राजेश थापा , झाबुआ। कांग्रेस छात्र संगठन NSUI भी अब चुनावी साल में बेरोजगारों का मुद्दा उठाकर सरकार की घेराबंदी करने में जुट गया है। NSUI के सदस्य प्रदेश की सभी 230 विधानसभाओं के 1-1 हजार बेरोजगारों से फार्म भरवाकर 2 लाख 30 हजार बेरोजगारों की भावनाओं को जनता के सामने रखेगा।
       विधानसभा चुनाव का समय जैसे नजदीक आ रहा है। वैसे ही राजनैतिक दलों के साथ छात्र संगठन भी सक्रिय हो गए हैं। प्रदेश सरकार की नीतियों के विरोध में एनएसयूआई अब बेरोजगारों से रोजगार की खोज फार्म भरवाएगी। साथ ही सरकार के खिलाफ ब्लॉक स्तर पर प्रदर्शन करेगी। एनएसयूआई जिला अध्यक्ष विनय भाबोर के नेतृत्व में आज एनएसयूआई पद्दधिकारियो के साथ पीजी कॉलेज झाबुआ पर रोजगार की खोज फार्म का विमोचन किया व बेरोजगार युवको से फार्म भरवाए गए।
        एनएसयूआई जिला अध्यक्ष विनय भाबोर ने शिवराज सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सरकार युवक युवतियों को रोजगार देने में असफल रही है कांग्रेस की सरकार बनते ही सबसे पहले बेरोजगारो को रोजगार उपलब्ध कराया जायेगा। प्रदेश में बेरोजगारी चरम पर है और मप्र की सरकार और मुख्यमंत्री शिवराजसिंह सोये हुए हैं। मप्र के छात्र एवं युवा अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। चाहे वो कितनी भी पढाई कर ले, लेकिन रोजगार की व्यवस्था सरकार द्वार नहीं बनायी गयी है।
       इसके अलावा सरकार दावे भी कर रही है कि हम मप्र में इतने युवाओं को रोजगार दे रहे हैं, जो कि झूठा दावा है। इसी के संदर्भ में आज से एनएसयूआई द्वारा रोजगार की खोज कैंपेंन फॉर्म भरवाने शुरू किये गए है यह फार्म 4 जुलाई तक भरवाए जायँगे। जिसमें प्रदेश के बेरोजगारों से मिल उनकी समस्याओं को जाना जायेगा। फॉर्म विमोचन के समय एनएसयूआई उपाध्यक्ष ऋषि डोडियार, एनएसयूआई उपाध्यक्ष अक्षय परमार, एनएसयूआई महासचिव दरियाव सिंगड़, एनएसयूआई विधानसभा अध्यक्ष रोशन बरिया आदि मौजूद थे।

चुनावी साल में NSUI उठाएगा बेरोजगारों की आवाज, रोजगार की खोज कैंपेन की शुरूआत-NSUI-Rojgar-ki-Khoj-Campaign