अपनी मांगों को लेकर राज्यपाल के नाम सोंपा ज्ञापन 

झाबुआ । डॉ एपीजे अब्दुल कलाम यूआईटी झाबुआ के संविदा शिक्षकों ने आज क्षेत्रीय सांसद कांतिलाल भूरिया से मिलकर अपनी मांगों के समर्थन के लिए अपना ज्ञापन सोंपा। ज्ञापन में मांग की गई है कि मुख्यमंत्री मध्य प्रदेश शासन की नवीन नीति के अनुसार संविदा पर कार्यरत सभी शिक्षको को यथावत रखने तथा भविष्य में नियमित पदस्थापना में लाभ प्रदान किये जाने की मांग की।
            शिक्षकों ने अवगत कराया कि यूआईटी झाबुआ में समस्त शिक्षक शैक्षणिक अहर्ता पूर्ण करते हुए  6 बार साक्षात्कार में चयनित होकर लगातार 3 शैक्षणिक वर्षों से अध्यापन कार्य पूर्ण निष्ठा एवं सामर्थ्य  से करते आ रहे हैं। परन्तु  इन्हीं  पदों पर पुन: नियुक्ति हेतु विज्ञापन जारी किया गया। सभी संविदा शिक्षक अपने परिवार सहित अनुसूचित जनजाति बाहुल्य क्षेत्र में नियमितिकरण की उम्मीद से लगातार अपनी सेवाएं देते आ रहे हैं। सभी शिक्षक तकनीकी एवं अन्य विषयों में स्नातकोत्तर एवं पीएचडी उपाधिधारक है तथा तकनीकी विश्व विद्यालय / राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान से शिक्षित है। सभी शिक्षक निर्धारित शैक्षणिक अहर्ता पूर्ण करते है। फिर भी इन्हीं पदों पर पुन: संविदा भर्ती हेतु विज्ञप्ति जारी करने से इनमें घोर निराशा एवं असंतोष का भाव व्याीपत हो गया है।  


          सांसद भूरिया ने उनकी मांगों को ध्यानपूर्वक सुनते हुए इस संबंध में महामहीम राज्यपाल महोदय को पत्र लिखकर इनकी मांगों को सहानुभूतिपूर्वक विचार कर पूर्ण करने हेतु पत्र लिखने की बात कही। इस अवसर पर संविदा शिक्षक प्रो उमानंद  कुमार सिंह, प्रो कैलाश कुमार लहाडोतिया, प्रो कुशल शर्मा, प्रो जलज पंड्या, डॉ पवन  शर्मा, ओमेश हाड़ा , मनीष राठौर, प्रो अनुराग कुमार, प्रो वैशाली अहिरवार, प्रो पूजा खेते, प्रो लखन गाडगे, प्रो अमन पाटीदार, प्रो लालसिंह चौहान एवं जिला कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल मेहता, पूर्व डीएवीवी सदस्य डॉ विक्रांत भूरिया, कांग्रेस प्रवक्ता हर्ष भट्ट, आचार्य नामदेव, कमरू अजनार, पूर्व विधायक वालसिंह मेडा, आदि विशेष रूप से उपस्थित थे।

नियमित पदस्थापना हेतु इंजीनियरिंग कॉलेज के शिक्षकों ने सांसद भूरिया को ज्ञापन सोंपा-engineering-college-teachers-give-memorandum-to-MP-Kantilal-Bhuria