झाबुआ। विधानसभा चुनाव के लिए मतदान को लेकर लोगों में काफी उत्साह देखा गया । खासकर ग्रामीण इलाकों में सुबह से ही केंद्रों के बाहर मतदाताओं की कतार लगी थी। सुबह 10 बजे तक 14.42 प्रतिशत वोटिंग हो चुकी थी। इसमें पुरुष मतदाताओं का प्रतिशत 14.18 तो महिलाओं का आंकड़ा 14.67 प्रतिशत रहा। इस चुनाव में पहली बार वीवीपैट मशीन का इस्तेमाल किया गया । इसे ऑपरेट करने में मतदान दलों को परेशानी आई। अधिकांश केंद्रों पर मॉकपोल के समय मशीन ही चालू नहीं हो पाई। इसके चलते मतदान में देरी हुई।  
         विधानसभा निर्वाचन 2018 में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दिए गए निर्देशानुसार दिव्यांगजनों के सुगम मतदान हेतु घर से घर तक सुविधा प्रदान करने के लिये जिले के 500 से अधिक दिव्यांगजनों का पंजीयन कर दिव्यांगजनो को मतदान हेतु आवश्यक मदद जैसे वाहन सुविधा, सहायक, आवश्यक सामग्री आदि की सहायता उपलब्ध करवाई गई। वरिष्ठ, दिव्यांग और जवान, सभी करें सौ प्रतिशत मतदान, मतदाता जागरूकता अभियान के इस स्लोगन को जिलें के दिव्यांगो ने चरितार्थ किया एवं भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर जिलें के मतदान केन्द्रों में सुगम, समावेशी व पारदर्शी मतदान की व्यवस्था से संतुष्ट एवं उत्साहित दिव्यांग मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। दिव्यांगो ने मताधिकार का प्रयोग कर अपनी उंगली पर लगाई गई। अमिट स्याही को दिखातें हुये अन्य लोगों को भी लोकतांत्रिक व्यवस्था में दिये गये मताधिकार का प्रयोग करने का आवहृन किया। दिव्यांग एवं बुजुर्ग मतदाताओ का पुष्पहार से स्वागत भी किया गया। 

थांदला में 74%, पेटलावद में 79% हुआ मतदान 

झाबुआ जिले की तीनो विधानसभा में मतदान का प्रतिशत कुछ इस तरह रहा। 
झाबुआ  विधानसभा क्षेत्र 193
  • पुरुष  64.24℅
  • महिला  59.31%
  • कुल  64.29%
थांदला  विधानसभा क्षेत्र 194
  • पुरुष 74.42℅
  • महिला  69.63%
  • कुल 74.38%
पेटलावद विधानसभा क्षेत्र 195
  • पुरुष 79.34℅
  • महिला 72.25%
  • कुल 79.34%
जिले में कुल मतदान प्रतिशत 71.24 %   

कलेक्टर श्री सक्सेना ने सपत्नी मतदान केंद्र पर पहुंचकर किया मतदान , सीईओ जिला पंचायत सहित अधिकारी, कर्मचारियो ने किया अपने मताधिकार का उपयोग
       लोकतंत्र के महापर्व विधानसभा निर्वाचन के दौरान ग्राम-ग्राम, द्वार-द्वार तक यह संदेश की ‘‘सारे काम छोड़ दो सबसे पहले वोट दो‘‘ को पहुंचाने वाले कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी आशीष सक्सेना ने सपत्नी अपने मतदान केन्द्र पर पहुंचकर अपने मताधिकार का उपयोग किया। सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे ने भी मतदान केन्द्र पर अपने मताधिकार का उपयोग करने हेतु आम नागरिको के साथ लाईन में लगकर अपनी बारी का इंतजार किया व नम्बर आने पर अपना वोट दिया। इसी प्रकार अन्य षासकीय अधिकारी, कर्मचारियो ने भी मतदान कर अपने अपने मताधिकार का प्रयोग किया।


104 वर्षीय तेजाजी ने किया अपने मताधिकार का प्रयोग
      मतदान सुनिष्चित करने के लिये विधानसभा क्षेत्र पेटलावद मे रहने वाले 104 वर्षीय भूरा तेजाजी भी मतदान केंद्र पहुंचे एवं लोकतंत्र के महापर्व मे अपना मतदान किया। उन्होने 104 वर्ष की उम्र मे आज अपने मताधिकार का उपयोग कर दूसरो को भी प्रोत्साहित किया कि मताधिकार का उपयोग करना कितना जरूरी है।



बीएलओ ने दिव्यांग मतदाता जितेंद्र को विलचेयर पर ले जाकर करवाया मतदान 
        विधानसभा निर्वाचन के दौरान विधानसभा क्षेत्र पेटलावद मे रहने वाले दिव्यांग मतदाता जितेंद्र को अपने मतदान केन्द्र तक बीएलओ द्वारा विलचेयर पर ले जाकर मतदान करवाया गया एवं जितेंद्र ने सभी दिव्यांगो को संदेश दिया कि सभी अपने मताधिकार का उपयोग अनिवार्य रूप से करे। 

क्यूलेस मतदान हेतु मतदाताओ को दिये गये टोकन 
         विधानसभा निर्वाचन 2018 में मतदान केन्द्र पर बिना कतार के मतदान सुविधा उपलब्ध कराये जाने के उद्देश्य से क्यूलेस व्यवस्था जिला प्रषासन द्वारा दिये जाने के प्रयास किये गये। जिले के कुछ मतदान केंद्रो पर पहुंचे मतदाताओ ने मतदान केन्द्र पर मतदान के लिये पूर्व टोकन प्राप्त कर अपनी बारी आने पर मतदान किया। इस प्रकार मतदाता को कतार में लगने की आवश्यकता नहीं हुई। अपना टोकन नम्बर प्राप्त कर मतदाताओ ने मतदान केन्द्र के समीप बनाये गये प्रतीक्षाकक्ष में बैठकर अपनी बारी का इंतजार किया एवं अपनी बारी आने पर मतदान किया।

मतदान केंद्र पर छोटे बच्चो के लिये बनाये गये किड्स जोन
         निर्वाचन आयोग के निर्देषानुसार षत प्रतिषत मतदान सुनिष्चित करने के लिये लोकतंत्र के महापर्व मतदान दिवस आज दिनांक 28 नवंबर 2018 को जिले मे मतदाताओ को विषेष सुविधाएं उपलब्ध करवाने के प्रयास किये गये। मतदान केंद्र पर बच्चो के लिये किड्स जोन बनाये गये। जिसमे मतदान केंद्र पर छोटे बच्चो के खेलने के लिये खिलौने रखे गये। साथ ही गर्भवती/धात्री माताओ के बैठने, पेयजल व्यवस्था, षौचालय की व्यवस्था की गई। मतदाता श्रीमती हर्षा गादिया एवं श्रीमती रीना गादिया ने बताया कि इस बार हमारे साथ आये बच्चो को किड्स जाने मे खिलौने मिल जाने से हमारे बच्चे खेलते रहे, जिससे हम सुगम तरीके से मतदान कर सके। श्रीमती सुनिता पुरोहित ने बताया कि मेरा भी डेढ साल का बच्चा है। मै उसे लेकर मतदान करने से हिचक रही थी, फिर मुझे पता चला कि मतदान केंद्र पर बच्चो के लिये विषेष व्यवस्थाएं की गई है, जिससे छोटे बच्चे की मां आसानी से मतदान कर सके। तो मै भी मतदान करने पहुंची और मतदान किया। मतदान केद्र पर पहुंचकर लगा कि जैसे शादी समारोह मे आये हो।

वेबकास्टिंग के माध्यम से जिले के 98 मतदान केन्द्रों पर रखी गई नजर
        भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार जिले के 98 मतदान केन्द्रों में वेब कास्टिंग, सीसीटीवी, वीडियोंग्राफी के माध्यम से निर्वाचन मतदान की गतिविधि पर नजर रखी गई, जिला मुख्यालय झाबुआ से वेब कास्टिंग के तहत संवेदनशील मतदान केन्द्रों की पल-प्रतिपल गतिविधि पर पैनी निगाहें रख व्यवस्था की चौकसी की गई।



जिले की तीनो विधानसभा क्षेत्रो मे 55 मतदान केंद्रो का संचालन महिलाओ द्वारा किया गया
        विधानसभा निर्वाचन 2018 हेतु जिले मे कुल 973 मतदान केंद्र बनाये गये, जिसमे झाबुआ मे 354 मतदान केंद्र, थांदला मे 302 मतदान केंद्र एवं पेटलावद मे 317 मतदान केंद्र रहे। जिले की तीनो विधानसभा क्षेत्रो मे कुल 55 मतदान केंद्रो का संचालन महिलाओ द्वारा किया गया, जिसमे विधानसभा क्षेत्र झाबुआ मे 28, विधानसभा क्षेत्र थांदला मे 20 एवं विधानसभा क्षेत्र पेटलावद मे 07 महिला मतदान केंद्रो पर महिला षासकीय सेवको द्वारा मतदान संपन्न करवाया गया।

दिव्यांग शासकीय सेवको ने किया 5 मतदान केंद्रो का संचालन 
        विधानसभा निर्वाचन 2018 हेतु जिले की तीनो विधानसभा क्षेत्र झाबुआ, थांदला एवं पेटलावद मे बनाये गये मतदान केंद्रो मे से 5 मतदान केंद्रो पर दिव्यांग षासकीय सेवको द्वारा मतदान प्रक्रिया संचालित की गई एवं मतदान संपन्न करवाया गया।
आदर्श मतदान केंद्रो को सजाया गया शादी के मंडप की तरह
       जिले मे बनाये गये आदर्ष मतदान केंद्रो पर उत्सव जैसा माहौल बनाने के लिये बूथो को षादी के मंडप की तरह सजाया गया। बूथ पर रंग-बिरंगे गुब्बारे लगाये गये। मतदान केंद्र पर मतदाताओ के बैठने के लिये कुर्सिंयो की व्यवस्था भी की गई। आदर्ष मतदान केंद्र पर अपने मताधिकार का उपयोग करने आई श्रीमती अनिता रामावत ने कहा कि बूथ पर आने के बाद हमे क्यूलेस मतदान से लाइन मे नही लगना पडा। बैठने के लिये कुर्सियां थी और बूथ पर की गई व्यवस्थाओ को देखकर ऐसा लगा जैसे मानो षादी समारोह मे आये हो। मतदाता हेमेंद्र व्यास एंव पुष्पक समीर ने कहा कि हमने कई बार मतदान किया है, इस बार जो व्यवस्थाएं चुनाव आयोग ने किया है एवं जिला प्रषासन द्वारा जो व्यवस्थाएं की गई है, वे सराहनीय है। इस बार सभी मतदाताओ की सुविधा का ध्यान रखा गया है। मतदान केंद्रो पर स्थानीय स्तर पर खटिया, कुर्सी, दरी इत्यादि की व्यवस्था मतदाताओ के बैठने के लिये की गई। जहां बैठकर मतदाताओ ने अपनी बारी का इंतजार किया एवं मतदान केन्द्र मे बुलाने पर मतदान किया।

मतदान दलो का रखा गया विशेष ध्यान, मतदान केंद्र पर कराया गया नाष्ता एवं भोजन मतदान दलो का बूथ पर हुआ भव्य स्वागत
        निर्वाचन आयोग के निर्देषानुसार विधानसभा निर्वाचन 2018 हेतु मतदान संपन्न कराने हेतु नियुक्त मतदान दलो के बूथ पर पहुंचने के बाद मतदान दलो का तिलक लगाकर एवं पुष्पहार पहनाकर भव्य स्वागत किया गया। मतदान केंद्रो पर मतदान दलो के स्वागत हेतु रंगोली बनाई गई एवं दीप जलाये गये। मतदान दलो के लिये मतदान केंद्र पर चाय, नाष्ते एवं भोजन की व्यवस्था की गई। मतदान दलो को दाल पानिये, लड्डू, पूडी, सब्जी इत्यादि भोजन परोसा गया। साथ ही सोने के लिये उचित बिस्तर की व्यवस्था भी की गई।