Articles by "कांतिलाल भूरिया"

1 26 january 1 abvp 52 Administrative 1 b4 cinema 1 balaji dhaam 1 bhagoria 1 bhagoria festival jhabua 2 bjp 1 cinema hall jhabua 35 city 16 crime 22 cultural 37 education 2 election 15 events 14 Exclusive 2 Famous Place 6 gopal mandir jhabua 17 Health and Medical 92 jhabua 5 jhabua crime 1 Jhabua History 1 matangi 3 Movie Review 5 MPPSC 1 National Body Building Championship India 4 photo gallery 19 politics 2 ram sharnam jhabua 57 religious 5 religious place 2 Road Accident 3 sd academy 72 social 14 sports 2 tourist place 13 Video 2 Visiting Place 11 Women Jhabua 2 अखिल भारतीय किन्नर सम्मेलन 1 अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद 1 अंगूरी बनी अंगारा 1 अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 15 अपराध 1 अल्प विराम कार्यक्रम 6 अवैध शराब 1 आदित्य पंचोली 1 आदिवासी गुड़िया 1 आरटीओं 1 आलेख 1 आवंला नवमी 4 आसरा पारमार्थिक ट्रस्ट 1 ईद 1 उत्कृष्ट सड़क 23 ऋषभदेव बावन जिनालय 3 एकात्म यात्रा 2 एमपी पीएससी 1 कलाल समाज 1 कलावती भूरिया 3 कलेक्टर 15 कांग्रेस 6 कांतिलाल भूरिया 1 कार्तिक पूर्णिमा 2 किन्नर सम्मेलन 2 कृषि 1 कृषि महोत्सव 3 कृषि विज्ञान केन्द्र झाबुआ 1 केरोसीन 2 क्रिकेट टूर्नामेंट 4 खबरे अब तक 1 खेडापति हनुमान मंदिर 16 खेल 1 गडवाड़ा 1 गणगौर पर्व 1 गर्मी 1 गल पर्व 8 गायत्री शक्तिपीठ 2 गुड़िया कला झाबुआ 1 गोपाल पुरस्कार 4 गोपाल मंदिर झाबुआ 1 गोपाष्टमी 1 गोपेश्वर महादेव 14 घटनाए 1 चक्काजाम 4 जनसुनवाई 1 जय आदिवासी युवा संगठन 5 जय बजरंग व्यायाम शाला 1 जयस 7 जिला चिकित्सालय 3 जिला जेल 3 जिला विकलांग केन्द्र झाबुआ 1 जीवन ज्योति हॉस्पिटल 9 जैन मुनि 7 जैन सोश्यल गुुप 2 झकनावदा 98 झाबुआ 1 झाबुआ इतिहास 2 झाबुआ का राजा 3 झाबुआ पर्व 10 झाबुआ पुलिस 1 झूलेलाल जयंती 1 तुलसी विवाह 6 थांदला 3 दशहरा 1 दस्तक अभियान 1 दिल से कार्यक्रम 3 दीनदयाल उपाध्याय पुण्यतिथि 1 दीपावली 3 देवझिरी 47 धार्मिक 5 धार्मिक स्थल 10 नगरपालिका परिषद झाबुआ 5 नवरात्री 4 नवरात्री चल समारोह 4 नि:शुल्क स्वास्थ्य मेगा शिविर 1 निर्वाचन आयोग 6 परिवहन विभाग 2 पर्यटन स्थल 3 पल्स पोलियो अभियान 8 पारा 1 पावर लिफ्टिंग 16 पेटलावद 1 प्रजापिता ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय 3 प्रतियोगी परीक्षा 1 प्रधानमंत्री आवास योजना 37 प्रशासनिक 1 बजरंग दल 2 बाल कल्याण समिति 1 बेटी बचाओं अभियान 2 बोहरा समाज 1 ब्लू व्हेल गेम 1 भगोरिया पर्व 1 भगोरिया मेला 3 भगौरिया पर्व 1 भजन संध्या 1 भर्ती 2 भागवत कथा 30 भाजपा 1 भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान 1 भारतीय जैन संगठना 3 भारतीय संस्कृति ज्ञान परीक्षा 1 भावांतर योजना 2 मध्यप्रदेश बाल अधिकार संरक्षण आयोग 1 मल्टीप्लेक्स सिनेमा 2 महाशिवरात्रि 1 महिला आयोग 1 महिला एवं बाल विकास विभाग 1 मिशन इन्द्रधनुष 1 मुख्यमंत्री महिला सशक्तिकरण योजना 2 मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चोहान 9 मुस्लिम समाज 1 मुहर्रम 3 मूवी रिव्यु 8 मेघनगर 1 मेरे दीनदयाल सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता 2 मोड़ ब्राह्मण समाज 1 मोदी मोहल्ला 1 मोहनखेड़ा 3 यातायात 1 रक्तदान 1 रंगपुरा 2 राजगढ़ 13 राजनेतिक 10 राजवाडा चौक 11 राणापुर 5 रामशंकर चंचल 1 रामा 2 रायपुरिया 1 राष्ट्रीय एकता दिवस 2 राष्ट्रीय बॉडी बिल्डिंग चैम्पियनशीप 4 राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना 1 राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण 1 रोग निदान 3 रोजगार मेला 16 रोटरी क्लब 2 लक्ष्मीनगर विकास समिति 1 लाडली शिक्षा पर्व 2 वनवासी कल्याण परिषद 1 वरदान नर्सिंग होम 1 वाटसएप 1 विधायक 4 विधायक शांतिलाल बिलवाल 1 विश्व उपभोक्ता संरक्षण दिवस 2 विश्व विकलांग दिवस 2 विश्व हिन्दू परिषद 1 वेलेंटाईन डे 3 व्यापारी प्रीमियर लीग 1 शरद पूर्णिमा 5 शासकीय महाविद्यालय झाबुआ 35 शिक्षा 1 श्रद्धांजलि सभा 3 श्री गौड़ी पार्श्वनाथ जैन मंदिर 11 सकल व्यापारी संघ 2 सत्यसाई सेवा समिति 1 संपादकीय 2 सर्वब्राह्मण समाज 4 साज रंग झाबुआ 40 सामाजिक 1 सारंगी 14 सांस्कृतिक 1 सिंधी समाज 1 सीपीसीटी परीक्षा 3 स्थापना दिवस 4 स्वच्छ भारत मिशन 5 हज 3 हजरत दीदार शाह वली 7 हाथीपावा 1 हिन्दू नववर्ष 5 होली झाबुआ
Showing posts with label कांतिलाल भूरिया. Show all posts

अपनी मांगों को लेकर राज्यपाल के नाम सोंपा ज्ञापन 

झाबुआ । डॉ एपीजे अब्दुल कलाम यूआईटी झाबुआ के संविदा शिक्षकों ने आज क्षेत्रीय सांसद कांतिलाल भूरिया से मिलकर अपनी मांगों के समर्थन के लिए अपना ज्ञापन सोंपा। ज्ञापन में मांग की गई है कि मुख्यमंत्री मध्य प्रदेश शासन की नवीन नीति के अनुसार संविदा पर कार्यरत सभी शिक्षको को यथावत रखने तथा भविष्य में नियमित पदस्थापना में लाभ प्रदान किये जाने की मांग की।
            शिक्षकों ने अवगत कराया कि यूआईटी झाबुआ में समस्त शिक्षक शैक्षणिक अहर्ता पूर्ण करते हुए  6 बार साक्षात्कार में चयनित होकर लगातार 3 शैक्षणिक वर्षों से अध्यापन कार्य पूर्ण निष्ठा एवं सामर्थ्य  से करते आ रहे हैं। परन्तु  इन्हीं  पदों पर पुन: नियुक्ति हेतु विज्ञापन जारी किया गया। सभी संविदा शिक्षक अपने परिवार सहित अनुसूचित जनजाति बाहुल्य क्षेत्र में नियमितिकरण की उम्मीद से लगातार अपनी सेवाएं देते आ रहे हैं। सभी शिक्षक तकनीकी एवं अन्य विषयों में स्नातकोत्तर एवं पीएचडी उपाधिधारक है तथा तकनीकी विश्व विद्यालय / राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान से शिक्षित है। सभी शिक्षक निर्धारित शैक्षणिक अहर्ता पूर्ण करते है। फिर भी इन्हीं पदों पर पुन: संविदा भर्ती हेतु विज्ञप्ति जारी करने से इनमें घोर निराशा एवं असंतोष का भाव व्याीपत हो गया है।  


          सांसद भूरिया ने उनकी मांगों को ध्यानपूर्वक सुनते हुए इस संबंध में महामहीम राज्यपाल महोदय को पत्र लिखकर इनकी मांगों को सहानुभूतिपूर्वक विचार कर पूर्ण करने हेतु पत्र लिखने की बात कही। इस अवसर पर संविदा शिक्षक प्रो उमानंद  कुमार सिंह, प्रो कैलाश कुमार लहाडोतिया, प्रो कुशल शर्मा, प्रो जलज पंड्या, डॉ पवन  शर्मा, ओमेश हाड़ा , मनीष राठौर, प्रो अनुराग कुमार, प्रो वैशाली अहिरवार, प्रो पूजा खेते, प्रो लखन गाडगे, प्रो अमन पाटीदार, प्रो लालसिंह चौहान एवं जिला कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल मेहता, पूर्व डीएवीवी सदस्य डॉ विक्रांत भूरिया, कांग्रेस प्रवक्ता हर्ष भट्ट, आचार्य नामदेव, कमरू अजनार, पूर्व विधायक वालसिंह मेडा, आदि विशेष रूप से उपस्थित थे।

नियमित पदस्थापना हेतु इंजीनियरिंग कॉलेज के शिक्षकों ने सांसद भूरिया को ज्ञापन सोंपा-engineering-college-teachers-give-memorandum-to-MP-Kantilal-Bhuria

इस प्रकार यह अपराध गैर-जमानती होता था इस प्रावधान के रहते हुए इन समुदाय के लोगों पर यदि किसी प्रकार का शोषण किया जाता था तो उस दशा में अनुसूचित जाति/जनजाति के लोगों को कानून में पर्याप्त सुरक्षा, आत्मसम्मान की ग्यारंटी होती थी तथा यह समाज जीवन की मुख्य धारा में अपने आपको सुरक्षित महसूस करता था।  
      इस सुरक्षा की भावना के रहते हुए अनुसूचित जाति/जनजाति के लोग अपना जीवन निर्वाद रूप से जीने के लिए स्वतंत्र थे। किंतु हमारे देश की यह बड़ी विड़बना है कि संसद द्वारा बनाए गए कानून को भारत के सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अवैध घोषित कर दिया गया है। इस कानून को जमानती बना दिया गया है जिससे की इन समुदाय के लोगों को प्रताडित करने वाले लोगों को आजादी मिल गई है तथा इस अपराध को करने के बाद भी उन्हें  तुरंत कोर्ट से जमानत मिल जाएगी और शोषित व्यक्ति को न्याय तो क्या वह आत्मसम्मान से जीने का मूल-मंत्र भी खो देगा। दिन-प्रतिदिन उन्हें अन्यत समुदाय के लोगों के द्वारा प्रताडित किया जाएगा एवं अपराध करने के बाद भी अपराधी कानून की गिरफ्त से दूर होगा। 
    सर्वोच्च न्यायालय द्वारा उपरोक्त कानून को अवैध घोषित करने के पश्चात इस समुदाय में घोर निराशा व्याप्त हो गई है और वह अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। उन्हें डर है कि अन्य समुदाय के लोगों के द्वारा अनुसूचित जाति/जनजाति के लोगों को प्रताडित किया जाएगा जिससे की वह अपने आपको ठगा हुआ महसूस कर रहें है।
      भारत सरकार को इस बिंदु पर गंभीरता से कार्यवाही करते हुए सर्वोच्च न्यायालय द्वारा इस समुदाय के लोगों की सुरक्षा के लिए जो कानून अवैध घोषित किया गया है उसे बहाल किया जाना चाहिए अन्यथा यह मान लिया जाएगा कि इस सरकार की अनुसूचित जाति/जनजाति के लोगों के प्रति किसी भी प्रकार की सहानुभूति नहीं है तथा वह इसके अधिकारों के संरक्षण हेतु गंभीर नहीं है। 
सांसद कांतिलाल भूरिया ने संसद में उठाया एसटी/एससी एक्ट में किए संशोधन का मुद्दा-MP-Kantilal-Bhuria-issue-amendment-in-the-ST-SC-Act-raised-in-Parliament         केन्द्र सरकार पर दबाव बनाते हुए श्री भूरिया के साथ संसद के प्रतिपक्ष नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने संसद भवन में केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भेंट कर इस बारे में अवगत कराया। तत्पदश्चात संसदीय कार्यमंत्री श्री अनंत कुमार द्वारा लोकसभा में वक्तव्य दिया गया कि सरकार इस बारे में सर्वोच्च न्यायालय में पुर्नविचार याचिका प्रस्तुत करेगी। जिससे की कानून को पुन मान्य किया जा सकेगा। जिससे की अनुसूचित जाति/जनजाति के लोगों को राहत मिलेगी। उक्त जानकारी जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष डॉ.विक्रांत भूरिया एवं प्रवक्ता हर्ष भट्ट ने दी।

झाबुआ । झाबुआ से पेटलावद, रतलाम मार्ग पर ग्राम रामनगर के निकट लगभग 6 वर्ष पूर्व केंद्रीय सड़क निधि से प्राप्त धन के माध्यम से नवीनीकृत किया गया पुल प्रदेश की सरकार की उदासिनता एवं प्रशासन की भारी लापरवाही के चलते धराशायी हो गया हैं । पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं सांसद कांतिलाल भूरिया ने इसका उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की हैं, तथा दोषियों के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की हैं  । श्री भूरिया ने कहा कि सन 1972 में इस ब्रीज का निर्माण किया गया था । प्रदेश में पिछले 14 वर्षा से भाजपा का शासन हैं, इस बीच प्रदेश में कई जगह ब्रीज, स्टापडेम एवं तालाबों में दरार पडने की खबरे लगातार आ रही हैं, किन्तु शासन प्रशासन कागजों पर इनकी मरम्मत करवाकर जनता की गाडी कमाई पर चूना लगा रहा हैं ।
धराशाही हुए पुल को लेकर  सांसद कांतिलाल भूरिया ने उच्चस्तरीय जांच की मांग की        भूरिया ने शिवराज सरकार को आडे हाथों लेते हुए कहा कि शिवराज चौहान, अमेरिका में जाकर मध्यप्रदेश की सडकों की तारीफ कर अपनी सरकार की उपनब्धीयों को गिना रहे हैं, यहाॅं प्रदेश की सडमों व पुलियों की हालतें खस्ता हैं, लगाता हैं, यह प्रदेश पुरी तरह भगवान भरोसे चल रहा हैं, तथा ईश्वर की महरबानी थी की हादसें के वक्त ब्रीज पर कोई वाहन नहीं था अन्यथा जिले व प्रदेश को बडी जनहानी का सामना करना पडता । भूरिया ने कहा कि नेशनल हाईवें रोड की हालत भी खस्ता हालत में थी किन्तु बार-बार देश व प्रदेश की सरकार को धेरने के कारण अब रोड की हालत में सुधार आ रहा हैं । 
 भूरिया ने प्रदेश सरकार एवं प्रशासन से रामनगर ब्रीज से सबक लेते हुए प्रदेश के समस्त पुराने  पुल डेम व पुराने तालाबों का सर्वे करवाकर खतरनाक पुल, पुलिया, स्टाॅप डेम, बांध, तालाबों को तत्काल बंद करवाकर नये पुल का निर्माण करें ताकि प्रदेश में लापरवाही के कारण कोई जनहानी न हो । भूरिया नें देवझीरी-फुलमाल मार्ग झाबुआ कल्याणपुरा मार्ग को भी जल्द से जल्द पूर्ण करने की मांग की हैं । 

झाबुआ । शिवराजसिंह चौहान के 12 वर्ष पूर्ण होने पर मनाये गये विकास पर्व के विरोध मे प्रदेश कांग्रेस के आव्हान पर आज झाबुआ में क्षेत्रीय सांसद कांतिलाल भूरिया ने प्रदेश सरकार की 12 वर्ष की नाकामियों, असफलताओं को लेकर स्‍थानीय सर्किट हाउस में दोपहर 01 बजे से प्रेस-कांफ्रेंस आयोजित कर सरकार की जनविरोधी नीतियों को उजाकर किया। सांसद भूरिया ने कहा कि मुख्यमंत्री के रूप में शिवराजसिंह चौहान के 12 वर्ष के कार्यकाल में जहां एक ओर प्रदेश सरकार 172 हजार करोड़ रूपयों के कर्ज बोझ से दबी हुई है, प्रदेश का खजाना पूरी तरह खाली हो चुका है, जनता के खून-पसीने की गाढ़ी कमाई का दोहन किया जा रहा है, व्यापमं महाघोटाला, सिंहस्थ महाघोटाला, नोटबंदी, जीएसटी, फसल खराब होने, कर्ज बोझ, बढ़े हुए बिजली बिलों, मंडी में उचित मूल्य न मिलने, सूखा, अतिवर्षा-अल्पवर्षां से प्रभावित होकर किसानों द्वारा आत्महत्या का कहर, कुपोषण से 12 वर्ष में 12 लाख बच्चों की अकाल मौतों का मंजर, बढ़ती महंगाई, महिलाओं-बच्चियों के साथ अत्याचार-दुष्कर्म, के साथ बलात्कार, सामूहिक बलात्कार की बढ़ती घटनाऐं, बढ़ते डीजल-पेट्रोल के दाम, बिजली के दामों में बेतहाशा वृद्धि, बिगड़ती कानून- व्यवस्था, रेत का अवैध उत्खनन, विधवा, निराश्रित पेंशन में धांधली, प्रधानमंत्री फसल बीमा में विसंगति, जल संकट, शिक्षा का व्यवसायीकरण, वनों की अवैध कटाई, लघु एवं मध्यम उद्योगों के बंद होने से बढ़ती बेरोजगारी सहित प्रदेश में हुए करीब 156 घोटालों ने शिवराज सरकार के 12 वर्षों में प्रदेश को खस्ता हाल बना दिया है। 
           प्रदेश की जनता अब इस सरकार को सत्ता के उखाड़ फैंकने का मन बना चुकी है। सांसद भूरिया ने शिवराज सरकार के 12 साल बेमिसाल के जश्न पर प्रहार करते हुए कहा है कि नेशनल क्राईम रिकॉर्ड ब्यूरो के आज जारी आंकड़ों ने मप्र की कानून व्यवस्था के दावों की पोल खोल दी है। मप्र विगत सात सालों से बलात्कार के मामलों में देश में नंबर-1 बना हुआ है। वहीं प्रदेश के अनुसूचित जनजाति वर्ग पर अत्याचार में भी मप्र देश में अव्वल दर्जे पर स्थापित हुआ है। जहां किशोरों पर अत्याचार के मामलों में मप्र पहले स्थान पर काबिज है, देश में कुल अपराधों की संख्या एवं बाल अपराध के मामले में मप्र दूसरे स्थान पर पहुंच गया है। इन आंकड़ों ने शिवराज सरकार की कथनी और करनी की पोल खोलकर रख दी है। भूरिया ने कहा कि प्रदेश में बच्चियों, युवतियों और महिलाओं के साथ हुईं दुष्कर्म की घटनाओं पर एनसीआरबी की रिपोर्ट ने एक बार फिर प्रदेश को शर्मसार कर दिया है। प्रदेश में दुष्कर्म के मामलों में लगातार बढ़ोत्तरी हुई है। 
       प्रदेश में औसतन प्रतिदिन 13 दुष्कर्म की घटनाऐं घटित हो रही हैं, जो प्रदेश की जर्जर कानून-व्यवस्था एवं जंगल राज की ओर इंगित कर रहा है। एक ओर जहां मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान लाड़ली लक्ष्मी योजना, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, मुख्यमंत्री कन्यादान योजना की ढींगें हांकते नहीं अघाते हैं, वहीं दूसरी ओर एनसीआरबी के आकडे़ भयावह स्थिति को परिलक्षित कर रहे हैं। ‘‘मामा के राज में भांजियां एवं बहने कितनी सुरक्षित हैं’’, इन आंकड़ों से उजागर हो गया है? भूरिया ने कहा कि विगत 12 वर्षों से मुख्यमंत्री अनुसूचित जनजाति के लोगों के उत्थान और विकास की बड़ी-बड़ी बातें तो करते हैं, किन्तु वास्तविकता के धरातल पर तस्वीर इसके विपरीत है। लगातार इस वर्ग के लोगों पर दबंगों द्वारा अत्याचार किये जा रहे हैं, उनकी जमीनें छीनीं जा रही है और राज्य सरकार इस सबसे आंखें मूंद आत्ममुग्धता से 12 सालों का जश्न मनाने में तल्लीन है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की यह भी अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति है कि देश में घटित कुल आपराधिक घटनाओं में भी मप्र दूसरे स्थान पर काबिज होना दर्शाता है कि कुल मिलाकर प्रदेश की कानून-व्यवस्था की स्थिति कितनी भयावह एवं चिंतनीय है, किन्तु मुख्यमंत्री के कानों में प्रभावितों की चित्कार तक सुनाई नहीं दे रही है। 
        भूरिया ने कहा कि मुख्यमंत्री को 12 साल का उत्सव मनाने के स्थान पर प्रदेश की महिलाओं, बच्चियों-युवतियों, अनुसूचित जनजाति, किशोरों पर हुए आपराधिक अत्याचारों को लेकर प्रायश्चित कर उनसे सार्वजनिक रूप से माफी मांगना चाहिए। भूरिया ने आगे कहा कि दुख की बात है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चोहान अपने शाशन के 12 साल का जश्न मना रहे है जबकि उनके राज मे सदी का सबसे बडा रोजगार घोटाला यानी " व्यापंम घोटाला " हो गया, सैकडों लोग मारे गये, एक पूरी हकदार पीढी शिवराज मे बर्बाद हो गयी ; डंपर घोटाला हो गया ; प्याज खरीदी घोटाला ; भावांतर योजना घोटाला चल रहा है ; किसान पुलिस की गोली से मारे जा रहे है ; खुद मोदी सरकार की एजेंसी कह रही है कि महीलाओ के खिलाफ बलात्कार मे मध्यप्रदेश सबसे आगे है तो यह सब बात जश्न मनाने की नहीं है बल्कि श्वेत पत्र लाकर अपनी असफलता बताकर माफी मांगने की है शिवराज को माफी मांगनी चाहिए। 
      रतलाम - झाबुआ लोकसभा उपचुनावों के पहले मुख्यमंत्री ने संसदीय इलाके के तीनों जिलों मे आकर 2500 करोड रुपये की घोषणाएं की थी उनमें से 5 प्रतिशत घोषणाएं भी पूरी नहीं हुई है ना झाबुआ मे इंजीनियरिंग कालेज बना, ना नर्मदा का जल खेतों मे आया। झाबुआ तो ठीक नर्मदा से 100 मीटर दूर तक नर्मदा का पानी नहीं दे पाये शिवराज। मै शिवराज सिंह चोहान से मांग करता हुं कि अपनी घोषणाएं पूरी करें अन्यथा मै आंदोलन करुगा ओर जरुरत लगी तो शिवराज की घोषणाएं पूरी करवाने कोट॔ जाऊंगा । इस अवसर पर जिला कांग्रेस अध्‍यक्ष निर्मल मेहता, जिला कोषाध्‍यक्ष प्रकाश रांका, जिला कांग्रेस प्रवक्‍ता हर्ष भट्ट, साबीर फिटवेल, जिला कांग्रेस उपाध्‍यक्ष रूपसिंह डामोर, एनएसयूआई जिलाध्‍यक्ष विनय भाबोर, कांग्रेस नेता विजय भाबोर, रिंकु रूनवाल, सहित बड़ी संख्‍या में कांग्रेसजन उपस्थित थे।

शिवराज सरकार के 12 वर्षीय कार्यकाल को लेकर क्षेत्रीय सांसद भूरिया ने की प्रेस-कान्‍फ्रेंस-Regional-MP-Bhuria-press-conference-on-the-12-year-tenure-of-Shivraj-Sarkar

झाबुआ । क्षेत्रीय सांसद कांतिलाल भूरिया ने मंगलवार को अपने अमेरीका प्रवास के दौरान मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा अमेरीका में निवेशकों से बातचीत करते हुए मध्यप्रदेश की सड़कों को अमेरीका की सड़कों से बेहतर बताये जाने पर अपना तंज कसा। भूरिया ने कहा मुख्यमंत्री जी ने झुट बोलने में महारत हासिल कर ली है। अपनी पार्टी व देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को उन्होंने पीछे छोड़ दिया है। देश.प्रदेश तो ठीक विदेश में भी झुठ का पुलिंदा परोसने पर श्री भूरिया ने उन्हें  फेंकु नंबर 2 की संज्ञा दी है। उन्होने कहा कि शिवराज सिंह चौहान ने देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पदचिन्हों पर चलते हुए झूठ बोलने की पराकाष्ठां हासिल की है। जहां उन्हो्ने मध्यप्रदेश के मुख्यंमंत्री के बयान को हास्यास्पद बताते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में सड़कों की हालत बहुत ही घटिया स्तर की है जहां मध्यंप्रदेश में अन्य प्रदेश के लोग यात्रा करने से कतराते हैं ऐसे प्रदेश के मुख्यमंत्री विदेशों में जाकर अपने आप को महामंडित करने का प्रयास कर रहें है चूंकि मध्य प्रदेश की जनता उनकी कथनी व करनी के अंतर को पूरी तरह समझ चुकी है। अब वे विदेशों में जाकर इस तरह के बयानबाजी कर मीडिया के माध्यम से अपने आप को महामंडित करने में लगे हुए है।  
            उन्होने बुधवार की शाम को इंदौर.अहमदाबाद नेशनल हाईवे 59 के काम की गति को लेकर नेशनल हाईवे अथारिटी के अधिकारियों को फुलमाल हाईवे पर हाईवे की वर्तमान स्थिति से अवगत कराया। भूरिया ने अधिकारियों को बताया कि सड़कों की खराब हालत के चलते हुए बार.बार दुर्घटनाएं घटित हो रही है। दुर्घटनाओं में कई लोगों की जान तक जा चुकी है तथा कई लोग घायल अवस्था में आज भी अस्पतालों में एवं घर में परजीवी बन कर पड़े हुए हैं। उन्होने डीजीएम रविन्द्र गुप्ता से निर्माण कार्य संबंधी जानकारी प्राप्त की तथा लगातार कार्य में हो रही देरी पर अपना आक्रोश जताया। डीजीएम गुप्ता अपने साथ पुरी सड़क की स्टेनटस रिपोर्ट लेकर आए थे कहां कितनी सड़क का निर्माण हुआ उन्होने बताया।
          उन्होने आगे बताया कि कंपनी को दिए जाने वाले 122 करोड़ रूपये में से 40 करोड़ रूपये दे दिए गए है आगे काम के साथ ओर पैसा दिया जाएगा। इसके अलावा 16 किलोमीटर के हिस्से का कार्य अभी पुरा नहीं हुआ है उसमें फुलमाल तिराहा माछलिया घाट और सरदारपुर के पास खरमोर संरक्षित क्षेत्र शामिल है। माछलिया में सड़क बनाने के लिए अलग से 135 करोड़ रूपये की जरूरत होगी। श्री भूरिया ने गुप्ता से कहा कि वे जल्द ही इस कार्य का टेंडर लेने वाली कंपनी को यहां बुलवा कर मुझसे मिलवाएं तथा वरिष्ठ अधिकारियों को भी यहां बुलवाकर तत्काल सड़क का निरीक्षण करवाएं। श्री भूरिया ने वहां उपस्थित संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा कि आप सड़कों की खस्ता हालात की जानकारी मीडिया के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को देवे ताकि उन्हें पता लगे की मध्य्प्रदेश में सड़कों की हालत क्या है। 
          उन्होने कहा कि सड़कों की बदहाली के चलते करीब 500 से अधिक दुर्घटनाएं हो चुकी है। जिसमें सैकड़ों लोग काल के ग्रास बन चुके है। ठेकेदार एवं प्रदेश सरकार को लोगों की जान की चिंता नहीं है। मेरे द्वारा इस विषय को संसद में भी उठाया गया था एवं इस हाईवे के त्वारित निर्माण हेतु राशि जारी करवाई गई थी इसके उपरांत भी कार्य ना होना चिंता का विषय है। श्री भूरिया ने मध्यप्रदेश सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि मध्यप्रदेश की जनता अब गुमराह होने वाली नहीं है। 2018 के चुनाव में जनता आपकी सरकार को रोड़ पर चलने को मजबुर होगी। श्री भूरिया के साथ जिला पंचायत अध्यक्ष सुश्री कलावती भूरिया, जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष डॉ विक्रांत भूरिया, विजय पांडे, जिला कांग्रेस कोषाध्यल प्रकाश रांका, जिला महामंत्री अलीमुदीन सैयद, प्रवक्तां हर्ष भट्ट, जिला कांग्रेस संगठन मंत्री गोपाल शर्मा, अलीराजपुर जिला कांग्रेस अध्यक्ष सरदार पटेल, सुनील थेपडिया, राजेन्‍द्र पटेल सहित जिला कांग्रेस के पदाधिकारी एवं मीडिया कर्मी विशेष रूप से उपस्थित थे। 

झाबुआ : 15 मार्च को लोकसभा में रेल बजट पर बोलते हुए क्षेत्रीय सांसद कांतिलाल भूरिया ने रेल मंत्री को कटघरे में खडा करते हुए रेल समस्याओं के सामाधान पूर्वक हल नहीं होने तथा आदिवासी बहुल क्षेत्रों में लगातार रेल सुविधाओं की उपेक्षा करने पर सरकार को आडे़ हाथों लिया। इस अवसर पर क्षेत्रीय सांसद ने रतलाम.झाबुआ की तीन महत्वपूर्ण परियोजनाओं को क्षेत्र की जीवन रेखा कहते हुए कहा कि इंदौर.दाहोद जिसकी लंबाई 201 कि.मी है तथा लागत 1640.04  करोड़ रूपये है लेकिन वर्ष 2016 तक मात्र 332 करोड ही व्यजय हुआ है। धार.छोटा उदेपुर जिसकी लंबाई 157 कि.मी तथा लागत  1347.26  करोड रूपये है जिस पर मात्र 270 करोड़ रूपये अभी तक व्यय हुआ है एवं रतलाम.बांसवाडा जिसकी लंबाई 176.47  कि.मी  है तथा लागत 1025 करोड़ रूपये है जिस पर मात्र 71 करोड रूपये ही व्यय हुआ है। इनके निर्माण में अत्यंत विलंब होने के कारण इनके शीघ्र निर्माण पर ही प्रश्न चिन्ह लग गया है।  

MP-Bhuria-took-the-government-to-the-railway-minister-on-the-budget-speech-सांसद भूरिया ने बजट भाषण पर रेलमंत्री को घेरा सरकार को लिया आडे हाथों
          
               माननीय वित्तमंत्री जी ने अपने बजट भाषण में रेलवे के लिए चार प्रमुख बातों पर अपना ध्यान केन्द्रित किया था जो कि रेल सुरक्षा केपिटल और विकास के कार्य सफाई एवं वित्त और लेखाओं में सुधार। लेकिन इसके विपरीत वर्ष 2016.17 में रेल दुर्घटनाओं की संख्या में वृद्धि हुई। अब तक की 8 रेल दुर्घटनाओं में 200 से भी अधिक लोगों की मृत्यु हुई। वर्ष 2012.13 में काकोडकर समिति का गठन किया गया था उस आधार पर 5 वर्षों के लिए 1 हजार करोड़ रूपए अर्थात प्रतिवर्ष के मान से 20 हजार करोड़ रूपए रेलवे सुरक्षा के लिए बजट में रखा गया इसके अतिरिक्त 5 हजार करोड़ वित्त मंत्रालय द्वारा दिया जा रहा है इससे जाहिर होता है कि इस 5 हजार करोड़ रूपये जुटाने के लिए रेल किरायों में वृद्धि आवश्यक रूप से की जाएगी। 
           केपिटल और विकास कार्यों के अच्छे  प्रबंधन के लिए सरकार कार्य करेगी लेकिन यह कैसे संभव होगा जबकि रेलवे को 8 हजार 500 करोड़ रूपए 7वें वेतन आयोग हेतु खर्च करने पडेंगे। अत: मजबूरी में सरकार को यात्री किराया और मालभाडे में वृद्धि की जाएगी। रेलों में सफाई के लिए 2019 तक सभी रेल गाडियों में बायो टायलेट बनाने की बात कही गई है। इन टायलेटो को साफ करने और उनके भर जाने से जो गंदगी होगी उसे दूर करने के लिए कोई उपाय नही सुझाए गए है। जिससे रेलवे को अत्यधिक कठिनाईयों का सामना करना पडेगा और रेल यात्रियों की सुरक्षा का भारी खतरा उत्पन्न हो जाएगा। वित्त प्रबंधन की खामियों की वजह से भारतीय रेल अगली एअर इंडिया साबित होगी जो कि भारी घाटे की वजह से सरकार के लिए सिरदर्द साबित हो रही है। 
श्री भूरिया ने अपने संसदीय क्षेत्र की रेलवे से संबंधित निम्न लिखित मांगों को पूरा करने की मांग की है.
  1. रतलाम में क्यूस ट्रेक बनने से इंदौर और अजमेर से डायरेक्ट लिंक बनेगी जिससे रेलवे को व्यवसाय में लाभ होगा। 
  2. इंदौर रतलाम रेल लाईन का विद्दुतीकरण किया जाना आवश्य क है।
  3. क्यूर ट्रेक बनने से रतलाम के प्लेटफार्म नंबर 6 पर भारी भीड कम होगी।
  4. रतलाम रेलवे स्टे्शन को आदर्श रेलवे स्टेशन की घोषणा को मूर्त रूप दिया जाए। 
  5. मेघनगर में रेलवे ओवर ब्रिज को शीघ्र ही बनाया जाए तथा स्टेशशन पर मूलभूत सुविधाओं को बढाया जाए। 
  6. जम्मूतवी एक्स्प्रेस में प्रथम श्रेणी वातानुकूलित शयनयान लगाया जाए।
  7. बलसाड.हरिद्वार एक्सरप्रेस का ठहराव मेघनगर स्टेयशन पर दिया जाए।
  8. निजामुद्दीन.केरल एक्स्प्रेस का ठहराव रतलाम में दिया जाए। 
  9. रतलाम स्टेनशन पर 12908 हजरत.निजामुद्दीन से मुंबई सेंट्रलए 12932 हजरत निजामुद्दीन से त्रिवेन्द्ररमए 12218 चंडीगढ से कोच्ची वलीए 12484 अमृतसर से कोच्ची वलीए 22660 देहरादुन से कोच्चीरवलीए 22922 अमृतसर से बांद्रा टर्मिनलसए 22414 हजरत निजामुद्दीन से मझगांव 22922 कटरा से बांद्रा टर्मिनल्सद 12914 नई दिल्ली से बांद्रा टर्मिनल्स का ठहराव दिया जाए। 

              श्री भूरिया ने लोकसभा उपाध्यक्ष को रेल बजट पर बोलने का जो अवसर उन्हें प्रदान किया है उसके लिए आभार व्यक्त करते हुए सरकार से आग्रह किया कि उनके संसदीय क्षेत्र की तीनो महत्वपूर्ण नई रेल लाईनों को शीघ्र ही निर्माण किए जाने हेतु बजट में पर्याप्त  बजट आवंटन किया जाए और जिन बाधाओं का उल्लेंख उपर किया गया है उन्हें दूर कर समय सीमा में इन परियोजनाओं को पूरा किया जाए।

  

Trending

[random][carousel1 autoplay]

More From Web

आपकी राय / आपके विचार .....

निष्पक्ष, और निडर पत्रकारिता समाज के उत्थान के लिए बहुत जरुरी है , उम्मीद करते है की आशा न्यूज़ समाचार पत्र भी निरंतर इस कर्त्तव्य पथ पर चलते हुए समाज को एक नई दिशा दिखायेगा , संपादक और पूरी टीम बधाई की पात्र है !- अंतर सिंह आर्य , पूर्व प्रभारी मंत्री Whatsapp Status Shel Silverstein Poems Facetime for PC Download

आशा न्यूज़ समाचार पत्र के शुरुवात पर हार्दिक बधाई , शुभकामनाये !!!!- निर्मला भूरिया , पुर्व विधायक

जिले में समाचार पत्रो की भरमार है , सच को जनता के सामने लाना और समाज के विकास में योगदान समाचार पत्रो का प्रथम ध्येय होना चाहिए ... उम्मीद करते है की आशा न्यूज़ सच की कसौटी और समाज के उत्थान में एक अहम कड़ी बनकर उभरेगा - कांतिलाल भूरिया , पुर्व सांसद

आशा न्यूज़ से में फेसबुक के माध्यम से लम्बे समय से जुड़ा हुआ हूँ , प्रकाशित खबरे निश्चित ही सच की कसौटी ओर आमजन के विकास के बीच एक अहम कड़ी है , आशा न्यूज़ की पूरी टीम बधाई की पात्र है .- शांतिलाल बिलवाल , पुर्व विधायक झाबुआ

आशा न्यूज़ चैनल की शुरुवात पर बधाई , कुछ समय पूर्व प्रकाशित एक अंक पड़ा था तीखे तेवर , निडर पत्रकारिता इस न्यूज़ चैनल की प्रथम प्राथमिकता है जो प्रकाशित उस अंक में मुझे प्रतीत हुआ , नई शुरुवात के लिए बधाई और शुभकामनाये.- कलावती भूरिया , पुर्व जिला पंचायत अध्यक्ष

मुझे झाबुआ आये कुछ ही समय हुआ है , अभी पिछले सप्ताह ही एक शासकीय स्कूल में भारी अनियमितता की जानकारी मुझे आशा न्यूज़ द्वारा मिली थी तब सम्बंधित अधिकारी को निर्देशित कर पुरे मामले को संज्ञान में लेने का निर्देश दिया गया था समाचार पत्रो का कर्त्तव्य आशा न्यूज़ द्वारा भली भाति निर्वहन किया जा रहा है निश्चित है की भविष्य में यह आशा न्यूज़ जिले के लिए अहम कड़ी बनकर उभरेगा !!- डॉ अरुणा गुप्ता , पूर्व कलेक्टर झाबुआ

Congratulations on the beginning of Asha Newspaper .... Sharp frown, fearless Journalism first Priority of the Newspaper . The Entire Team Deserves Congratulations... & heartly Best Wishes- कृष्णा वेणी देसावतु , पूर्व एसपी झाबुआ

महज़ ३ वर्ष के अल्प समय में आशा न्यूज़ समूचे प्रदेश का उभरता और अग्रणी समाचार पत्र के रूप में आम जन के सामने है , मुद्दा चाहे सामाजिक ,राजनैतिक , प्रशासनिक कुछ भी हो, हर एक खबर का पूरा कवरेज और सच को सामने लाने की अतुल्य क्षमता निश्चित ही आगामी दिनों में इस आशा न्यूज़ के लिए एक वरदान साबित होगी, संपादक और पूरी टीम को हृदय से आभार और शुभकामनाएँ !!- संजीव दुबे , निदेशक एसडी एकेडमी झाबुआ

Contact Form

Name

Email *

Message *

E-PAPER
Layout
Boxed Full
Boxed Background Image
Main Color
#007ABE
Powered by Blogger.