कई सज्जनों को देश में सेवा कार्य के लिए राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने किया सम्मानित

झाबूआ। भारत में समाज सेवा में अलग पहचान बनाते हुए तीव्रगति से बढ़ने वाले सामाजिक संगठन राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग का महाधिवेशन 15 दिसंबर, शनिवार को मुंबई के रूद्र शेल्टर होटल वसई में महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष किशोर मोरे और प्रदेश अध्यक्ष (महिला प्रकोष्ठ) किरण यादव द्वारा आयोजित किया गया। अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर आयोजित इस महाधिवेशन में समाज सेवा से जुड़ी अनेक हस्तीयों के साथ बॉलीवुड और भोजपुरी गीतकार-संगीतकार आदि भी शामिल हुए।
        कार्यक्रम की शुरुआत उपस्थित अतिथियो द्वारा दीप प्रज्जवलन कर अखंड भारत की परिकल्पना करते हुए राष्ट्रगान एवं विनायक वंदना से की गई। इस अवसर पर हिंदी व भोजपुरी के सुप्रसिद्ध गायक, गीतकार कवि आनन्द दुबे ‘राज’ द्वारा मानवाधिकार पर आधारित गीत सुनाएं गए। इस आयोजन में सभी सम्मानित अतिथियों का स्वागत राजस्थानी टोपी, शाल, माला पहनकर अप्राकृतिक गुलदस्ते भेंट स्वरूप देकर किया गया। 
संगठन भारत के 24 राज्यों में 118 कार्यालयों के माध्यम से कर रहा कार्य
आयोग के राष्ट्रीय मुख्य महासचिव डॉ. रविंद्र डी. मिश्रा द्वारा स्वागत भाषण के साथ मानवाधिकार की परिकल्पना सहित आयोग के बारें में विस्तृत प्रकाश डाला गया। उन्होंने आयोग के माध्यम से आए हुए सदस्यों को सदैव मानव सेवा में तत्पर रहने की प्रेरणा दी। इस अवसर पर उन्होंने आयोग में किन्नर प्रकोष्ठ बनाकर समाज से अपेक्षित इस वर्ग के उत्थान के लिए भी अपने कदम बढ़ा।ए वही पत्रकारिता जगत के लिए मीडिया आयोग को भी शामिल किया। आयोग द्वारा नारी सशक्तिकरण एवं सुरक्षा पर जोर देते हुए उनके लिए प्लास्टिक रहित पीरियड पेड्स का भी निर्माण कर उनके स्वास्थ्य के प्रति अपनी कर्तव्य निष्ठा बतलाई। उन्होंने बताया कि संगठन भारत के 24 राज्यो में 118 कार्यालयों के माध्यम से हर जाति-वर्ग के लिए बिना किसी भेदभाव के समाज सेवा के कार्य कर रहा है। 
समाज के हर वर्ग के लोगो का किया सम्मान
आयोग द्वारा समाज सेवा में अग्रणी संत, डॉक्टर, वकील, इंजीनियर, पत्रकार एवं कलाकारों सहित केवल इंस्टॉलमेंट पर हर वर्ग को आशियाना उपलब्ध करवाने वाले बिल्डर्स को शॉल, साफा और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। राष्ट्रीय कार्यकारणी ने मध्यप्रदेश की युवा टीम की प्रशंसा करते हुए उन्हें सर्वश्रेष्ठ कार्य के लिए सम्मानित भी किया। 
वनाचंल की महक से किया सभी को आनंदित 
इस अवसर पर प्रमुख अतिथि के रूप में संस्थापिका श्रीमती शांति देवी, राष्ट्रीय अध्यक्ष दयाराम मिश्रा, राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष शोभनाथ त्रिपाठी, गीतकार व संगीतकार राकेश निराला, भोजपुरी संगीतकार दामोदर राव, राष्ट्रीय महासचिव आनंद दुबे राज, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अक्षता भट्ट, उत्तर प्रदेश अध्यक्ष जितेंद्र तिवारी सहित देश के अनेक प्रदेशो से आए पदाधिकारी एवं सदस्यों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। राष्ट्रीय मुख्य महासचिव के संग संचालन का जिम्मा संभाल रहे मध्यप्रेदश के कार्याध्यक्ष पवन नाहर ने वनांचल की महक से सभी को आनंदित कर दिया। 
मप्र की टीम के इन सदस्यो ने की आयोजन में शिरकत
महानगरी मुंबई में आयोग के अधिवेशन में झाबुआ वनांचल के मप्र प्रभारी कीर्तिश जैन, कार्यवाहक प्रदेशाध्यक्ष पवन नाहर, प्रतिनिधि प्रदेशाध्यक्ष मनीष कुमट, गोपाल विष्वकर्मा, अली असगर बोहरा, उत्तम गहलोत, दशरथ कट्ठा, भूपेंद्र बरमंडलिया, भरतसिंह अड़, रवि सोलंकी, गोलू वरफा, गोपाल चोयल, आयुष पटवा, राजेन्द्र व्होरा, नीरज सोलंकी, लक्ष्मी गामड़, हेमा वास्केल, पंकज चोरड़िया, प्रकाश भायल, निखिल सोनी, लखन बागड़िया, सुखलाल मेहसन, अलका डामोर ने शिरकत की। मप्र की टीम ने आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष दयाराम मिश्रा, कार्यवाहक राष्ट्रीय अध्यक्ष शोभनाथ त्रिपाठी, राष्ट्रीय मुख्य सचिव डॉ. रविन्द्र मिश्रा व आनंद दुबे राज का साफा पहनाकर शॉल भेट कर मध्यप्रदेश के दुपट्टे से सम्मानित किया।

राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग का महाधिवेशन- अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस पर महाधिवेशन मुंबई में संपन्न