलाल भूरिया 1 कार्तिक पूर्णिमा 2 किन्नर सम्मेलन 2 कृषि 1 कृषि महोत्सव 3 कृषि विज्ञान केन्द्र झाबुआ 1 केरोसीन 2 क्रिकेट टूर्नामेंट 4 खबरे अब तक 1 खेडापति हनुमान मंदिर 15 खेल 1 गडवाड़ा 1 गणगौर पर्व 1 गर्मी 1 गल पर्व 8 गायत्री शक्तिपीठ 2 गुड़िया कला झाबुआ 1 गोपाल पुरस्कार 4 गोपाल मंदिर झाबुआ 1 गोपाष्टमी 1 गोपेश्वर महादेव 14 घटनाए 1 चक्काजाम 3 जनसुनवाई 1 जय आदिवासी युवा संगठन 5 जय बजरंग व्यायाम शाला 1 जयस 6 जिला चिकित्सालय 3 जिला जेल 3 जिला विकलांग केन्द्र झाबुआ 1 जीवन ज्योति हॉस्पिटल 9 जैन मुनि 6 जैन सोश्यल गुुप 2 झकनावदा 80 झाबुआ 1 झाबुआ इतिहास 1 झाबुआ का राजा 3 झाबुआ पर्व 9 झाबुआ पुलिस 1 झूलेलाल जयंती 1 तुलसी विवाह 6 थांदला 3 दशहरा 1 दस्तक अभियान 1 दिल से कार्यक्रम 3 दीनदयाल उपाध्याय पुण्यतिथि 1 दीपावली 2 देवझिरी 38 धार्मिक 5 धार्मिक स्थल 7 नगरपालिका परिषद झाबुआ 5 नवरात्री 4 नवरात्री चल समारोह 4 नि:शुल्क स्वास्थ्य मेगा शिविर 1 निर्वाचन आयोग 4 परिवहन विभाग 1 पर्यटन स्थल 3 पल्स पोलियो अभियान 7 पारा 1 पावर लिफ्टिंग 14 पेटलावद 1 प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय 3 प्रतियोगी परीक्षा 1 प्रधानमंत्री आवास योजना 30 प्रशासनिक 1 बजरंग दल 2 बाल कल्याण समिति 1 बेटी बचाओं अभियान 2 बोहरा समाज 1 ब्लू व्हेल गेम 1 भगोरिया पर्व 1 भगोरिया मेला 3 भगौरिया पर्व 1 भजन संध्या 1 भर्ती 2 भागवत कथा 28 भाजपा 1 भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान 1 भारतीय जैन संगठना 3 भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा 1 भावांतर योजना 2 मध्यप्रदेश बाल अधिकार संरक्षण आयोग 1 मल्टीप्लेक्स सिनेमा 2 महाशिवरात्रि 1 महिला आयोग 1 महिला एवं बाल विकास विभाग 1 मिशन इन्द्रधनुष 1 मुख्यमंत्री महिला सशक्तिकरण योजना 2 मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चोहान 8 मुस्लिम समाज 1 मुहर्रम 3 मूवी रिव्यु 6 मेघनगर 1 मेरे दीनदयाल सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता 2 मोड़ ब्राह्मण समाज 1 मोदी मोहल्ला 1 मोहनखेड़ा 2 यातायात 1 रंगपुरा 2 राजगढ़ 12 राजनेतिक 8 राजवाडा चौक 11 राणापुर 5 रामशंकर चंचल 1 रामा 1 रायपुरिया 1 राष्ट्रीय एकता दिवस 2 राष्ट्रीय बॉडी बिल्डिंग चैम्पियनशीप 4 राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना 1 राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण 1 रोग निदान 2 रोजगार मेला 15 रोटरी क्लब 2 लक्ष्मीनगर विकास समिति 1 लाडली शिक्षा पर्व 2 वनवासी कल्याण परिषद 1 वरदान नर्सिंग होम 1 वाटसएप 1 विधायक 4 विधायक शांतिलाल बिलवाल 1 विश्व उपभोक्ता संरक्षण दिवस 2 विश्व विकलांग दिवस 2 विश्व हिन्दू परिषद 1 वेलेंटाईन डे 3 व्यापारी प्रीमियर लीग 1 शरद पूर्णिमा 5 शासकीय महाविद्यालय झाबुआ 32 शिक्षा 1 श्रद्धांजलि सभा 3 श्री गौड़ी पार्श्वनाथ जैन मंदिर 9 सकल व्यापारी संघ 2 सत्यसाई सेवा समिति 1 संपादकीय 2 सर्वब्राह्मण समाज 4 साज रंग झाबुआ 33 सामाजिक 1 सारंगी 11 सांस्कृतिक 1 सिंधी समाज 1 सीपीसीटी परीक्षा 3 स्थापना दिवस 3 स्वच्छ भारत मिशन 4 हज 3 हजरत दीदार शाह वली 5 हाथीपावा 1 हिन्दू नववर्ष 5 होली झाबुआ
Showing posts with label city. Show all posts

झाबुआ। मप्र शासन द्वारा गठित जिला बाल कल्याण समिति झाबुआ (न्यायपीठ) द्वारा कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी प्रबल सिपाहा से सौजन्य भेंट की गई। इस दौरान न्यायपीठ के सदस्यों ने कलेक्टर को अवगत करवाया कि किशोर न्याय (बालकों की देखरेख एवं संरक्षण) 2015 (केंद्रीय) के प्रावधानों के अंतर्गत गठित न्यायपीठ द्वारा जिले में शोषित, निराश्रित एवं देखरेख श्रेणी के बच्चों को वैधानिक संरक्षण का कार्य करती है। इस कार्य में होने वाली कठिनाईयों संबंधी पत्र सीडब्ल्यूसी के सदस्यों ने जिला दंडाधिकारी श्री सिपाहा को प्रेषित किया।
 यह पत्र न्यायपीठ के वरिष्ठ सदस्य यशवंत भंडारी के नेतृत्व में सदस्य गोपालसिंह पंवार, ममता तिवारी एवं चेतना सकलेचा ने कलेक्टर को प्रदान करते हुए बताया कि उक्त विषयांतर्गत कार्रवाई किए जाने हेतु न्यायपीठ को मप्र शासन स्तर से प्राधिकृत किया गया है। इसके तहत अधिनियम की धारा 27(10) के अंतर्गत जिला मजिस्ट्रेट न्यायपीठ का शिकायत निवारण प्राधिकारी है। अधिनियम की धारा 31 के अंतर्गत कार्यकारी एजेंसी जिला बाल संरक्षण अधिकारी, विशेष पुलिस इकाई चाईल्ड लाईन झाबुआ एवं श्रम पदाधिकारी को अधिकृत किया गया है। जिला महिला एवं बाल विकास अंतर्गत आईसीपीएस योजना अंतर्गत समस्त प्रमुख पद वर्षों से रिक्त है, विशेष  पुलिस इकाई अंतर्गत जिले के समस्त थानों पर आवष्यक प्राधिकारी अधिकृत किए गए है, किन्तु इनके द्वारा अध्नियम की मंषानुसार कार्रवाई नहीं की जा रहीं है। श्रम विभाग के पदाधिकारी द्वारा बाल श्रमिक के संबंध में की जाने वाली कार्रवाई संतोषप्रद नहीं रहीं है।
 जिले में बाल श्रमिकों का उपयोग एवं नशीले पदार्थों का किया जा रहा सेवन
उपरोक्तानुसार कार्रवाई के अभाव में जिले में बाल श्रमिकों का उपयोग स्वछंद एवं खुले रूप से किया जा रहा है। साथ ही नशीले पदार्थों के सेवन में बालकों की संलग्नता पाई जा रहीं है। कम उम्र के बच्चों द्वारा भारी वाहनों का स्वतंत्र रूप से परिचालन किया जा रहा है। इन परिस्थितियों में बालकों को वैधानिक संरक्षण, उपचार, पुर्नवास एवं अन्य हेतु कारगर कार्रवाई अपेक्षित है। अधिनियम के प्रावधानों में न्यायपीठ के पदाधिकारियों द्वारा जिले के छात्रावास-आश्रमों, बाल गृहों एवं संस्थानों का सत्त निरीक्षण किया जाना प्रावधानित है, किन्तु तत्संबंध में समुचित व्यवस्था नहीं होने से समिति को निरीक्षण करने मे कई कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है।
ध्यान नहीं देने पर न्यायपीठ की अवमानना की कार्रवाई की जाएं
उपरोक्त सबंध में पत्र द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी एवं सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग द्वारा आवष्यक जानकारी हेतु कई बार पत्र प्रेषित किए जा चुके है, किन्तु समिति को जानकारी आज पर्यन्त तक नहीं दी गई है। दंड प्रक्रिया संहिता 1973 (1974 का 2) द्वारा न्यायपीठ को महानगर मजिस्ट्रेट या प्रथम वर्ग मजिस्ट्रेट की शक्तियां प्रदान की गई है। ऐसी स्थिति में संबंधितों द्वारा समयोचित कार्रवाई नहीं किए जाने पर न्यायपीठ की अवमानना की कार्रवाई करने के संबंध में चर्चा की। पत्र में आदिवासी बाहुल जिले के बच्चों के सर्वोच्च हित हेतु आवष्यक कार्रवाई किए जाने की बात कहीं गई। पत्र बाद न्यायपीठ को समस्त बिंदुओं पर जांच कर कार्रवाई का आष्वासन कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्री सिपाहा द्वारा दिया गया। 

जिला बाल कल्याण समिति ने कलेक्टर से की सौजन्य भेंट, कार्य करने में आ रहीं कठिनाईयों के संबंध में प्रेषित किया पत्र

प्रशासन ने निर्माण के पूर्व क्या किया था इस बात को लेकर सर्वेक्षण 

राजेंद्र सोनी, झाबुआ । जिला जैल में निरूद्ध कैदियों के लिये जेल बायलाज के अनुसार कई प्रतिबंध होते है, कोई्र भी केदी जैल परिसर से बाहर न तो आ सकता है और ना ही कैदियों से बिना अनुमति के कोई संपर्क कर सकता है। जैल परिसर की दीवार इसीलिये उंची बनाई जाती है कि ताकि कोई भी कैेदी बाहर संपर्क स्थापित नही कर सके या कोई साजिश नही कर सकें। पूर्व में जिला जैल से दीवार फांद कर कैदियों के फरार होने की घटनायें हो चुकी है । और जैल विभाग एवं पुलिस को अपराधियों को पकडने के लिये काफी मशक्कत भी करना पडी थी  लगता है अब फिर से जैल विभाग के आंतरिक गोपनीयता एवं बंद कैदियों के लिये संपर्क का रास्ता खुलता दिखाई दे रहा है। जिला जैल से सट कर ही जिला अस्पताल के परिसर में सरकारी भवनों के निर्माण कार्य चल रहा है और अभी तक दो मंजिला मकान तैयार होकर इसका निर्माण कार्य भी अन्तिम चरण में है ।
       इन तीन मकानों की छत को यदि ध्यान से देखा जावे तो ये छते जिला जैल की दीवारों से अधिक उची होकर इन नव निर्मित भवनों की छतों पर चढ कर सहज ही जिला जैल के अन्दर की गतिविधियों को देखा जा सकता है। ऐसे मे दुर्भाग्य से या संयोग से भविष्य में इन बन रहे भवनों की छत पर जिला जैल में बंद कैदियों के शुभ चिंतकों द्वारा गुप चुप तरिके से इन भवनों की छत पर चढ कर कोइ्र्र हथियार, या वस्तु या रस्सी आदि पहूंचाने में थोडे ही प्रयास से सफलता मिल सकती है ऐसे में जिला जेल में बंद अपराधी यदि योजनाबद्ध तरिके से अपने शुभ चिंतकों की मदद से यहां र्से फरार होने या कोई अनहोनी करने में कामयाब हो जाते हे तो इसका दोष किसे दिया जावेगा ? इस स्थान का जायजा लेने के बाद लगता है कि कहीं जैल की दीवार को और अधिक उंचा नही करना पडे या फिर बनाये गये इन आवासगृहों की छतों के कारण जमीदोज करना न पडे। जो भी हो इस बारे में जिला प्रशासन, पुलिस विभाग, जेल विभाग या संबधित विभाग कों एक साथ जाकर जैल एवं बन रहे क्वार्टरों का निरीक्षण करना चाहिये ताकि कोई अनहोनी हो उसके पूर्व सचेत हुआ जा सकें।

जिला जैल के लिये परेशानी का सबब तो नही बनेगें ये सरकारी क्वार्टर

झाबुआ/भोपाल।  श्यामला हिल्स स्थित यूनीसेफ के ऑफिस का नजारा कुछ अलग था। बच्चे अपने मन की बात कह रहे थे, नाटक दिखा रहे थे, डांस कर रहे थे। दरअसल यूनीसेफ इंडिया के सत्तरवें स्थापना दिवस पर यहां झाबुआ, हरदा और भोपाल जिले से बच्चे आए थे।
    इस अवसर पर यूनीसेफ के मध्यप्रदेश प्रमुख माइकल जुमा ने कहा कि यह बहुत महत्वपूर्ण मौका है कि यूनीसेफ भारत में सत्तर साल पूरे कर रहा है और बाल अधिकार समझौते को तीस साल पूरे होने जा रहे हैं, इस मौके पर हमें हर बच्चे को उसका अधिकार देने के लिए एकजुट होना है। उन्होंने बताया कि यूनीसेफ बच्चों के अधिकारों के लिए लगातार सहयोग कर रहा है, जिससे बच्चों के स्वास्थ्य संबंधी परिस्थितियां ठीक हों, इस संबंध में आमूलचूल बदलाव आए हैं, लेकिन अभी बहुत काम किए जाने की जरूरत है।
    चाइल्ड राइट्स आब्रजेटरी की अध्यक्ष निर्मला बुच ने कहा कि बच्चों के शत प्रतिशत अधिकार पूरे होने चाहिए और इसके लिए सरकारी विभागों और संस्थाओं को आगे बढ़कर अपनी भूमिका लेनी होगी। उन्होंने कहा कि केवल बाल विवाह अपराध है कह देने से काम नहीं चलेगा जरूरत इस बात की है कि बाल विवाह क्यों ठीक नहीं है, यह भी बताया जाए। श्रीमती अनुराधा शंकर सिंह ने कहा कि इस दौर में जब हमने एक दूसरे की जिंदगी के बारे में सोचना बंद कर दिया है, बच्चे समाज के बारे में इतना सोच रहे हैं यह बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि बच्चों के पास दुनिया को देखने का एकदम ताजा नजरिया है। उन्होंने कहा कि बच्चों की बातों का सुना जाना उतना ही महत्वपूर्ण है जितना किसी और की बात का। इससे पहले यूनीसेफ के संचार विशेषज्ञ अनिल गुलाटी ने सभी बच्चों और अतिथियों का स्वागत किया और बधाई दी।
नाटक और डांस की प्रस्तुति
कार्यक्रम में झाबुआ से आए बच्चों ने बाल विवाह पर नाटक प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में झाबुआ के मांदल समूह के बच्चों की ओर से तैयार बाल अखबार मांदल के पहले अंक का विमोचन किया गया। कार्यक्रम में वसुधा झाबुआ, सिनर्जी हरदा, अंश हैप्पीनेस सोसायटी, विकास संवाद, अटल बिहारी इंस्टीट्यूट आफ गुड गवर्नेंस, आरंभ, मुस्कान संस्था से जुड़े बच्चे शामिल थे।



झाबुआ थांदला पेटलावद रोड के बीच पोलिथिन को प्रतिबंधित करने की मांग फिर से उठी प्रशासन को त्वरित निराकरण के लिये देना होगा ध्यान 

झाबुआ । केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा पिछले 5 बरसों से अधिक समय से स्वच्छ भारत अभियान के तहत पोलिथिन की पन्नियों को लेकर जन जागरूकता अभियान चला कर ऐसी पन्नियों जो कचरे के साथ नगरीय निकाय द्वारा एकत्रित की जाती है के उचित निपटारे के निर्देेश है । झाबुआ से थांदला होकर पेटलावद जाने वाले 24 किलोमीटर वाले मार्ग पर थांदला के बस स्टेंड से कुछ ही आगे नगरपरिषद थांदला द्वारा नगर का एकत्रित कचरा जिसमे अधिकांश मात्रा में पोलिथिन की थैेलिया / पन्नियां होती है वे बेतरतिब तरिके से डाली जाने के कारण हवा के कारण करीब एक किलो मीटर से अधिक दूरी तक सडकों के किनारे के अलावा आसपास के खेतों में भी बडी मात्रा में देखी जासकती है । स्वच्छ झाबुआ सुंदर झाबुआ, स्वस्थ्य झाबुआ के संकल्प को इस तरह की गंदगी निश्चित ही चिढाती है । संकल्प ग्रुप झाबुआ की मुखिया श्रीमती भारती सोनी अपने काम से थांदला होते हुए पेटलावद सडक मार्ग से जा रही थी तो उन्हे थांदला-पेटलावद रोड पर इस प्रकार से सडक के किनारें बडी मात्रा में पोलिथिन सडकों के आसपास उडती दिखाई दी तथा ट्रेचिंग ग्राउंड पर तो बडी मात्रा में कचरे के साथ ही पोलिथिन के बीच पशुओं विशेष कर गायों को वहां खाते हुए दे खा । उनके द्वारा सोश्यल मीडिया पर इस का जीवन्त विडीयो  अपलोड किया गया तथा फेसबुक पर इस विडीओं को देख कर दूर दूर के लोगों की व्यापक प्रतिक्रियाये  मिली हे ।
        ज्ञातव्य है कि नगर परिषद थांदला में भाजपा की परिषद होकर बंटी डामोर वहां के नगर परिषद अध्यक्ष होने के बाद भी प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत मिशन का किस स्तर से वहां पालन हो रहा है यह जग जाहिर है। स्वच्छता के नाम पर इस प्रकार बरती जा रही भंयकर लापरवाही जिसके चलते जन स्वास्थ्य पर प्रभाव तो पडता ही है वही मुक पशुओ का जीवन भी खतरे में पडता हुआ दिखाई दे रहा है । क्यो इस स्थान पर बडी संख्या में पशु खाते हुए हमेशा ही दिखाई देते है । संकल्प ग्रुप झाबुआ की श्रीमती भारती सोनी ने पर्यावरण संरक्षण को लेकर नगर परिषद थांदला को फेसबुक के माध्यम से प्रस्तावित भी किया है कि यदि नगरीय निकाय संकल्प ग्रुप की सहायता लेना चाहे तो इस स्वच्छता के अभियान में वे पूरा सहयोग करने को तैयार है। श्रीमती सोनी द्वारा फेसबुक पर अपलोड किये गये इस विडियों को देखने के बाद झाबुआ के पुरूषोत्तम ताम्रकार ने संकल्प ग्रुप जो सदा ही पर्यावरण सहित कई सामाजिक कार्यो में सक्रियता से काम कर रहा है, के बारे में संकल्प ग्रुप के इस पोलिथिन प्रतिबंध के प्रयास को वंदनीय बताते हुए संकल्प ग्रुप की जागरूकता की सफलता की कामना की है । सुभाष कर्णावत ने भी पोलिथिन पन्नियों के काफी बिखरे होने को लेकर प्रतिक्रिया दी है ।
       श्रीमती भारती सोनी का कहना है कि आसपास पूरे खेतों में पन्निया उड कर किसानो  की चिंता बढा रही है । मुक पशु भी वहां दिखाई दे रहे है। आश्चर्य यह है कि प्रशासन का ध्यान अभी तक यहां नही गया है । फेसबुक पर विडियों देखे जाने के बाद चित्रा एडवरटायजिंग उज्जेन के कैलाश सोनी ने कहा कि प्रतिबंध व प्रशासन से अधिक जरूरी है जागरूकता। ऐसा होना सुविधा का अभिशाप है । जब तक हम घर के बर्तन, थैली में सामान लाने की आदत नही बदलेगें तब तक इस समस्या से मुक्ति नही पासकते है । उज्जेन की रूपान्तरण संस्था के माध्यम से उज्जैन में पिछले 20 बरसों से इस दिशा में कार्य किया जा रहा है । यह निरन्तर जागरूकता का विषय है । झाबुआ के राजेन्द्र सोनी ने भी अपने प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि थांदला में भाजपा शासित नगर परिषद है और बंटी डामोर वहां के अध्यक्ष है। उन्हे स्वच्छ भारत अभियान जो कि भाजपा का मुख्य अभियान है ,पर ध्यान देना चाहिये और पालिथिन के निपटारे के लिये कदम उठाना चाहिये सीमओ साहब भारतसिंह टांक को जनस्वास्थ्य को देखते हुए कदम उठाना चाहिये वही जिला प्रशासन भी एक बार जरूर यहां जाकर वास्तविकता से रूबरू हो एवं इस समस्या को अपने प्रभाव से समाप्त करवायें । स्नेहलता वास्कले भी इन टिप्पणियों का समर्थन किया । श्रीमती भारती सोनी का कहना है कि सभी लोगों को जानकारी होगी कि बडे बडे प्रोजेक्ट इस जगह चल रहे है जो दृष्य मे साफ साफ साफ दिखाई दे रहे है । 
      इतनी ज्यादा मात्रा में कचरा ,पोलिथिन नगरीय निकाय की व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह है । हरिश शाह ने भी इसका समर्थन किया वही नीरज श्रीवास्तव ने टिप्पणी करते हुए कहा कि उनका भी जाना इस मार्ग से हुआ और वे भारती सोनी के विचारों की पुष्टि करते है । थांदला की साहित्यकार सुश्री सीमा शाहजी ने भी अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यहां स्थिति बहुत ही खराब है । यह चिंतनीय विषय है। खेत खलिहान मे प्लास्टिक उड रहे है और हम कुछ नही कर पारहे है । उनकी समिति ने भी नगर परिषद के ध्यान में यह बात लाइ्र्र थी लेकिन परिणाम कुछ नही निकला । बगैर जन सहयोग से कार्य पूरा नही हो सकता हे । जागरूकता की आवश्यकता है और हम सभी को ठान लेना होगा कि आगे से पोलिथिन का उपयोग नही करेगें । इस समस्या को नगरपरिषद थांदला को गंभीरता से लेना होगा तथा जरूरी हो तो जन सहयोग लेकर भी इसका निदान किया जासकता है । यह भी एक सेवा प्रकल्प ही है जो सीधा मानव एवं पशुओं के स्वास्थ्य एवं जीवन से जुडा है । जिला प्रशासन को भी इस दिशा में अभियान चलाकर इसका निदान करने के साथ ही जागरूकता की दिशा में प्रभावी काम करने की दरकार है ।


झाबुआ। लोकसभा निर्वाचन में मतदान हेतु उपयोग की गई ईव्हीएम मशीनों की वापसी के पश्चात अभ्यर्थियों की उपस्थिति में पालीटेक्निक कॉलेज झाबुआ में बनाये गये स्ट्रांग रूम में रखने के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी श्री प्रबल सिपाहा, पुलिस अधीक्षक श्री विनीत जैन एवं अभ्यर्थियों के हस्ताक्षर के साथ सील कर दिया गया। स्ट्रांग रूम की 24 घंटे चौकसी के लिए सशस्त्र बल तैनात किया गया है। साथ ही सीसीटीव्ही कैमरे भी लगाये गये है। 





CCTV से की जा रही मतदान केन्द्रों की निगरानी

झाबुआ। लोकसभा निर्वाचन 2019 के तहत मतदाता जनजागरूकता अभियान के लिए जिले में व्यापक प्रचार प्रसार किया जाकर आमजन को मतदान दिनांक 19 मई 2019 की जानकारी दी जा रही है। मतदाता जनजागरूकता अभियान के लिए कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष मे आयोजित बैठक के बाद उपस्थित समस्त शासकीय सेवको एवं सामाजिक संगठनो के सदस्यो ने जिला स्वीप आइकॉन आनंद विजय सिंह शक्तावत के साथ हाथ मे ईपिक पहचान पत्र लेकर उत्साह पूर्वक सेल्फी लेकर मतदान करने का संदेश दिया। 

jhabua news-सामाजिक संगठनो की बैठक मे कलेक्टर ने दिलाया मतदान का संकल्प
   लोकसभा निर्वाचन 2019 मे शत प्रतिशत मतदान के लिये सामाजिक संगठनो से सुझाव आमंत्रिक करने हेतु बैठक के बाद उपस्थित सदस्यो एवं शासकीय सेवको को कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी प्रबल सिपाहा द्वारा शत प्रतिशत मतदान करवाने की शपथ दिलाई गई एवं मतदान हेतु आवश्यक दस्तावेजों के संबंध में विस्तृत जानकारी प्रदान की गई। बैठक मे संकल्प लिया गया कि हम भारत के नागरिक लोकतंत्र में अपनी पूर्ण आस्था रखते हुए यह संकल्प लेते है कि अपने देश की लोकतांत्रिक परम्पराओं की मर्यादा को बनाए रखेगे तथा स्वतंत्र, निष्पक्ष व शांति पूर्ण निर्वाचन की गरिमा को अक्षुण्ण रखते हुए, निर्भिक होकर धर्म व जाति, समुदाय, भाषा अथवा अन्य किसी भी प्रलोभन से प्रभावित हुए बिना, लोकतंत्र के इस महापर्व, लोकसभा निर्वाचन 2019 मे, दिनांक 19 मई 2019, दिन रविवार को, हम अपने मताधिकार का प्रयोग करते हुए, शत प्रतिशत मतदान करायेंगे एवं करेगें”। 

jhabua news-सामाजिक संगठनो की बैठक मे कलेक्टर ने दिलाया मतदान का संकल्प

झाबुआ,पेटलावद । लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2019 आचार संहिता 10 मार्च से प्रभावशील किये जाने से दिनांक 26 अप्रैल 2019 को जिला झाबुआ अंतर्गत एफएसटी टीम एवं पुलिस की टोल बेरियर पेटलावद पर संयुक्त चेकिंग के दौरान सफी बेलिमा निवासी गुजरात के पास से 274000 रूपये नकदी जप्त की जाकर पंचनामा बनाया गया। संबंधित द्वारा मौके पर नकदी रखने संबंधी कोई दस्तावेज पेश नही करने पर प्रकरण विवेचना मे लिया जाकर अग्रिम कार्यवाही की जा रही हैं।

274000-cash-seized-during-the-checking-by-FST-team-Petlavad-and-police-एफएसटी टीम पेटलावद एवं पुलिस द्वारा चेकिंग के दौरान 274000 रूपये नकदी जप्त

झाबुआ। शहर में लगे भगोरिया हाट में जिला चिकित्सालय रोड़ पर इनरेम फाउंडेन झाबुआ के सचिन वाणी द्वारा ‘‘मेरी मिट्टी मेरा गौरव’’ विषय को लेकर प्रर्दशनी लगाई। प्रर्दशनी का अवलोकन इंदौर से विशेष रूप से आए लोगों द्वारा किया गया। साथ ही कई लोगों ने प्रर्दशनी में आर्गेनिक गुड, मिट्टी की कुल्लड़, ग्लास आदि की खरीदी भी की। इस अवसर पर सचिन वाणी ने बताया कि नवंबर माह 2019 में इंदौर, भोपाल के साथ दिल्ली और मेलबोर्न यूएसए में भी ट्रायबल आर्ट की प्रर्दशनी लगाकर जिले की आदिवासी संस्कृति एवं यहां की सामग्रीयों का प्रचार-प्रसार किया जाएगा।

प्रर्दशनी में लोगों ने सामग्रीयों की खरीदी भी की
भगोरिया हाट में इंदौर से आए विजिटरों ने प्रर्दशनी का अवलोकन किया

सांस्कृतिक कार्यक्रम, रांगोली एवं चित्रकला प्रतियोगिता का हुआ आयोजन

झाबुआ। शहर के वार्ड क्र. 13 स्थित आंगनवाड़ी केंद्र पर राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया गया। इस अवसर पर केंद्र में रांगोली प्रतियोगिता, पेटिंग प्रतियोगिता के साथ दोपहर में सांस्कृतिक कार्यक्रम रखे गए। सभी कार्यक्रमों में बच्चों ने उत्साह के साथ भाग लिया।
     आयोजित कार्यक्रम में अतिथि के रूप में जिला परियोजना अधिकारी मीरा गाड़गे उपस्थित थी। जिनके द्वारा मां सरस्वतीजी की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर शुभारंभ किया गया। अतिथि का स्वागत केंद्र की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका ने पुष्प गुच्छ भेंटकर किया। यहां उक्त कार्यक्रम सेक्टर सुपरवाईजर दीपका गाऊशिदे के मार्गदर्शन में रखा गया। जिसमें सेक्टर झाबुआ-3 की समस्त आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाएं शामिल हुई। इसके साथ ही कार्यक्रम में वार्ड क्र. 13 में डीआरपी लाईन, माधोपुरा एवं किशनपुरी क्षेत्र के रहवासी बड़ी संख्या में शामिल हुए।
केंद्र को ब्लनूस से सजाया
बालिका दिवस के उपलक्ष में केंद्र को ब्लूनस और रंग-बिरंगी पन्नीयों से सज्जा की गई। बालक विशेषकर बालिकाओं ने केंद्र के कक्ष में सुंदर-सुंदर रांगोलियां बनाई एवं बेटी-बचाओ, बेटी-पढ़ाओं का अनोखा संदेश दिया। चित्रकला प्रतियोगिता में बच्चों ने इस विषय पर ड्राईंग शीट पर सुंदर चित्र उकेरें। केंद्र की वाटिका में सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरूआत सरस्वती वंदना के साथ हुई। बाद बालक-बालिकाओं ने करीब 8-10 नृत्य की प्रस्तुतियां दी। 
बेटियां हमारे जीवन की अनमोल धरोहर
इस अवसर पर जिला परियोजना अधिकारी मीरा गाड़गे ने कहा कि बेटियां हमारे जीवन का अनमोल धरोहर है। परिवार और समाज को उसे बोझ नहीं समझना चाहिए, बेटियांं को बेटे के समान ही मान-सम्मान देना चाहिए, भ्रूण लिंग जांच एवं भ्रूण हत्या जैसे कृत्य करने से भी बचना चाहिए, जो गैर कानूनी है। सेक्टर सुपरवाईजर दीपका गाउंशिदे ने बताया कि आज मप्र सरकार एवं केंद्र सरकार द्वारा बेटियों को प्रोत्साहन देने एवं उनके जीवन को उज्जवल बनाने के लिए तरह-तरह की योजनाएं संचालित की जा रहीं है ताकि परिवार और समाज में जागरूकता आ सके और बेटियों का पालन-पोषण, पढ़ाई सभी निःषुल्क हो सके। दीपिका गाऊशिदे ने उपस्थित सभीजनों को बेटियों का मान-सम्मान करने और बेटी बचाने का संकल्प दिलवाया। अंत में सभी के प्रति आभार वार्ड क्र. 13 की आगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका ने माना।




झाबुआ। कॉमन सर्विस सेंटर झाबुआ द्वारा आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड के लिए जागरूकता वाहन रैली का आयोजन किया गया रैली का शुभारंभ अंबेडकर पार्क से हरी झंडी दिखाकर की गई इस दौरान बताया गया की आयुष्मान भारत के गोल्डन कार्ड के लिए निर्धारित शुल्क ₹30 प्रति गोल्डन कार्ड से अधिक नहीं लिया जाएगा।
         आयुष्मान भारत रैली का उद्देश्य के संबंध में से सीएससी के जिला प्रबंधक राहुल वाघेला ने बताया कि जिले में आयुष्मान के गोल्डन कार्ड हर ग्राम पंचायत में स्थित कॉमन सर्विस सेंटर पर बनाए जा रहे हैं रैली के माध्यम से लोगों को आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए जागरूक करना है साथ ही जनता को जानकारी देना है कि आयुष्मान भारत में पात्र सरकारी एवं प्राइवेट हॉस्पिटलों में 1350 से भी ज्यादा गंभीर बीमारियों का इलाज निशुल्क किया जाएगा। इस संबंध में आप लोगों के लिए गोल्डन कार्ड कॉमन सर्विस सेंटर में बनवाए जा रहे हैं जागरूकता रैली बस स्टैंड राजवाड़ा से होती हुई राजगढ़ नाके पर समाप्त हुई वाहन रैली में कॉमन सर्विस सेंटर के जिला प्रबंधक राहुल वाघेला, रंजीत नियमा एवं जिले के कॉमन सर्विस सेंटर के वी एल ई संचालक उपस्थित रहे.

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड के लिए जागरूकता वाहन रैली का आयोजन-aayushman-bharat-yojna

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड के लिए जागरूकता वाहन रैली का आयोजन-aayushman-bharat-yojna

कई सज्जनों को देश में सेवा कार्य के लिए राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने किया सम्मानित

झाबूआ। भारत में समाज सेवा में अलग पहचान बनाते हुए तीव्रगति से बढ़ने वाले सामाजिक संगठन राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग का महाधिवेशन 15 दिसंबर, शनिवार को मुंबई के रूद्र शेल्टर होटल वसई में महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष किशोर मोरे और प्रदेश अध्यक्ष (महिला प्रकोष्ठ) किरण यादव द्वारा आयोजित किया गया। अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर आयोजित इस महाधिवेशन में समाज सेवा से जुड़ी अनेक हस्तीयों के साथ बॉलीवुड और भोजपुरी गीतकार-संगीतकार आदि भी शामिल हुए।
        कार्यक्रम की शुरुआत उपस्थित अतिथियो द्वारा दीप प्रज्जवलन कर अखंड भारत की परिकल्पना करते हुए राष्ट्रगान एवं विनायक वंदना से की गई। इस अवसर पर हिंदी व भोजपुरी के सुप्रसिद्ध गायक, गीतकार कवि आनन्द दुबे ‘राज’ द्वारा मानवाधिकार पर आधारित गीत सुनाएं गए। इस आयोजन में सभी सम्मानित अतिथियों का स्वागत राजस्थानी टोपी, शाल, माला पहनकर अप्राकृतिक गुलदस्ते भेंट स्वरूप देकर किया गया। 
संगठन भारत के 24 राज्यों में 118 कार्यालयों के माध्यम से कर रहा कार्य
आयोग के राष्ट्रीय मुख्य महासचिव डॉ. रविंद्र डी. मिश्रा द्वारा स्वागत भाषण के साथ मानवाधिकार की परिकल्पना सहित आयोग के बारें में विस्तृत प्रकाश डाला गया। उन्होंने आयोग के माध्यम से आए हुए सदस्यों को सदैव मानव सेवा में तत्पर रहने की प्रेरणा दी। इस अवसर पर उन्होंने आयोग में किन्नर प्रकोष्ठ बनाकर समाज से अपेक्षित इस वर्ग के उत्थान के लिए भी अपने कदम बढ़ा।ए वही पत्रकारिता जगत के लिए मीडिया आयोग को भी शामिल किया। आयोग द्वारा नारी सशक्तिकरण एवं सुरक्षा पर जोर देते हुए उनके लिए प्लास्टिक रहित पीरियड पेड्स का भी निर्माण कर उनके स्वास्थ्य के प्रति अपनी कर्तव्य निष्ठा बतलाई। उन्होंने बताया कि संगठन भारत के 24 राज्यो में 118 कार्यालयों के माध्यम से हर जाति-वर्ग के लिए बिना किसी भेदभाव के समाज सेवा के कार्य कर रहा है। 
समाज के हर वर्ग के लोगो का किया सम्मान
आयोग द्वारा समाज सेवा में अग्रणी संत, डॉक्टर, वकील, इंजीनियर, पत्रकार एवं कलाकारों सहित केवल इंस्टॉलमेंट पर हर वर्ग को आशियाना उपलब्ध करवाने वाले बिल्डर्स को शॉल, साफा और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। राष्ट्रीय कार्यकारणी ने मध्यप्रदेश की युवा टीम की प्रशंसा करते हुए उन्हें सर्वश्रेष्ठ कार्य के लिए सम्मानित भी किया। 
वनाचंल की महक से किया सभी को आनंदित 
इस अवसर पर प्रमुख अतिथि के रूप में संस्थापिका श्रीमती शांति देवी, राष्ट्रीय अध्यक्ष दयाराम मिश्रा, राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष शोभनाथ त्रिपाठी, गीतकार व संगीतकार राकेश निराला, भोजपुरी संगीतकार दामोदर राव, राष्ट्रीय महासचिव आनंद दुबे राज, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अक्षता भट्ट, उत्तर प्रदेश अध्यक्ष जितेंद्र तिवारी सहित देश के अनेक प्रदेशो से आए पदाधिकारी एवं सदस्यों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। राष्ट्रीय मुख्य महासचिव के संग संचालन का जिम्मा संभाल रहे मध्यप्रेदश के कार्याध्यक्ष पवन नाहर ने वनांचल की महक से सभी को आनंदित कर दिया। 
मप्र की टीम के इन सदस्यो ने की आयोजन में शिरकत
महानगरी मुंबई में आयोग के अधिवेशन में झाबुआ वनांचल के मप्र प्रभारी कीर्तिश जैन, कार्यवाहक प्रदेशाध्यक्ष पवन नाहर, प्रतिनिधि प्रदेशाध्यक्ष मनीष कुमट, गोपाल विष्वकर्मा, अली असगर बोहरा, उत्तम गहलोत, दशरथ कट्ठा, भूपेंद्र बरमंडलिया, भरतसिंह अड़, रवि सोलंकी, गोलू वरफा, गोपाल चोयल, आयुष पटवा, राजेन्द्र व्होरा, नीरज सोलंकी, लक्ष्मी गामड़, हेमा वास्केल, पंकज चोरड़िया, प्रकाश भायल, निखिल सोनी, लखन बागड़िया, सुखलाल मेहसन, अलका डामोर ने शिरकत की। मप्र की टीम ने आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष दयाराम मिश्रा, कार्यवाहक राष्ट्रीय अध्यक्ष शोभनाथ त्रिपाठी, राष्ट्रीय मुख्य सचिव डॉ. रविन्द्र मिश्रा व आनंद दुबे राज का साफा पहनाकर शॉल भेट कर मध्यप्रदेश के दुपट्टे से सम्मानित किया।

राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग का महाधिवेशन- अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर महाधिवेशन मुंबई में संपन्न

झाबुआ। झाबुआ एवं अलीराजपुर जिले की पांच विधानसभा क्षेत्र में चार विधानसभा में कांग्रेस प्रत्याशीयों के विजय होने एवं प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की सरकार भारी बहुमत से सरकार बनाने पर झाबुआ अलीराजपुर क्षेत्र में कांग्रेस में खुशी की लहर छा गई है। कांग्रेस पदाधिकारीयों द्वारा प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ एवं ज्योतिराज सीधीयां एवं क्षेत्रिय सांसद कांतिलाल भूरिया को भी बधाई दी है वर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष सुश्री कलावती भूरिया के अलीराजपुर जिले की जोबट,अलीराजपुर से मुकेश पटेल थांदला से वीरसिंह भूरिया एवं पेटलावद से वालसिंह मेडा के विजय होने पर झाबुआ के कांग्रेसजनों ने बधाई दी है। 
कलावती भूरिया को मंत्रीमंडल में शामिल करने की मांग-kalawati-bhuriya-madhya-pradesh-cabinet       झाबुआ एवं अलीराजपुर के मतदाताओं एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पूर्ण विश्वास है कि म.प्र. में कांग्रेस की सरकार बनने में मंत्रीमडल में इस क्षेत्र से कोई उम्मीदवार को लिया जावेगा। दोनों जिले के कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इस क्षेत्र में सबसे ज्यादा लोकप्रिय एवं कर्मठ सुश्री भूरिया को झाबुआ-अलीराजपुर क्षेत्र से मंत्रीमंडल में स्थान देकर इस क्षेत्र को ओर अधिक मजबुत किया जावे। चूकि सुश्री कलावती भूरिया वर्ष 2000 से 2010 अविभजित झाबुआ-अलीराजपुर जिले की जिला पंचायत अध्यक्ष रह चुकी है एवं वर्तमान में झाबुआ वर्ष 2000 से आज तक जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर काबिज है जिला पंचायत अध्यक्ष के पद पर रहते हुए इन्हे राज्यमंत्री का दर्जा भी रहा है। ऐसे में वे क्षेत्र की एवं जनता की समस्याओं से भलीभांति परिचित है। तथा समय समय पर वे क्षेत्र के विकास के लिए हमेशा लडाई लडती रही है। ऐसे में कांग्रेस पार्टी उनके अनुभव के लाभ लेकर झाबुआ -अलीराजपुर जिले में उनके अनुभव का लाभ लेकर पार्टी को ओर अधिक मजबुती से क्षेत्र के विकास हेतु तत्पर रहेगा। दोनों जिलों में उनके कार्यकर्ता एवं प्रशंसकों की एक लम्बी फेरिस्त है। 
       जिला पंचायत उपाध्यक्ष चन्द्रवीरसिंह, कांग्रेस नेतागण कैलाश डामोर आशिष भूरिया, देवेन्द्रप्रसाद अग्हित्री बन्टूं, प्रदीपसिंह तारखेडी, गौरव सक्सेना,जितेन्द्रप्रसाद अग्हित्री,अजहर हुसैन, चन्द्रनसिंह गेहलोद, हेमचन्द्र डामोर, देवल परमार, आदि ने भी प्रदेश कांग्रेस से सुश्री कलावती भूरिया को मंत्रीमंडल में लेने की मांग की है।

परस्पर समन्वय, निरन्तर संवाद एवं साझे प्रयासों पर जोर

गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान और मध्यप्रदेश के प्रशासनिक एवं पुलिस पुलिस अधिकारियो ने आपसी चर्चा कर आवष्यक निर्णय लिये 

       झाबुआ। विधानसभा निर्वाचन 2018 को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण सम्पन्न कराये जाने संबंधी तैयारियों के सन्दर्भ में आज 31 अगस्त 2018 को झाबुआ जिले के म.प्र. टूरिज्म मोटल के सभा कक्ष मे अंतर्राज्यीय बार्डर मीटिंग आयोजित की गई। जिसमे निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार आगामी विधानसभा निर्वाचन को बेहतर ढंग से सम्पन्न कराने के लिए महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियो ने आपसी चर्चा कर आवष्यक निर्णय लिये। 
      बैठक में कलेक्टर झाबुआ आशीष सक्सेना, पुलिस अधीक्षक झाबुआ महेशचंद्र जैन, एसडीएम कुशलगढ प्रतिनिधि कलेक्टर बांसवाडा श्रीमती सुमन मीणा, 1/सी कुशलगढ बांसवाडा (राजस्थान) उप पुलिस अधीक्षक ब्रजराज सिंह चारण, पुलिस अधीक्षक हेड क्वार्टर दाहोद (गुजरात) सी सी खाटाने, मामलादार निर्वाचन दाहोद  आर.डी. मालेक, एआरटीओ दाहोद टी.वी दंत्रेहिया, 1/सी एआरटीओ छोटा उदयपुर बी.के. पाजाजिया, आरटीओ झाबुआ राजेश गुप्ता, उप जिला निर्वाचन अधिकारी छोटा उदयपुर आई. एच. पांचाल, पुलिस अधीक्षक छोटा उदयपुर एम.एस. भाभोर, उप जिला निर्वाचन अधिकारी नंदुरबार(महाराष्ट्र) एस.ए. खांडे, तहसीलदार झाबुआ भगवतसिंह भिलाला, उप संचालक श्रीमती अनुराधा गहरवाल, एसडीएम झाबुआ जगदीश गोमे, एसडीएम थांदला अनिल भाना, गणपतसिंह डाबर, कलेक्टर अलीराजपुर गणेश शंकर  मिश्रा उपस्थित थे। 
        बैठक मे निर्णय लिये गये कि म.प्र. एवं राजस्थान के सीमावर्ती जिलो में विधानसभा निर्वाचन को दृष्टिगत रखते हुए सीमा से एक दूसरे राज्यों में प्रवेश पर चौकपोस्ट लगाये जायेगे और इन चौकपोस्टो पर सीसीटीवी कैमरे लगाये जाएगे। सीमावर्ती क्षेत्रों में वाहनों एवं व्यक्तियों की आवाजाही पर निगरानी रखने, अपराधियों पर नकेल कसने, अवैध हथियारों की बरामदगी, वारंट तामिली के साथ ही मादक पदार्थो की तस्करी एवं आपराधिक गतिविधियों पर अंकूश लगाने के लिए लगातार समन्यव एवं संपर्क के लिए चारो राज्यों के पुलिस अधिकारियों की संयुक्त टीम गठित की जावेगी। कानून एवं शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए हर सम्भव उपायों को अमल में लाने पर विस्तारपूर्वक चर्चा की गई। 
बोर्डर कोर्डिनेशन ग्रुप से आपसी समन्वय एवं संवाद रहेगा
         बैठक में कलेक्टर सक्सेना ने सीमावर्ती दोनों राज्यों के अधिकारियों के आपसी समन्वय तथा सूचनाओ के त्वरित आदान प्रदान पर विशेष जोर दिया तथा वारंटियों की तामिली, फरार वारंटियों की गिरफ्तारी, अवैध नगदी, शस्त्र परिवहन पर कार्यवाही, मुख्यमार्गो के अलावा वैकल्पिक मार्गो पर चेक पोस्ट लगाने, के संबंध में विस्तार से चर्चा की। बोर्डर कॉर्डिनेशन ग्रुप वाटसअप पर बनाया गया है। इस ग्रुप में सीमावर्ती सभी जिलों के कलेक्टर एसपी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, राजपत्रित, पुलिस अधिकारी, रेवेन्यू ऑफिसर एवं थाना प्रभारी इस ग्रुप से जोडे गए है ताकि आपराधिक गतिविधियों एवं आपराधिक तत्वों की गतिविधियों के बारे में लगातार सूचनाओं एंव जानकारी का आदान प्रदान हो सके। 



स्वतंत्रता सेनानियों के जीवन परिचय के बारे में बच्चों को दी जानकारी

राजेश थापा , झाबुआ। जिले के ग्राम झकनावदा स्थित मानस एक्टीविटी एकेडमी स्कूल में 11 अगस्त को स्कूल संस्था की प्राचार्या श्रीमती सीमा सुशील कुमार जैन के मार्गदर्शन में 15 अगस्त के पूर्व नन्हे-मुन्ने बच्चो का फेन्सी ड्रेस का आयोजन रखा। जिसमें समस्त नन्हे-मुन्ने स्कूली छात्र-छात्राओं को हमारे देश को आजाद करवाने में फेंसी ड्रेस के माध्यम से बने चंद्रशेखर आजाद, जवाहरलाल नेहरू, भगतसिंह, झांसी की रानी, लाल बहादुर शास्त्री एवं भारत माता को दिखाते हुए बच्चो को जानकारी दी।  
         इस अवसर पर प्राचार्य श्रीमती जैन ने बताया की हमारे देष को अंग्रजो से आजादी दिलाने में इन सभी स्वतंत्र सेनानियां का महत्वपूर्ण योगदान रहा। जिससे हम आज स्वतंत्र है एवं अपनी मर्जी से कही भी आ जा सकते है। हमारी मर्जी से जो करना है, कर सकते है। हमारे पूर्वज अंग्रजो के गुलाम रहे, इसलिए हमें हमेषा इनके बलिदानो को जीवन में अंगीकार उनकी  पूजा करना चाहिए एवं उनके पद् चिन्हो पर चलना चाहिए। इस अवसर पर समस्त बच्चो में एक अलग ही उत्साह का माहौल देखने को मिला। बच्चे बडे ही उत्साह व उमंग के साथ स्कुल में भारत माता की जय, वंदे मातरम् के नारे लगाते नजर आए।। श्रीमति सीमा जैन ने बताया की स्कूली बच्चां को उनके पालको द्वारा घर से ही तैयार कर स्कूल भेजा गया था। साथ ही कहा कि समस्त पालक इसी प्रकार हमें सहयोग प्रदान करते रहे। जिससे हम लोग बच्चां को और नित नये आयाम से जोड़ सके।
यह रहे फेंसी ड्रेस में विजेता
फेन्सी ड्रेस के माध्यम से स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बनकर आए बच्चो में प्राचार्या एवं स्टॉफ द्वारा प्रथम,द्वितीय तृतीय का चयन किया गया। जिसमें पूर्व प्राथमिक कक्षा में कुमारी लक्षिता-मितेश कुमट (झांसी की रानी लक्ष्मीबाई) ने प्रथम स्थान, अरिहंत-मनीष कुमट (झाबुआ जिले की शान चंद्रशेखर आजाद) व प्रसन्न-मनीष कोठारी (जवाहरलाल नेहरू) ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। इसी क्रम में  प्राथमिक विद्यालय में चिन्मय-प्रकाश भांगु (भगतसिंह) ने प्रथम स्थान, कु. निष्ठा-आशीष भांगु (जवाहरलाल नेहरू), हितलेश-विजय बहादुरसिंह राठौर (झांसी की रानी लक्ष्मीबाई) ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया। साथ ही स्कूल प्राचार्य ने बताया की समस्त विजेता बच्चो को 15 अगस्त को प्रोत्साहित किया जाएगा। इस अवसर पर श्रीमति मोना जैन, शिल्पा सोनी, पायल मांडोत, निकीता वैरागी, दर्शना जैन, शिवानी सोनी, निलेश चौहान आदि उपस्थित थे।

72वां स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य में मानस स्कूल में हुआ फैंसी ड्रेस का आयोजन-fansi-dress-competetion-held-on-manas-school

ट्रायसिकल से अब सुरक्षित स्कूल पहुंच पाएगी रिना 

झाबुआ। जिले की ग्राम पंचायत बखतपुरा अंतर्गत आने वाले ग्राम बोरिया की गरीब परिवार की लाड़ली लक्ष्मी रीना मेड़ा, जो दोनो पैरो से विकलांग है, उसके सपने अब धरातल स्थल पर धीरे-धीरे सच होने लगे है। राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के प्रयासों से रीना जहां पैरों एवं शरीर के अन्य अंगों में घांव-सूजन आने के बाद जिला चिकित्सालय में उपचार के बाद स्वस्थ होकर अपने घर लौट आई है। इसी क्रम में आयोग की टीम ने मंगलवार को बालिका को स्कूल जाने के लिए जिला प्रषासन के सहयोग से ट्रायसिकल भी उपलब्ध करवा दी है। जिससे स्कूल जाते समय एवं गांव में घूमते समय इस लाडली बिटियां के पैरों में रगड़न नहीं आने से सूजन एवं घांव भी नहीं होगा। 
              आयोग की टीम के प्रयासों से ही रीना जिला चिकित्सालय में उपचार के बाद पूरी तरह से स्वस्थ होने के बाद बालिका ने आयोग के प्रतिनिधी प्रदेषाध्यक्ष मनीष कुमट से मांग रखी थी की वह कक्षा पांचवी तक तो गांव में ही शासकीय स्कूल होने से पढ़ चुकी है। आगे पढने हेतु गांव से दो किमी दूरी पर स्थित झकनावदा स्कूल पर जाना पढता है, विकलांगता के कारण वह इतनी दूर जाने में असक्षम है। इसके साथ ही उसका अन्य बच्चों के साथ खेलने का भी मन होता है। 
ट्रायसिकल दिलवाई गई
पश्चात् राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के प्रतिनिधी प्रदेषाध्यक्ष श्री कुमट ने कलेक्टर आशीष सक्सेना को विकलांग रीना को आगे पढाने की इच्छा को बताते हुए उक्त समस्या से अवगत करवाया। कलेक्टर श्री सक्सेना ने इस मामले को तत्काल संज्ञान में लेते हुए उनके निर्देष पर प्रशासन द्वारा ट्रायसिकल उपलब्ध करवाई गई। जिसके बाद मंगलवार को सुबह आयोग टीम ने रीना के घर पहुंचकर रीना को ट्रायसिकल भेंट की। इस अवसर पर आयोग टीम ने रिना से कहा कि अब आप षिक्षा के क्षैत्र में अग्रसर हो और किसी भी प्रकार की म्दद की जरूरत हो तो आप हमारी मद्द मांगे। हमारी संस्था हर समय गरीब परिवारों के लोगों की मद्द के लिए तत्त्पर है। साथ ही आयोग की टीम ने कलेक्टर श्री सक्सेना का भी विषेष सहयोग के लिए आभार व्यक्त किया।
ग्राम पंचायत का इस ओर ध्यान नही गया
ट्रायसिकल प्रदान करने के दौरान बोरिया निवासी ग्रामीण श्री पारगी ने आयोग को बताया की यह कार्य चाहती तो ग्राम पंचायत एवं वरिष्ठ अधिकारी भी कब से कर सकते थे, लेकिन अवगत करवाने के बाद भी इस ओर किसी का ध्यान आकर्षित नहीं गया। रीना कक्षा 5 वी पास करने के बाद आगे कैसे पढेगी, यह कहकर जवाबदारो को ट्रायसिकल के लिये कई बार अवगत करवाया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। आयोग के इस कार्य की उन्होंने सरहाना की।
इनका रहा सराहनीय सहयोग
रीना की संपूर्ण मद्द में आयोग के पदाधिकारी श्री कुमट के साथ किर्तीष जैन, पवन नाहर, निलेश भानपुरिया, श्वेता जैन, निलेश परमार, प्रवीण बैरागी, जमनालाल चौधरी, विजय पटेल, उत्तम गेहलोत, गोपाल विष्वकर्मा, समाजसेवी आशीष भांगु, नरेन्द्र राठौड़ शुभम कोटड़िया, मनीष मेड़ा, गजरी आदि का सराहनीय सहयोग रहा। इस दौरान इन पदाधिकारियों ने सामूहिक रूप से बालिका को भविष्य में अन्य हर संभव मद्द दिलवाने की भी जिम्मेदारी ली। 

कलेक्टर आशीष सक्सेना ने विकलांग रिना को उपलब्ध करवाई ट्रायसिकल

कलेक्टर , एसपी ने केक काटकर मनाई हाथीपावा पर पौधारोपण की पहली वर्षगांठ 

झाबुआ। रविवार तड़के सुबह शहर से सटी हाथीपावा पहाड़ी पर कोई पौधा लगा रहा था, तो कोई पूर्व में रोपे गए पौधों को पानी दे रहा था तो कोई अपने लगाए पौधों के पास खड़े होकर सेल्फी ले रहा था। सभी अपनी मस्ती में मशगुल थे। आयोजन स्थल पर पोहे एवं फल की भी व्यवस्था की गई थी।
   अवसर था हाथीपावा पहाड़ी पर पौधारोंपण कार्य के एक वर्ष पूर्ण होने का। इस अवसर पर जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, वन विभाग के साथ विभिन्न सामाजिक-धार्मिक संस्थाओं एवं स्कूली तथा कॉलेज के छात्र-छात्राओं द्वारा संयुक्त रूप से हाथीपावा महोत्सव मनाया गया। रविवार की सुबह 7 बजते ही एक के बाद एक हाथीपावा पहाड़ी पर लोगों का आना शुरू हो गया। कुछ ही देर में यहां लोगों का भारी मजमा लग गया। सभी अपने-अपने अनुसार हाथीपावा पर पौधारोपण की पहली वर्षगांठ मना रहे थे। मप्र उपभोक्ता हितैषी मंच के जिलाध्यक्ष एवं सामाजिक कार्यो में हमेशा अग्रणी रहने वाले जयेन्द्र बैरागी एक अनोखे अंदाज में दिखाई दिए। उन्होने हरे वस्त्र एवं रंग-बिरंगे छाते के साथ स्वच्छ झाबुआ हरा-भरा झाबुआ का संदेश दिया। 
किसी ने रोपे पौधें ने किसी ने दिया पानी
हाथीपावा पर पौघारोपण कार्य के एक वर्ष होने पर इस उपलक्ष में विभिन्न सामाजिक संगठनों एवं शहर के गणमान्य नागरिकों द्वारा यहां पौधे रोपने का कार्य करने के साथ ही पहले से उनके द्वारा रोपे गए पौधो को पानी भी दिया गया एवं पौधो के पास सपरिवार तथा समूह में खड़े रहकर सेल्फी ली। महिलाओं द्वारा समूह में पौधारोपण करने के साथ पौधों को पानी देने एवं वन विभाग द्वारा श्रमदान कर नए पौधे रोपने जैसे कार्य भी यहां किए गए। कई महिलाओं ने उत्साहित होकर भजन-किर्तन किए। उत्कृष्ट उमा विद्यालय, कन्या उमा विद्यालय, केषव इंटरनेषनल स्कूल, शारदा विद्या मंदिर, पद्म कॉलेज ऑफ नर्सिंग की छात्राओं ने भी हाथीपावा पहुंचकर यहां अलग-अलग समूह बनाकर पौधारोपण करने के साथ उनकी साज-संभाल का कार्य किया।


कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने काटा केक
आयोजनस्थल पर कलेक्टर आशीष सक्सेना एवं पुलिस अधीक्षक महेशचन्द्र जैन भी पहुंचे और उन्होंने पूरे हाथीपावा का अवलोकन करने के बाद यहां केक काटकर खुशियां मनाई गई। बाद सभी ने एक-दूसरे को केक खिलाया एवं टॉफी का वितरण किया गया। इस अवसर पर प्रषासनिक अधिकारियों में जिला पंचायत सीईओ जमुना भिड़े, एसडीएम झाबुआ केसी परते, वन विभाग के डीएफओ सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे। 
स्वल्पाहार का वितरण किया गया 
यहां कार्यक्रम करीब ढ़ाई घंटे तक चला। बाद कार्यक्रम से लौटने वाले लोगों के लिए आयोजन स्थल के प्रवेश द्वार पर स्वादिष्ट पोहे की व्यवस्था सकल व्यापारी संघ की ओर से की गई तो वहीं फल का वितरण शारदा विद्या मंदिर की ओर से किया गया। शुद्ध पेयजल की भी व्यवस्था की गई थी। संपूर्ण आयोजन के दौरान जिला आजाद साहित्य परिषद् के अध्यक्ष डॉ. केके त्रिवेदी, पीजी कॉलेज के जनभागीदारी समिति अध्यक्ष यशवंत भंडारी, सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर, सचिव कमलेश पटेल, सह-सचिव पंकज जैन मोगरा, कोषाध्यक्ष राजेश शाह, हरिशभाई शाह लाला, अमित जैन, युवा इकाई के हार्दिक अरोड़ा, आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट से सेवा प्रकल्प अध्यक्ष रविराजसिंह राठौर, सचिव सुनील चौहान, रोटरी क्लब आजाद से संजय कांठी, अजय रामावत, श्री शर्मा, संतोष प्रधान, शारदा विद्या मंदिर के संचालक राज्य कर्मचारी संघ के राकेश परमार, शारदा विद्या मंदिर से राकेश शाह, जिला पंचायत एवं आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट से सुधीर कुशवाह, जिला पेंशनर्स एसोसिएशन से अध्यक्ष रतनसिंह राठौर, जितेन्द्र शाह, पूर्व प्राचार्य समीउद्दीन सैयद, समाजसेवी अशोक शर्मा, संकल्प ग्रुप की संयोजक श्रीमती भारती सोनी, मप्र उपभोक्ता फोरम की सदस्य किरण शर्मा आदि उपस्थित थे।

हाथीपावा महोत्सव : विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं के साथ स्कूली छात्र-छात्राओं ने लगाए पौधे
हाथीपावा महोत्सव : विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं के साथ स्कूली छात्र-छात्राओं ने लगाए पौधे
हाथीपावा महोत्सव : Haathipawa-jhabua-विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं के साथ स्कूली छात्र-छात्राओं ने लगाए पौधे  हाथीपावा महोत्सव : Haathipava-jhabua-विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं के साथ स्कूली छात्र-छात्राओं ने लगाए पौधे

हाथीपावा महोत्सव : Haathipawa-jhabua-विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं के साथ स्कूली छात्र-छात्राओं ने लगाए पौधे

हाथीपावा महोत्सव : Haathipawa-jhabua-विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं के साथ स्कूली छात्र-छात्राओं ने लगाए पौधे

हाथीपावा महोत्सव : Haathipawa-jhabua-विभिन्न सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं के साथ स्कूली छात्र-छात्राओं ने लगाए पौधे

झाबुआ। आज अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को जिले में जिला स्तर पर कृषि उपज मण्डी परिसर एवं जिले के ब्लाक स्तर एवं शैक्षणिक संस्थाओं में सामूहिक योग कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिला स्तर पर आयोजित योग कार्यक्रम में विधायक शांतिलाल बिलवाल, कलेक्टर आशीष सक्सेना, पुलिस अधीक्षक महेशचन्द जैन, सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे, जिला शिक्षा अधिकारी सोलंकी सहित शासकीय सेवको, सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों एवं विद्यार्थियों ने भाग लिया। 
प्रधानमंत्री के योग कार्यक्रम का सीधा प्रसारण भी देखा
       योग दिवस के अवसर पर उत्तराखंड मे आयोजित कार्यक्रम मे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने सहभागिता की। कार्यक्रम का सीधा प्रसारण एलईडी के माध्यम से जिलेवासियो ने देखा एवं प्रधानमंत्री जी के संदेष को सुना।
केन्द्रीय विद्यालय में भी हुआ अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन 
गेल झाबुआ द्वारा भी आज अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का आयोजन किया गया। योग के प्रति जागरूकता उत्पन्न करने तथा योग को सर्वव्यापी एवं विश्वव्यापी बनाने के लिए योग दिवस पर सामूहिक योग किया गया। योग हमारी सबसे समृद्ध और संपंन्न सांस्कृतिक विरासत के रूप में हमें प्राप्त हुआ है जो हमारे जीवन और स्वास्थ्य के लिए सबसे उपयुक्त विधा है। 

झाबुआ । कैमरा क्लब आॅफ झाबुआ एवं जेसीएम फोटोग्राफिक सोसायटी (नई दिल्ली) के संयुक्त तत्वावधान मे अंतर्राष्ट्रीयफोटो प्रतियोगिता का दो दिवसीय आयोजन संपन्न हुआ। चयन समिति के सदस्य अंतरराष्ट्रीय ख्याती प्राप्त छायाकार चित्रांगद कुमार नई दिल्ली, अखिल हार्डिया एवं पदमाकर गाडे इंदोर थे। कैमरा क्लब आॅफ झाबुआ के सचिव हिमांशु भटट ने जानकारी देते हुए बताया की उक्त आयोजन 3 एवं 4 मई को क्लब कार्यालय पर रखा गया। प्रतियोगिता मे विश्व के 29 देशों के 329 छायाकारों ने अपनी प्रविष्टीयां इंटरनेट के माध्यम से भेजी थी। प्रतियोगिता मे कलर , श्वेत- श्याम, ट्रेवल, नेचर , जर्नलिज्म, वाईल्ड लाईफ जैसे विषय पर 6000 से अधिक छायाचित्र प्राप्त हुए थे। प्राप्त छायाचित्रों का चयन ज्यूरी सदस्यो द्वारा 3 एवं 4 मई को किया गया। चयन के बाद कुल 1000 से अधिक छायाचित्र प्रदर्शनी हेतु एवं 176 अवार्ड के लिए चयन किए गए है।   


         आयोजित प्रतियोगिता के परिणाम 15 मई तक घोषित किए जाएंगे। इसके पश्चात चयनित चित्रों का प्रदर्शन स्लाईड शो के माध्यम से किया जाएगा। जिसकी तिथी जल्द ही घोषित की जाएगी। क्लब के अध्यक्ष श्याम त्रिवदी ने बताया कि जिले के शोकिया एवं व्यावसायिक फोटोग्राफरो को संगठित करने व फोटोग्राफी के कलात्मक विकास को बढावा देने के उददेश्य से पिछले वर्ष सितंबर 2017 मे कैमरा क्लब आॅफ झाबुआ का गठन किया गया था। जिसकी मान्यता फोटोग्राफिक सोसायटी आॅफ अमेरिका (अमेरिका) से ली गई। क्लब का उददेश्य जिले की आदिवासी लोक संस्कृति को फोटोग्राफी के माध्यम से प्रदेश, देश एवं विश्व स्तर पर पहचान दिलाना है।
          आयोजित की गई प्रतियोगिता फोटोग्राफिक सोसायटी आॅफ अमेरिका (अमेरिका), आईसीएस (अमेरिका), आईयुपी (फ्रांस), डब्ल्युपीएआई (नई दिल्ली) से संबंद्व थी। दो दिनों तक चले इस आयोजन के दौरान जिले के कई फोटोग्राफरो ने अपनी सहभागिता देते हुए ज्यूरी सदस्यो से फोटोग्राफी संबंधी चर्चा कर जानकारी प्राप्त की एवं आधुनिक तकनीक की फोटोग्राफी को समझा। ज्यूरी के सदस्य कुमार, हार्डिया एवं गाडे द्वारा फोटोग्राफी की बारिकीयों से सभी को अवगत कराते हुए जिज्ञासा का समाधान किया गया। आयोजन के अंतिम दिन ख्यात लेखक डा रामशंकर चंचल, क्लब अध्यक्ष श्याम त्रिवेदी एवं मुनीन्द्र त्रिवेदी ने प्रतिक चिन्ह भेेंट कर ज्यूरी सदस्यों का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर जितेन्द्र वर्मा, गितांशु भट्ट,अनिमेश भट्ट, रितेश त्रिवेदी, मनीष त्रिवेदी सहित कई फोटोग्राफर उपस्थित थे।

जिले मे अंतरराष्ट्रीय फोटो प्रतियोगिता का आयोजन संपन्न , विश्व के 29 देशो के छायाकारों ने भेजी प्रविष्टीयां-Camera-Club-Jhabua-Organized-International-Photographic-Contest-Distributed-by-Films-of-29-Countries-of-the-World

Trending

[random][carousel1 autoplay]

More From Web

आपकी राय / आपके विचार .....

निष्पक्ष, और निडर पत्रकारिता समाज के उत्थान के लिए बहुत जरुरी है , उम्मीद करते है की आशा न्यूज़ समाचार पत्र भी निरंतर इस कर्त्तव्य पथ पर चलते हुए समाज को एक नई दिशा दिखायेगा , संपादक और पूरी टीम बधाई की पात्र है !- अंतर सिंह आर्य , पूर्व प्रभारी मंत्री Whatsapp Status Shel Silverstein Poems Facetime for PC Download

आशा न्यूज़ समाचार पत्र के शुरुवात पर हार्दिक बधाई , शुभकामनाये !!!!- निर्मला भूरिया , विधायक

जिले में समाचार पत्रो की भरमार है , सच को जनता के सामने लाना और समाज के विकास में योगदान समाचार पत्रो का प्रथम ध्येय होना चाहिए ... उम्मीद करते है की आशा न्यूज़ सच की कसौटी और समाज के उत्थान में एक अहम कड़ी बनकर उभरेगा - कांतिलाल भूरिया , सांसद

आशा न्यूज़ से में फेसबुक के माध्यम से लम्बे समय से जुड़ा हुआ हूँ , प्रकाशित खबरे निश्चित ही सच की कसौटी ओर आमजन के विकास के बीच एक अहम कड़ी है , आशा न्यूज़ की पूरी टीम बधाई की पात्र है .- शांतिलाल बिलवाल , विधायक झाबुआ

आशा न्यूज़ चैनल की शुरुवात पर बधाई , कुछ समय पूर्व प्रकाशित एक अंक पड़ा था तीखे तेवर , निडर पत्रकारिता इस न्यूज़ चैनल की प्रथम प्राथमिकता है जो प्रकाशित उस अंक में मुझे प्रतीत हुआ , नई शुरुवात के लिए बधाई और शुभकामनाये.- कलावती भूरिया , जिला पंचायत अध्यक्ष

मुझे झाबुआ आये कुछ ही समय हुआ है , अभी पिछले सप्ताह ही एक शासकीय स्कूल में भारी अनियमितता की जानकारी मुझे आशा न्यूज़ द्वारा मिली थी तब सम्बंधित अधिकारी को निर्देशित कर पुरे मामले को संज्ञान में लेने का निर्देश दिया गया था समाचार पत्रो का कर्त्तव्य आशा न्यूज़ द्वारा भली भाति निर्वहन किया जा रहा है निश्चित है की भविष्य में यह आशा न्यूज़ जिले के लिए अहम कड़ी बनकर उभरेगा !!- डॉ अरुणा गुप्ता , पूर्व कलेक्टर झाबुआ

Congratulations on the beginning of Asha Newspaper .... Sharp frown, fearless Journalism first Priority of the Newspaper . The Entire Team Deserves Congratulations... & heartly Best Wishes- कृष्णा वेणी देसावतु , पूर्व एसपी झाबुआ

आशा न्यूज़ का ताजा प्रकाशित अंक मैंने दो तीन पहले ही पड़ा था आशा न्यूज़ पर प्रकाशित खबरों की सामग्री अद्भुत है , समाज के हर एक पहलु धर्म , अपराध , राजनीती जैसी हर श्रेणी की खबरों को इस समाचार पत्र में बखूबी प्रस्तुत किया गया है जो पाठको और समाज के हर वर्ग के लोगो के लिए नितांत आवश्यक है , समाचार पत्र की नयी शुरुवात लिए बधाई !!- रचना भदौरिया , एडिशनल एसपी झाबुआ

महज़ ३ वर्ष के अल्प समय में आशा न्यूज़ समूचे प्रदेश का उभरता और अग्रणी समाचार पत्र के रूप में आम जन के सामने है , मुद्दा चाहे सामाजिक ,राजनैतिक , प्रशासनिक कुछ भी हो, हर एक खबर का पूरा कवरेज और सच को सामने लाने की अतुल्य क्षमता निश्चित ही आगामी दिनों में इस आशा न्यूज़ के लिए एक वरदान साबित होगी, संपादक और पूरी टीम को हृदय से आभार और शुभकामनाएँ !!- संजीव दुबे , निदेशक एसडी एकेडमी झाबुआ

Contact Form

Name

Email *

Message *

E-PAPER
Layout
Boxed Full
Boxed Background Image
Main Color
#007ABE
Powered by Blogger.