लक्ष्मीनगर विकास समिति के होली मिलन समारोह में, गृहिणीयों को वितरित किए गए सकोरे

समिति के अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर एवं सचिव अमित शर्मा ने बताया कि होली मिलन समारोह के दोरान इस प्रकार का सामाजिक काम मन को शांति पहुंचाता है। यह सकोरे प्लास्टिक एवं टीन के डब्बो को काटकर बनाए गए है। कार्यक्रम के पूर्व भजनों की शानदार प्रस्तुति लक्ष्मीनगर के राजेन्द्र शर्मा एवं गिरेन्द्रसिंह भगौरिया ने प्रस्तुत कर सभी का मन मोह लिया। 
ये थे अतिथि
इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष श्रीमती मन्नूबेन डोडियार, उपाध्यक्ष रोषनी डोडियार एवं वार्ड क्र. 17 की पार्षद मालूबेन डोडियार मुख्य अतिथि के रूप उपस्थित थी। विषेष अतिथि के रूप में भाजपा नेता मेगजी अमलियार, भाजपा व्यापारी प्रकोष्ठ के जिला संयोजक विकास शाह मौजूद थे। सभी अतिथियों का लक्ष्मीनगर विकास समिति महिला मंडल अध्यक्ष मोहिनी पालिवाल, सचिव कौषल्या महोबिया, कुंता सोनी, श्रीमती त्रिवेदी एवं अन्य पदाधिकारियों ने स्वागत किया।                                                                                                             


पुलिया पर सीसी रोड निर्माण की मांग
समिति की ओर से नपा से मांग की गई कि सरस्वती शिशु मंदिर के पास आधे लक्ष्मीनगर के अधूरे पड़े रोड़ एवं विवेकानंद नगर से लक्ष्मीनगर को जोड़ने वाले पुलिया पर सीसी रोड़ का निर्माण किया जाए। जिस पर नपा अध्यक्ष श्रीमती डोडियार ने सभी कार्य जल्द करवाने का आष्वासन दिया। इस अवसर पर लक्ष्मीनगर विकास समिति के हीरालाल पालिवाल, मांगीलाल राठौर, प्रदीप सोलंकी, विजय भार्गव, हेमेन्द्र राठौर, सोहन नायक, अजय शर्मा, बंटू भदौरिया, एसआरन सिरोटिया, योगेन्द्र नाहर, गुलाबसिंह, संजय सिकरवार, योगेन्द्र नाहर, गुलाबसिंह, संजय सिकरवार, आशीष डोसी, मांगीलाल नायक, योगेश शाह, हेमेन्द्र शाह, निलेश मेहता, विनोद शर्मा, अनिल व्यास, आशीष व्यासस, दुर्गेश  पाटीदार, किश न माहेष्वरी, रमेश चन्द्र राठौर, रमेश  सोलंकी, अशोक मिश्रा सहित करीब 400 लोग उपस्थित थे। 
सकोरो का निर्माण केटरिंग के व्यवसाय से डब्बे बचाकर किया गया
झाबुआ में लक्ष्मीनगर विकास समिति के नीरजसिंह राठौर ने अपने टेंट एवं केटरिंग के व्यवसाय में वर्षभर काम आने वाले टीन एवं प्लास्टिक के डब्बों का उपयोग सामाजिक कार्य में करने की सोची एवं उसी का परिणाम यह रहा है कि 6 माह तक केटरिंग व्यवसाय में उपयोग आने वाले तेल के डब्बो का विक्रय नहीं कर उन्हें पक्षियों को पानी पिलाने जैसे कार्य में लगाकर एक बड़ा सामाजिक संदेष देने का प्रयास किया गया। लगभग 90 खाली पड़े तेल के टीन एवं प्लास्टिक के डब्बो को कटवाकर उन्हें सकोरे का रूप दिया गया और आज उनका वितरण लक्ष्मीनगर के 90 परिवारों में वितरित कर एवं आत्मीय प्रसन्नता महसूस की जा रहीं है। संचालन मुकेष बैरागी ने किया एवं आभार रमेश महोबिया ने माना। 

पक्षियों की प्यास बुझाने की लक्ष्मीनगर विकास समिति की नई पहल -the-birds-can-be-quenched-in-the-fierce-heat-