अहमदाबाद के गरबा दल, मुबई की ढोल ताषा पार्टी रही विशेष आकर्षण  

झाबुआ ।   नवरात्री पर्व के प्रथम दिन  राजवाडा मित्र मंडल द्वारा माता रानी की स्थापना के पावन अवसर पर श्री देवधर्मराज मंदिर राजवाडा चौक से माताजी को आकर्षक रथ में बिराजित करके भव्य शोभायात्रा निकाली गई । राजवाडा चौक पर मुबई विले पार्ले से आया साई माउंली दल का 51 सदस्यीय ढोल संगीत के समुह ने जहां अपनी अनोखी शैली से शोभायात्रा मे  चार चांद लगा दिये वही अहमदाबाद गुजरात का 50 सदस्यों का गरबा दल जिसमें बालिकायें एक ड्रेस कोड में आकर्षक गरबों की प्रस्तुति दे रही थी, ने शोभायात्रा को चार चांद लगा दिये वही झाबुआ कर्राटे एसोसिएशन की  40 से अधिक बालिकाओ द्वारा अपने  करतब दिखा कर नारी सशक्तिकरण का अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया । 
       मां दुर्गाजी को रथ में बिराजित कर बेंड बाजों एवं ढोल ताशो की संगीतमय निर्झरिणी में  राजवाडा चौक, नेहरू मार्ग, गोवर्धननाथ मंदिर, आजाद चौक, बाबेल चौराहा, थांदला गेट, छत्री चौक बस स्टेंड से होते हुए थांदलागेट ,रूनवाल बाजार, बावन जिनालय जैन मंदिर ,लक्ष्मीबाई मार्ग होते हुए शोभायात्रा श्री देवधर्मराज मंदिर पहूंची जहां मातारानी की मंत्रोच्चार के साथ स्थापना की जाकर महा मंगल आरती कर प्रसादी का वितरण किया गया । पूरे शोभायात्रा मार्ग में जगह जगह पुष्पवर्षा करके तथा आयोजकों का पुष्पमालाओं से स्वागत किया गया ।
राजवाडा मित्र मंडल के गोपाल नीमा ने जानकारी देते हुए बताया कि पूरी शोभायात्रा में नगर के सभी वर्गो एव समाजों के गणमान्यजनों ने भाग लिया । शोभायात्रा में विद्याराम शर्मा, भेरूलाल पोरवाल, हस्तीमल संघवी, विमल कांठी, बृजेंन्द्र शर्मा चुन्नु,  देवेन्द्रसिंह चौहान, अजय सोनी,   ओपी राय, ओमप्रकाश शर्मा, जितेन्द्र पटेल, लाखन सोलंकी,  संजय कटकानी, उमंग सक्सेना, नीरजसिंह राठौर, कमलेश पटेल, सुशील शर्मा, सूर्या कांठी,गोपाल नीमा,मजुलता देराश्री, दीपा सोनी, भावना सोलंकी, तोशी चौहान, ज्योति पोरवाल,मोना सोनी, वर्षा सोलंकी, शशिकाला दुबे, श्रीमती भावसार, अंजु्र सोनी सहित बडी संख्या में नगर के गणमान्यजनों ने भाग लिया ।

आचार संहिता के चलते रात्री 9 बजे से शुरू होगें गरबें 

    गोपाल नीमा ने आगे बताया कि दोपहर मे राजगढ नाका मित्र मंडल द्वारा निकाले गये भव्य चल समारोह में देश के कोने कोन से आए कलाकारों एवं अतिथियों एवं 19 दलों के सदस्यो  का पुष्पमालाओं एवं प्रतिक चिन्ह देकर स्वागत किया गया । उन्होने  बताया कि चुनावी आदर्श आचार संहित लागू होने के कारण नवरात्री में राजवाडा चौक पर गरबों का आयोजन रात्री 9 बजे से किसी भी हालत में प्रारंभ कर दिया जावेगा तथा आचार संहिता का पूरा पालन करते हुए प्रशासन को यथेष्ठ सहयोग दिया जावेगा ।