झाबुआ। शनिवार को शनिचरी हरियाली अमावस्या इस बार बन रहा है सावन, शनिवार और हरियाली अमावस्या का अदभुद संयोग में नगर में श्रद्धा एवं भक्ति के साथ श्रद्धालुजनों द्वारा इस पर्व को मनाया गया । सावन मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या को हरियाली अमावस्या का अत्यंत शुभ संयोग होने से मंदिरों एवं देवालयो, शिवालयों में हरियाली से आच्छादित झांकिया बनाई गई तथा भगवान के झुलों के दर्शन एवं झांकियों को निहारने के लिये श्रद्धालुओं का तांता लग गया। इस बार ये अमावस्या अश्लेषा नक्षत्र में आई जिसका व्यातिपात योग अत्याधिक शुभ माना गया। 
       स्थानीय स्वर्णकार समाज के राधाकृष्ण मार्ग स्थित  भगवान श्री सत्यनारायण जी के मंदिर को हरियाली से आच्छादित आकर्षक झांकी समाज के अध्यक्ष चेतन सोनी के मार्गदर्शन में  लगाई गई । रात्री आठ बजे स्वर्णकार समाज की महिलाओं ने भजन कीर्तन का कार्यक्रम आयोजित किये । मंदिर में भगवान लड्डू गोपाल का झुला, एवं शंकर भगवान की झांकी भी श्रद्धाल्रुओं के लिये आकर्षण का केन्द्र रही । धडी घण्टालों के साथ महा आरती में बडी संख्या में समाजजनो एवं नगर के श्रद्धालुओं ने  भाग लिया तथा प्रसादी का वितरण किया गया ।
       भगवान गोवर्धननाथजी की हवेली में भी हरियाली अमावस्या के शुभ अवसर पर भगवान गोवर्धननाथ जी का आकर्षक हरियाली से आच्छादित फुलों का झुला पण्डित  दिलीप आचार्य के नेतृत्व में बनाया गया । सायंकाल 7-30 बजे से भगवान के कपाट खुलते ही सैकडो की संख्या में महिला एवं पुरूष श्रद्धालुओं ने भगवान को मत्थ टेक कर दर्शन लाभ लिया ति एकटक भगवान की मनोहारी छबि को निहारते रहें। इस अवसर पर पण्डित रमेश त्रिवेदी एवं उनकी टीम द्वारा परम्परागत झुला गीतों की संगीतमयी प्रस्तुति से पूरा वातावरण प्रभूमय हो गया ।
     नीमा समाज के श्री चारभूजा नाथ मंदिर पर भी हरियाली अमावस्या पर भगवान का हरे वस्त्रो से आकर्षक श्रृंगार किया गया  पण्डित विश्वनाथ शुक्ला द्वारा भगवान बालगोपाल का हरियाली से आच्छादित झुला आकर्षण का केन्द्र बना रहा जहां महिलाओं ने  भ्रवान लड्डू गोपाल को झुला झुला कर अपने आपको धन्य महसूस किया । भगवान चारभुजानाथ की महा मंगल आरती में बडी संख्या में समाजजनों सहित बडी संख्या में महिलाओं ने दर्शनलाभ प्राप्त कर भगवान को नमन किया । प्रसादी वितरण भी किया गया ।
     श्री राधकृष्ण सरकार के मंदिर में भी भगवान श्रीकृष्ण की आकर्षक एवं सुंदर झांकी महन्त मनोज बैरागी द्वारा सजाई गई । हरियाली अमावस्या पर बडी संख्या में श्रद्धाल्रुओं ने दर्शनलाभ प्राप्त किये। विवेकानंद कालोनी स्थित उमापति महादेव मंदिर पर भी हरियाली से आच्छादित भगवान भोलेनाथ की सुंदर झांकी लगाई गई । पण्डित प्रदीप भट्ट द्वारा हरियाली से  भगवान के मंदिर में सजावट आकर्षण का केन्द्र रही । भगवान की रात्री 7-30 बजे संपन्न आरती में बडी संख्या में  श्रद्धालुओ ने  भाग लिया तथा इस अवसर पर दुग्ध प्रसादी का वितरण किया गया ।
नगर के सभी देवालयों एवं शिवालयों मे शनिश्चरी हरियाली अमावस्या के अवसर पर झांकिया लगाई गई तथा सायंकाल मंदिरों में दर्शनार्थियों का तांता लगा रहा । शश्चिरी हरियाली अमावस्या पर कई जगहों पर पौधारोपण भी किया गया ।