झाबुआ। आखिरकार लम्बे इंतजार के बाद 1 सितंबर को देश मे इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक की शुरूआत हो गई। इसका केंद्रीयकृत शुभारंभ प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा नई दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम से पूरे देश मे एक साथ किया गया। ठीक उसी समय शाखा का औपचारिक शुभारंभ स्थानीय विधायक झाबुआ शांतिलाल बिलवाल की उपस्थिति मे बस स्टैण्ड के पीछे स्थित शहनाई गार्डन मे किया गया। प्रधानमंत्री जी के उद्बेधन को एलईडी स्क्रीन पर लाइव प्रसारण के माध्यम से आमजन ने देखा व सुना।
       इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के प्रारंभिक फेज मे झाबुआ जिले मे एक ब्रांच होगी जो मुख्य डाकघर झाबुआ मे संचालित होगी तथा इसके साथ इसके चार एक्सेस पाइंट होंगे जो कि पेटलावद उप डाकघर, करडावद शाखा डाकघर, रामगढ शाखा डाकघर, छोटी देहण्डी शाखा डाकघर मे होगे। आईपीपीबी बैक देश का पहला व एकमात्र पूर्ण सरकारी स्वामित्व वाला पेमेंट बैंक है। अभी देश मे 2 अन्य पेमेंट बैंक एयरटेल पेमेंट बैंक तथा पेटीएम पेमेंट बैंक कार्यरत है। लेकिन ये निजी पेमेंट बैंक है। पेमेंट बैंक मे कोई भी खाताधारक या छोटा बिजनेसमैन एक लाख रूपये तक जमा करा सकता है। आईपीपीबी बैंक के शुभारंभ के साथ ही इसका मोबाइल एप भी प्रधानमंत्रीजी द्वारा लांच किया गया, जिससे खाताधारक 100 से अधिक प्रकार के पेमेंट ऑनलाइन कर सकेंगे। इससे लोग एक ही प्लेटफॉर्म पर बिजली, पानी बिल, स्कूल कॉलेज फीस, डीटीएच, मोबाइल इत्यादि कई प्रकार के रिचार्ज, साथ ही छात्रवृत्ति, सब्सिडी, मनरेगा भुगतान, पेंषन आदि भी प्राप्त कर सकेंगे। मोबाइल एप द्वारा या एसएमएस द्वारा ग्राहक रिकवेस्ट दर्ज करवाकर अपने घर पर सेवाये ले सकते है। 
       इस दिन को ऐतिहासिक बनाने के लिये रतलाम डाक संभाग की रतलाम, झाबुआ, जावरा, पेटलावद सहित 650 इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक की शाखाओ एवं 2600 से अधिक एक्सेस पाईंट का उद्घाटन किया गया।
         इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के आने से ग्रामीण क्षेत्रो मे किसान, मजदूर एवं गरीब वर्ग के लोगो को बैंकिंग क्षेत्र से जुडने का मौका मिलेगा और उन्हे बैंकिंग के लिये गांव से दूर नही जाना पडेगा। इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के माध्यम से पोस्टमैन एवं ग्रामीण डाक सेवक द्वारा आम जनता को जीरो बैलेंस पर पेपरलेस खाता खोलने के साथ-साथ बैंकिंग संबंधी घर पहुंच सेवा प्रदान की जावेगी। इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के माध्यम से धन अंतरण, बिल भुगतान, मोबाईल एवं नेट बैंकिंग, आईएमपीएस/ एनईएफटी/आरटीजीएस से धन अंतरण की सुविधाये आम जनता को प्राप्त होगी तथा बचत खाते मे न्यूनतम बैलेंस रखने की कोई बाध्यता नही होगी। शीघ्र ही देश के समस्त डेढ़ लाख डाकघर ग्रामीण क्षेत्र मे स्थित है उन्हे इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक से जोडा जावेगा जो देश का सबसे बडा बैंकिंग नेटवर्क होगा।

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक का शुभारंभ, अब डाकघरों में मिलेगी बैंक जैसी सुविधा-india-post-payment-bank-jhabua