28 जनवरी से 31 जनवरी तक चलेगा अभियान

झाबुआ।  चाईल्ड लाईन व बाल कल्याण समिति के द्वारा शहर में छोटी छोटी दुकानदारो से लेकर बडी रेस्टॉरेन्ट में काम करने वाले नाबालिग छोटे बाल मजदूरो को काम ना करवाने के साथ ही दुकानदारो को यह समझाइश दी गई। यदि उनके द्वारा इनसे कार्य करवाया गया तो उन पर दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी। सोमवार को चाईल्ड लाईन व बाल कल्याण समिति के द्वारा यह अभियान 28 जनवरी सोमवार से प्रारंभ कर 31 जनवरी तक चलाया जायेगा। जिसमें विभिन्न जगहां जहां छोटी चाय की गुमटियो से लेकर बडे बडे हॉटलो एवं रेस्टांरेन्ट मे बाल श्रमिको के द्वारा करवाये जा रहे कार्यो पर रोक लगाकर उन्हे शिक्षा के क्षेत्र में बढावा देना का कार्य किया जायेगा। 
        चाईल्ड लाईन के कोओर्डिनेटर रवि सिंगाडिया ने बताया कि इस अभियान में दुकानदारो एवं संचालको को सिर्फ हमारे द्वारा समझाईश दी जा रही है। इसके बाद यदि 31 जनवरी के बाद भी यदि इन दुकानो एवं रेस्टॉरेन्टो पर बाल श्रमिक दिखाई दिये तो दुकान एवं रेस्टांरेन्ट संचालको पर बाल श्रमिक अधिनियम के तहत 50 हजार रूपये से लेकर 2 लॉख तक का जुर्माने के साथ ही 1 वर्ष का कारावास की सजा दी जायेगी। बाल कल्याण समिति के गोपाल पॅवार ने बताया कि शहर में कई छोटी छोटी दुकाने है जहां पर बाल श्रमिको से काम करवाया  जा रहा है। उनमे से अधिकांश ग्रामीण ईलाको के बच्चे है जो पढने के साथ साथ छोटी छोटी दुकानो पर कार्य भी करते है। इनमे से कुछ ऐसे बच्चे भी सामने आये है जिनके घर में उनके पिता की मृत्यु हो चुकी है ओर घर में कमाने वाला कोई भी व्यक्ति नही इसके लिये उन्हे कार्य करना पड रहा है। ऐसे में बच्चे को पढाई छोडकर काम करना एक मजबुरी बन चुका है। बाल कल्याण समिति के द्वारा ऐसे बच्चो को पढाई करवाने के साथ ही उनके परिवार में अन्य बडे सदस्यो को काम करने के लिये प्रेरित किया जायेगा। सोमवार को चले इस अभियान में बाल कल्याण समिति से निवेदिता सक्सेना, चाईल्ड लाईन से कोर्डिनेटर सुशिल सिंगाडिया, टीम मेम्बर रवि सिंगाडिया, राहुल चावडा, लेबर इन्पेक्टर संजय कनेश, पुलिस आरक्षक विशाल उपस्थित थे। 

चाईल्ड लाईन व बाल कल्याण समिति ने दुकानदारो से बाल मजदूरी बंद करने की करी अपील