झाबुआ। कृषि विज्ञान केन्द्र, में गुरूवार को ‘‘कड़कनाथ फाॅर्मिंग वर्तमान में स्थिति व भविष्य में इसकी संभावनाएं‘‘ विषय पर राष्ट्रीय स्तर पर सेेमिनार का आयोजन किया गया। इस पर सेमिनार के संरक्षक डाॅ. एस.के.राव, कुलपति, रा.वि.सिं.कृ.वि.वि. ग्वालियर, मार्गदर्शक प्रो. व्ही.एस. तोमर, पूर्व कुलपति एवं प्रमण्डल सदस्य, सहसंरक्षक डाॅ. मृदुला बिल्लौरे, अधिष्ठाता, कृषि संकाय, संयोजक डाॅ. एम.पी. जैन, निदेशक अनुसंधान सेवाएं, डाॅ. एस.एन. उपाध्याय निदेशक विस्तार सेवाएं, डाॅ. ए.के. सिंह निदेशक शिक्षण, डाॅ. एस.एस. तोमर निदेशक प्रक्षेत्र, डाॅ. आर.के.एस. तोमर संयुक्त निदेशक विस्तार सेवाएं, रा.वि.सिं.कृ.वि.वि. ग्वालियर, एवं सह संयोजक डाॅ. आई.एस. तोमर, सह संचालक अनुसंधान, झाबुआ उपस्थित थे।
       इस कार्यक्रम में देश के विभिन्न राज्यों से 900 वैज्ञानिक एवं कड़कनाथ पालक सीधे जुडे़ थे। कार्यक्रम की शुरूआत करते हुए केन्द्र के प्रमुख डाॅ. तोमर ने कड़कनाथ प्रजाति के संरक्षण एवं संवर्धन में कृषि विज्ञान केन्द्र, झाबुआ की भूमिका एवं इसके प्रचार-प्रसार तथा झाबुआ जिले के आदिवासियों के रोजगार एवं आजीविका का प्रमुख साधन बनाने में एवं कृषकों के आजीविका के लिए पलायन रोकने में कड़कनाथ मुर्गीपालन के योगदान के बारे में बताया एवं भविष्य की संभावनाओं पर योजना बनाने की बात की। इस कार्यक्रम के प्रमुख वक्ता प्रो. सुशील प्रसाद, अधिष्ठाता, वेटनरी काॅलेज, राॅची ने कड़कनाथ प्रबंधन, डाॅ. पी.पी. दुबे, आणविक अनुवाशिकी, पंजाब वि.वि. लुधियाना ने कडकनाथ पालन में भविष्य एवं रोजगार की संभावनाएं, डाॅ एस.के. दास, सह प्राध्यापक, पंजाब वि.वि. लुधियाना ने ब्रीडिंग स्ट्रेटजी आफ कड़कनाथ, डाॅ. महेश गणापूरे, वेटनरी चिकित्सक, नंदूरबार महा. ने प्रमुख रोगों की जानकारी एवं निदान, श्री शास्वत बिसबेन, हैदराबाद ने विश्व बाजार में कड़कनाथ माॅस की माॅग एवं निर्यात की रूपरेखा, डाॅ. जे.एस. राजपूत, वैज्ञानिक केवीके, धार ने आहार एवं रोग प्रबंधन, डाॅ. चंदन कुमार वैज्ञानिक केवीके, झाबुआ ने कड़कनाथ की उत्पत्ति एवं विस्तार, श्री परवेन्दर सिंह चैहान ने आॅर्गेनिक टाक्सिक फ्री कड़कनाथ उद्यमी, जयपुर ने अपने व्यक्तिगत अनुभव तथा  श्री विनोद मेड़ा ने अपने व्यक्तिगत अनुभव साझा किये। 
         कार्यक्रम का संचालन श्री विनोद पटेल निजसचिव, माननीय कुलपति एवं आभार प्रदर्शन डाॅ. एस.एन. उपाध्याय, निदेशक विस्तार सेवाएं, रा.वि.सिं.कृ.वि.वि. ग्वालियर ने किया। इस कार्यक्रम का सीधा प्रसारण यू-ट्युब के माध्यम से किया गया जिसकी यू-ट्युब लिंक- http://www.youtube.com/watch?v=vt1k9q46ve8   पर देखा जा सकता है। इस आयोजन में कृषि विज्ञान केन्द्र, झाबुआ के तकनीकी अधिकारी दयाराम चौहान, वैज्ञानिक डाॅ. आर.के.त्रिपाठी, डाॅ. वी.के. सिंह, जगदीश मौर्य, चन्द्रशेखर लोखण्डे, टी.एस. डुडवे, दिलीप घोटकर, राघवेन्द्र भदौरिया आदि का विशेष योगदान रहा।

Jhabua News- केवीके झाबुआ में कड़कनाथ फाॅर्मिंग पर राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन

केवीके झाबुआ में कड़कनाथ फाॅर्मिंग पर राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन