पुलिस के कर्तव्यों एवं कार्यप्रणाली की दी जानकारी

झाबुआ। पुलिस महानिदेशक मप्र एवं जीएसएफ के प्रमुख स्व. श्री केएफ रूस्तम के शताब्दी वर्ष के अंतर्गत स्थानीय पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित तीन दिवसीय सेंटेेनरी सेलिब्रेषन-रेंज स्तरीय सेमिनार के द्वितीय दिवस शुक्रवार को मुख्य वक्ता के रूप जिला सलाहकार मंडल (डीपीए) एवं जिला विधिक प्राधिकरण के वरिष्ठ सदस्य यषवंत भंडारी उपस्थित थे। श्री भंडारी द्वारा सेमिनार में धार, झाबुआ एवं आलीराजपुर पुलिस थानों के उपस्थित पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों को पुलिस के कर्तव्यों एवं कार्यप्रणाली के सुधार तथा जनता से मधुर संबंध स्थापित करने के संबंध में विभिन्न टिप्स दिए।
सेमिनार के प्रारंभ में पुलिस अधीक्षक महेशचन्द्र जैन ने आमंत्रित अतिथि एवं मुख्य वक्ता यशवत भंडारी का पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया। कार्यक्रम प्रभारी प्रकाश चौहान ने श्री भंडारी का परिचय उपस्थित पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों से करवाया। पश्चात् सेमिनार को सबोधित करते हुए श्री भंडारी ने कहा कि आपके प्रमुख कर्तव्यों में आपराधिक गतिविधियां रोकना, अपराधियों को पकड़ना, अपराध की खोजबीन करना, अपराध को साबित करने के लिए आवष्यक साक्ष्य जुटाने,  धोखाधड़ी, जालसाजी, मादक द्रव्य के व्यवसाय को रोकना तथा राष्ट्रीय संपत्ति की सुरक्षा करना शामिल है। साथ ही प्रदेष एवं देष की सुरक्षा की गुप्त जानकारी एकत्रित करना एवं प्रमुख राजनेताओं की सुरक्षा व्यवस्था करने की भी जवाबदारी आपके सुर्पुद है। इसके अलावा यातायात का नियंत्रण करना भी आपके विभाग की प्रमुख जिम्मेदारी है। 
नगर में शांति एवं सुरक्षा बनाए रखना आपकी जवाबदारी
       श्री भंडारी ने बताया कि किसी भी क्षेत्र एवं नगर में शांति एवं सुरक्षा को व्यवस्थित रखने में आपकी महत्वूपर्ण भूमिका रहती है। इन भूमिकाओं के निवर्हन में आपको स्थानीय जनता के साथ के साथ आपकी सहभागिता होना जरूरी है, इसके लिए आपको स्थानीय नागरिकों से मधुर संबंध स्थापित कर व्यक्तिगत रूप से परिचय प्राप्त करना चाहिए, जिससे समय आने पर नागरिक आपको पूरा सहयोग प्रदान कर सके। आपने सोष्यल पुलिसिंग को आदर्ष बताते हुए कहा कि आज की स्थिति में पुलिस का कार्य केवल अपराध रोकने एवं सुरक्षा करने तक सीमित ना होकर विभिन्न सामाजिक एवं अन्य गतिविधियों में जुड़कर राष्ट्र हित में क्षेत्र में आवष्यकताओं की पूर्ति करने में भी अपना सहयोग प्रदान करना जरूरी हो गया है। 
पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में हो रहे सराहनीय कार्य
         झाबुआ जिला पुलिस के कार्यों की आपने प्रसंषा करते हुए कहा कि पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में आज यातायात पार्क पूरे शहर के लिए आदर्ष बन गया है, जहां पर सैकड़ों की संख्या में नागरिकगण एवं बच्चें आकर अपना भरपूर मनोरंजन करते है। हाथीपावा की पहाड़ियों पर वृक्षारोपण करने की पहल का स्वागत करते हुए श्री भंडारी ने कहा कि पिछले 20 वर्षों में करोड़ो रूपए खर्च करने के बाद वहां पर कोई अपेक्षित परिणाम नहीं आए, जबकि वन विभाग एवं कई स्वयं सेवी संस्थाओं ने कई बार वहां जाकर वृक्षारोपण आदि के कार्य किए, परन्तु वे सब महज दिखावा साबित हुए, अब पुलिस अधीक्षक के नेृत्तव में निष्चित रूप से झाबुआ की सबसे सुंदर प्राकृतिक धरोहर पर पुलिस विभाग के माध्यम से वृक्षारोपण का जो कार्य हो रहा है, निष्चित ही वह अपने आप में एक अनुकरणीय पहल है। 
ईमानदारी एवं जवाबदारी से करे प्रकरणों की जांच
     अपराधों की विवेचना एवं जांच के संबंध में श्री भंडारी ने कहा कि आपको पूर्ण ईमानदारी एवं जवाबदारी से प्रकरणों की जांच करना चाहिए। जिससे बाद न्यायालय में प्रकरण जाने पर अपराधियों को सजा मिल सके। आपने उपस्थित पुलिस अधिकारियों से आग्रह किया कि वे मानवीय पहलू को दृष्टिगत रखते हुए पुलिस थाने पर आए प्रत्येक पीड़ित व्यक्ति को संरक्षण प्रदान करे एवं उन्हें भरोसा दे कि उनके साथ हुई घटनाओं में उन्हें सहीं न्याय प्राप्त होगा, तब ही पुलिस और जनता के बीच में एक अच्छा संदेष पहुंचेगा। कार्यक्रम के अंत में आभार पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पदस्थ निरीक्षक दिनेष रांठी ने माना। 

Three-day-seminar-organised-in-police-control-room-jhabua-पुलिस कंट्रोल रूम में हो रहा तीन दिवसीय सेमिनार
पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित सेमिनार को संबोधित करते मुख्य वक्ता यशवंत भंडारी