झाबुआ। आयुक्त लोक शिक्षण श्रीमती जयश्री कियावत ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों को भोपाल के इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय बालरंग में समन्वय के साथ बेहतर व्यवस्था किये जाने के निर्देश दिये हैं। राष्ट्रीय बालरंग 19 से 21 दिसम्बर तक आयोजित होगा। बालरंग में देश भर के विभिन्न राज्यों के स्कूलों के बच्चे सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति देंगे।
           बालरंग में 19 दिसम्बर को राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के अन्तर्गत संभाग स्तर पर साहित्यिक, सांस्कृतिक, संस्कृत, मदरसा और निरूशक्त बच्चों की प्रतियोगिता होंगी। राष्ट्रीय बालरंग का उद्घाटन समारोह 20 दिसम्बर को प्रातरू 10 बजे और समापन 21 दिसम्बर को दोपहर 3 बजे होगा।
            राष्ट्रीय बालरंग में 16 प्रदेश और 7 उत्तर पूर्व प्रदेशों के करीब 600 प्रतिभागी बच्चों समेत अधिकारी शामिल होंगे। यह बच्चे अपने प्रांतों के लोक नृत्यों की प्रस्तुतियाँ देंगे। लघु भारत प्रदर्श्नी और समर्थ भारत बालरंग के विशेष आकर्षण होंगे। बालरंग के दौरान 5 से 6 हजार बच्चों की प्रतिदिन सहभागिता रहती है। साहित्यिक प्रतियोगिता में स्व-रचित काव्य पाठ, वाद-विवाद, प्रश्न-मंच, तात्कालिक भाषण और सुलेख प्रमुख है। सांस्कृतिक प्रतियोगिता में सुगम संगीत, वादन, शास्त्रीय नृत्य, लोकगीत और लोकनृत्य, प्रमुख हैं। संस्कृत प्रतियोगिता में नृत्य-नाटिका, वेद पाठ, भाषण और निबंध, मदरसा प्रतियोगिता में गजल, कव्वाली, निबंध लेखन प्रमुख होंगे। निरूशक्त बच्चों के लिये सुगम संगीत, वादन, नृत्य, एकल अभिनय, सामूहिक अभिनय प्रमुख होंगे। 

भोपाल के इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय मानव संग्रहालय में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय बालरंग-Indira-Gandhi-National-Human-Museum-of-Bhopal-will-be-a-better-arrangement-for-organizing-National-Balrang-Competition