झाबुआ : ब्लू व्हेल मोबाइल गेम की लत की शिकार लड़की (19) ने हाथ पर 25 घाव कर लिए जान देने का प्रयास किया। इसमें विफल रहने पर पुन: छत से कूदने की कोशिश की। हालांकि परिजनों ने काबू कर हॉस्पीटल पहुंचाया। पीड़िता को हॉस्पीटल में भर्ती करवाए जाने पर यह घटना सामने आई। पीड़िता मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले के एक गांव की है। यहां दाहोद के गोदी रोड क्षेत्र में अपनी बहन के यहां रहने आई थी। रात 03:30 बजे बाथरूम में गई, 15 मिनट में ही किए घाव पीड़िता ने रात साढ़े तीन बजे खुद को नुकसान पहुंचाया। वह रात में घर के बाथरूम में गई। 15 ही मिनट में ब्लेड़ से हाथ पर घाव कर लिए। इसकी भनक लगने पर बहन का परिवार घबरा गया।  
 अब स्वस्थ हो रही है पीड़िता: मनोचिकित्सक
          दाहोद के मनोचिक्त्सक डा. नीलेश भैया ने बताया कि- पीड़िता के हाथ पर 25 घाव थे। 100 टांके लेने पड़े हैं।अभी उसकी मानसिक स्थिति नियंत्रण में है। इलाज चल रहा है। पीड़िता के मानसिक लक्षण गंभीर किस्म के थे। उसने दो बार आत्महत्या का प्रयास भी किया। कोई कहता है तू मर जा, नहीं तो मार ड़ालूंगा: पीड़िता के पिता पीड़िता के पिता ने बताया कि- लड़की पूरी-पूरी रात मोबाइल में व्यस्त रहती थी। सोती ही नहीं थी। व्यवहार में बदलाव-चिड़चिड़ापन लगने पर 21 सितंबर को हॉस्पीटल ले गए। मोहर्रम होने के चलते भर्ती नहीं किया। स्वास्थ्य में सुधार आ रहा था। छुट्‌टी होने पर दाहोद बहन के घर रहने भेज दिया-जहां उसने यह कदम उठा लिया। वह कहती थी कि मुझसे कोई कहता है कि-तू मर जा नहीं तो मैं तुझे मार ड़ालूंगा।