हरीश राठौड़, पेटलावद। कहते है आधुनिक वेज्ञानिक तकनिकी का उपयोग यदि मनुष्य चाहे तो स्वयं, समाज एवं मानवता की भलाई के लिए कर सकता है और चाहे तो इस तकनीक का गलत इस्तमाल मानव जीवन को समुल नष्ट करने का कारण भी हो सकता है अर्थात तकनिक का इस्तमाल कैसे किया जाए यह मनुष्य के हाथ में है। जहां इन दिनों वाट्सअप, फेसबुक, यूट्यूब आदि पर भ्रामक प्रचार एवं अफवाओं का दोर चल रहा है वहीं इस संक्रमण काल में इस तकनीक का उपयोग मानव समुदाय की भलाई के लिए भी किया जा सकता है। इसी की प्रेरणा देने वाला विडियों इन दिनों चर्चाओं का विषय बना हुआ है। कोरोना की संक्रमण बीमारी को लेकर जहां कुछ दिनों पूर्व करवड़ के कुछ युवाओं के द्वारा एक कोरोना नाटक मंचन किया था जिसे सोशल मिडि़या पर खुब प्रचार मिला वहीं इससे एक कदम आकर नगर की दो होनहार लाडलियों के द्वारा यूट्यूब पर एक वीडियो बनाया जो काफी प्रचारित हो रहा है।  
     नगर के सर्राफा व्यापारी संजय सोनी की दो पुत्रियों इशिका व शुभी सोनी द्वारा यूट्यूब पर एक स्केडिंग डॉस का वीडियो अपलोड किया है जिसमें कोरोना से लड़ने एवं बचाव के उपाय दिखायें जा रहे है। वहीं देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अपील को सहयोग करते हुए इस संक्रमण काल में मानव जाति को इस आपदा से लड़ने का प्रेरणा दायक मेसेज दिया गया। इस वीडियो को शेयर करने वाली इशिता सोनी रोहतक में पॉच वर्षीय आईआईएम इंटीग्रेटेड एमबीए का कोर्स कर रहीं है वहीं शुभी सोनी सत्य सांई विहार इंदौर में 12 कक्षा में पढ़ती है। इनके द्वारा कोरोना के खिलाफ दियें गयें मेसेज को लगातार न सिर्फ समर्थन मिल रहा है बल्की इस वीडियो को लगातार लोगो द्वारा लाईक एवं शेयर भी किया जा रहा है। वैसे तो सोशल मिडि़या पर भ्रामक प्रचार और गलत प्रचार से बचने के लिए सरकार लगातार गाईड लाईन जारी करती है लेकिन इन दिनों कोरोना की माहमारी एवं तबलिगी जमात तथा इंदौर में टाट पट्टी बाखल में डॉक्टरों की टीम पर हुए हमलें को लेकर लगातार वाट्सअप फेसबुक एवं यूट्यूब पर दुष्प्रचार एवं गलत मेसेजों को प्रचारित करने को लेकर सरकारें सख्त हुई है। उत्तरप्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र एव नोएडा क्षेत्र में पिछले दो तीन दिनों में सोशल मिडि़या पर गलत प्रचार करने पर पुलिस द्वारा न सिर्फ अपराधिक प्रकरण दर्ज कियें है बल्की 17 से अधिक लोगो की गिरफ्तारी की गई है और यूट्यूब कंपनी को भी महाराष्ट्र पुलिस द्वारा नोटीस दिया गया है। 
     झाबुआ जैसे आदिवासी क्षेत्र में भी शुक्रवार को मेघनगर थांदला क्षेत्र के एक युवक द्वारा फेसबुक पर आपत्तिजनक टिप्पणी एवं पोस्ट करने के खिलाफ एसडीओपी थांदला द्वारा थाने में उक्त युवक के खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज किया है। इस तरह से जहां सोशल मिडि़या पर दुरूपयोग कुछ असामाजिक तत्वों के द्वारा करते हुए इसका गलत इस्तमाल किया जा रहा है, वहीं ऐसी विषम परिस्थितियों में नगर की होनहार द्वारा स्केडिंग डांस का कोरोना के खिलाफ वीडियो अपलोड किया है वह आधुनिक तकनीक  का मानव जाति की भलाई के लिए सदउपयोग करने की प्रेरणा देता है।
विडियों