परस्पर समन्वय, निरन्तर संवाद एवं साझे प्रयासों पर जोर

गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान और मध्यप्रदेश के प्रशासनिक एवं पुलिस पुलिस अधिकारियो ने आपसी चर्चा कर आवष्यक निर्णय लिये 

       झाबुआ। विधानसभा निर्वाचन 2018 को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण सम्पन्न कराये जाने संबंधी तैयारियों के सन्दर्भ में आज 31 अगस्त 2018 को झाबुआ जिले के म.प्र. टूरिज्म मोटल के सभा कक्ष मे अंतर्राज्यीय बार्डर मीटिंग आयोजित की गई। जिसमे निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार आगामी विधानसभा निर्वाचन को बेहतर ढंग से सम्पन्न कराने के लिए महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियो ने आपसी चर्चा कर आवष्यक निर्णय लिये। 
      बैठक में कलेक्टर झाबुआ आशीष सक्सेना, पुलिस अधीक्षक झाबुआ महेशचंद्र जैन, एसडीएम कुशलगढ प्रतिनिधि कलेक्टर बांसवाडा श्रीमती सुमन मीणा, 1/सी कुशलगढ बांसवाडा (राजस्थान) उप पुलिस अधीक्षक ब्रजराज सिंह चारण, पुलिस अधीक्षक हेड क्वार्टर दाहोद (गुजरात) सी सी खाटाने, मामलादार निर्वाचन दाहोद  आर.डी. मालेक, एआरटीओ दाहोद टी.वी दंत्रेहिया, 1/सी एआरटीओ छोटा उदयपुर बी.के. पाजाजिया, आरटीओ झाबुआ राजेश गुप्ता, उप जिला निर्वाचन अधिकारी छोटा उदयपुर आई. एच. पांचाल, पुलिस अधीक्षक छोटा उदयपुर एम.एस. भाभोर, उप जिला निर्वाचन अधिकारी नंदुरबार(महाराष्ट्र) एस.ए. खांडे, तहसीलदार झाबुआ भगवतसिंह भिलाला, उप संचालक श्रीमती अनुराधा गहरवाल, एसडीएम झाबुआ जगदीश गोमे, एसडीएम थांदला अनिल भाना, गणपतसिंह डाबर, कलेक्टर अलीराजपुर गणेश शंकर  मिश्रा उपस्थित थे। 
        बैठक मे निर्णय लिये गये कि म.प्र. एवं राजस्थान के सीमावर्ती जिलो में विधानसभा निर्वाचन को दृष्टिगत रखते हुए सीमा से एक दूसरे राज्यों में प्रवेश पर चौकपोस्ट लगाये जायेगे और इन चौकपोस्टो पर सीसीटीवी कैमरे लगाये जाएगे। सीमावर्ती क्षेत्रों में वाहनों एवं व्यक्तियों की आवाजाही पर निगरानी रखने, अपराधियों पर नकेल कसने, अवैध हथियारों की बरामदगी, वारंट तामिली के साथ ही मादक पदार्थो की तस्करी एवं आपराधिक गतिविधियों पर अंकूश लगाने के लिए लगातार समन्यव एवं संपर्क के लिए चारो राज्यों के पुलिस अधिकारियों की संयुक्त टीम गठित की जावेगी। कानून एवं शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए हर सम्भव उपायों को अमल में लाने पर विस्तारपूर्वक चर्चा की गई। 
बोर्डर कोर्डिनेशन ग्रुप से आपसी समन्वय एवं संवाद रहेगा
         बैठक में कलेक्टर सक्सेना ने सीमावर्ती दोनों राज्यों के अधिकारियों के आपसी समन्वय तथा सूचनाओ के त्वरित आदान प्रदान पर विशेष जोर दिया तथा वारंटियों की तामिली, फरार वारंटियों की गिरफ्तारी, अवैध नगदी, शस्त्र परिवहन पर कार्यवाही, मुख्यमार्गो के अलावा वैकल्पिक मार्गो पर चेक पोस्ट लगाने, के संबंध में विस्तार से चर्चा की। बोर्डर कॉर्डिनेशन ग्रुप वाटसअप पर बनाया गया है। इस ग्रुप में सीमावर्ती सभी जिलों के कलेक्टर एसपी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, राजपत्रित, पुलिस अधिकारी, रेवेन्यू ऑफिसर एवं थाना प्रभारी इस ग्रुप से जोडे गए है ताकि आपराधिक गतिविधियों एवं आपराधिक तत्वों की गतिविधियों के बारे में लगातार सूचनाओं एंव जानकारी का आदान प्रदान हो सके।