साध्वजी एवं मुनिश्री ने सुनाई मांगलिक  

झाबुआ।  चातुर्मास पर्व के दौरान भक्ति एवं तप की श्रृंखला सतत प्रवाहित हो रही है जिनालय जैन मंदिर से प्रभु दर्शन कर परमात्मा आदिनाथ, दादा गुरू देव राजेन्द्रसूरिजी मसा  के दर्शन वंदन तथा बाद साध्वी श्री रत्नरेखा म.सा. से मांगलिक का श्रवण कर 80 सदस्यीय श्री संघ ने गौडीपाश्र्वनाथ पहुँचकर संघ संघ पति अशोक राजेन्द्र समरथमल राठौर का आचार्य तीर्थेंद्र सूरि समिति ने शाल श्रीफल से स्वागत किया तथा उन्हे मंगलमय यात्रा की कामना के साथ बिदा किया । संघपति सहित श्री संघ के सदस्यों ने गौडी पाश्र्वनाथजी  प्रभु के दर्शन कर यात्रा प्रारंभ की ।  
80 सदस्यीय श्रीसंघ तीर्थ यात्रा पर हुआ रवाना -80-member-Shreesangh-proceeded-on-pilgrimage             इसके पूर्व गौडी पाश्र्वनाथ मंदिर पर बिराजित जिनचंद्र विजयजी म.सा. ने सभी को मांगलिक श्रवण कराई। संघ ने धार जिले के तीर्थ बाग पहुचकर दर्षन वंदन कियें एवं आचार्य भगवन हेमेन्द्र सुरी जी म.सा. के शिष्य चंद्रेशवविजय जी मं.सा. के प्रवचन श्रवण किये एवं झाबुआ संघ ने चातुर्मास के बाद झाबुआ पधारने मुनिश्री से विनती की तथा अंट्ठम तप की आराधना कराने के लियें भी विनती की गई। इसके बाद श्री संघ जैन तीर्थ तालनपुर , लक्ष्मणी, बलईमाता पहुचकर वहां दर्शन वंदन किये। संघ के लाभार्थी अनिल राठौर एवं संजय कांठी व तेज प्रकाश कोठारी है ।  संघ के सदस्य वर्धमान राठोैर, विमल कांठी, निर्मल मेहता, अभय धारीबाल, इन्द्रसेन संघवी, नरेन्द्र पगारीया, सुरेन्द्र सकलेचा, अनिल राठोर, अनिल रूनवाल, अशोक कटकानी, महेन्द्र जैन बाग वाले विशेष रूप से उपस्थित रहें।