सुहागिन महिलाओं द्वारा पूजन कर अपने पति की लंबी उम्र की कामना की 

झाबुआ। शहर में 1 सितंबर, रविवार को हरितालिका तीज व्रत मनाया गया। इस अवसर पर विवेकानंद काॅलोनी स्थित उमापति महादेव मंदिर पर दिनभर महिलाओं की पूजन के लिए भीड़ लगी रहीं। महिलाओं द्वारा बालू रेत से शिव परिवार बनाकर उनकी विधि-विधान से पूजन की। बाद रात्रि में जागरण एवं भजन-किर्तन भी किए। 
उमापति महादेव मंदिर के पूजारी पं. प्रदीप भट्ट ने बताया कि अलसुबह से ही महिलाओं की मंदिर में  पूजन-दर्शन के लिए भीड़ लगी रहीं। महिलाओं के साथ बालिकाओं द्वारा भी सज-संवरकर एवं पूजा की थालियां सजाकर मंदिर आकर यहां बालू रेत से बनाए गए भगवान शिवजी एवं माता गौराजी के साथ गणेशजी एवं कार्तिकजी की पूजन की गई। पूजन अक्षय मुर्हुत में सुबह से लेकर रात तक चलती रहीं। पूजन में विभिन्न आम, जाम, आंवल के पत्ते, तुलसी के पत्ते, बिल्व पत्र, केले के पत्ते इत्यादि का उपयोग किया गया। बाद सुहागिन महिलाओं ने अपने पति की लंबी उम्र की कामना एवं परिवार की सुख-समृद्धि तथा बालिकाओं ने अच्छे वर के लिए भगवान से कामना की। 
     इस दिन महिलाओं ने अन्न-जल का त्याग किया। दिनभर पूजन का क्रम चलने के बाद रात्रि जागरण कर समूह में भजन-किर्तन किए।   
दिनभर चलता रहा पूजन-पाठ का क्रम
आज गणेश चतुर्थी पर सुबह यथा शक्ति दान देकर एवं भगवान श्री गणेश को भोग लगाकर महिलाओं द्वारा व्रत खोलते हुए अन्न-जल ग्रहण किया गया। साथ ही बालू रेत से बनाए गए शिव परिवार का तालाब में विसर्जन किया गया। इस व्रत के महत्व के बारे में विनीता महोदिया ने बताया कि इस दिन माता पार्वतीजी ने अपनी सहेली के साथ वन जाकर आराधना की थी। उसी निमित्त यह हरितालिका तीव्र व्रत रखा जाता है। इस दिन शहर के अन्य मंदिरों में भी दिनभर पूजन-पाठ का क्रम चलता रहा।

Jhabua News- उमापति महादेव मंदिर में मनाया गया हरितालिका तीज व्रत