आलौकिक अविस्मरणीय अनुभूति ने शरद पूर्णिमा पर ब्रजधाम की अनुभूति को किया साकार 
       मां दुर्गा की आराधना में हजारों पांवों ने संगीत की स्वर लहरियों के साथ अनुशासनबद्ध होकर थिरक कर शरद पूर्णिमा को एक उत्सव के रूप् में तब्दिल कर दिया । राजवाडा चौक में रात्रि 9 बजे से जमें गरबो के रंग में रंगे, माँ की आराधना में तल्लीन माँ भक्त व इसको निहारती दर्शकों की हजारों जोड़ी आंखे, अलपक होकर इस भक्ति एवं आराधना के  गरबों रास का आनन्द उठाती दिखाई दी । रात्रि 11.30 पर महशूर फिल्म अभिनेता आदित्य पंचोली को अपने बीच पाकर , युवा वर्ग सहित नगरवासी रोमांचित हो मस्ती में झूमने व गाने लगे ।         फिल्म अदाकार आदित्य पंचोली सीधे मुख्य मंच पर पहुँचे वहां सभी से मिल यहाँ का दृश्य देख वे स्वंय को रोक न पाए और उतर गए अपने चाहने वाले हजारों दर्शकों के बीच जो उनको समीप से देखने के लिए लालायित थे । वे गरबा ग्राउंड आर्केस्ट्रा के मंच पर पहुँचे  सभी से मुखातिब हो उनको अपनी चर्चित फिल्मों के डायलॉग सुनाए व उनका अभिवादन भी किया । करीब आधे घण्टे से अधिक समय तक वे आर्केस्ट्रा मंच पर जनता का अभिवादन करते हुए उनसे मुखातिब होते रहे और वहां से वे पुनः मुख्य मंच पर पहुँचे । अतिथि स्वागत की इस परम्परा में राजवाडा मित्र मंडल ने इस बार अनूठी पहल की । महिला सशक्तिकरण की दिशा में प्रयासरत मित्र मंडल ने यह कार्य सिर्फ और सिर्फ अपनी महिला मंडल के हाथों करवाया । स्वागत के बाद मित्र मंडल द्वारा नवदुर्गा महोत्सव के दौरान आयोजित स्वच्छता चित्रकला प्रतियोगिता के विजेता बच्चो को मुख्य अतिथि आदित्य पंचोली के हाथों पुरस्कार प्रदान किए गए ।
            कार्यक्रम की अगली कड़ी में झाबुआ शहर की तीन अति विशिष्ट प्रतिभा को तालियों की गडगडाहट के बीच सम्मानित किया गया । अंगदान के रूप मे स्वयं की कीडनी को अपनी मां को दान करने वाली कु. आयुषी दत्त को आदित्य पंचोली द्वारा प्रशस्ति पत्र एवं शाल ओडा कर अंगदान व उसके बाद उसको लेकर जागरूकता अभियान चलाने के लिए पुरस्कृत किया । वही  अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर देश एवं अपने शहर का नाम रोशन करने वाली खिलाडी कु. सिमरन राठौर को क्रिडा के क्षेत्र में अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर उपलब्धि हांसील करने पर प्रशस्ति पत्र एवं शाल ओढा कर सम्मानित किया । वही नगर के बहुमुखी प्रतिभा के धनी एक कुशल संगीतकार, चित्रकार, कोरियोग्राफर , रंगमंच के कलाकार व प्रशिक्षक आशीष पाण्डे का सम्मान आदित्य पंचोली के हाथों मित्र मंडल द्वारा कराया  गया ।
            इसी बीच ठीक 12 बजे मध्यरात्री को श्री देवधर्मराज मंदिर पर महाआरती भी हुई व उसके पश्चात 500 किलो केशर मिश्रित केशरिया दूध की प्रसादी का वितरण विभिन्न काउंटरों के माध्यम से प्रत्येक आगन्तुक को किया गया ।
             कार्यक्रम के अंत मे फिल्म कलाकार आदित्य पंचोली ने अपने सम्बोधन में यह कहा कि आपके लाड़ले चुन्नू भैय्या हमारे भी मित्र हैं । दुनिया में मित्रता का एक ऐसा रिश्ता हैं जो हम तय करते हैं । इससे बढ़कर और कोई रिश्ता नहीं । में इनके आग्रह को टाल नहीं सका । पहले भी झाबुआ आ चुका हूँ, और आपके इस प्यार व स्नेह का आभारी हूँ । आपका यह आयोजन व दर्शकों का यह प्यार मेैं कभी नही भूल सकता । पुनः आऊँगा यह मेरा वादा है आपसे ।
      कार्यक्रम का संचालन नगर के ख्यातनाम मंच संचालक मनीष त्रिवेदी व अंकुश कांठी ने किया व आभार पार्षद अजय सोनी ने व्यक्त किया ।
लाइव वीडियो