s.d.academy-jhabua-mppsc-ias-ssc-bank-coaching-institute-jhabua
झाबुआ : पिछले वर्षों में मध्यप्रदेश पीएससी की परीक्षा में जिले के युवाओं की सफलता के बाद प्रतियोगी परीक्षाओं खासकर सिविल सेवा परीक्षाओं के लिए माहौल बनने लगा है। इसकी तैयारी के लिए जहां प्रदेश के युवा बड़े शहरों का रुख कर रहे हैं वहीं झाबुआ जिले में विगत 14 वर्षो से पीएससी, आईएस , बैंक, संविदा शिक्षक आदि परीक्षाओं के लिए प्रदेश का अग्रणी संसथान एसडी एकेडमी द्वारा सभी परीक्षाओं में शत  प्रतिशत परिणाम देकर नया कीर्तिमान रचा जा रहा है।  
      विगत 14 वर्षो से नियमित कक्षाओं के अलावा अतिरिक्त कक्षाएं इस संस्थान की मूल विशेषता है । झाबुआ  जैसे छोटे शहर में प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता को लेकर विद्यार्थी काफी फिक्रमंद है रोजाना छात्रों को करंट अफेयर्स, राजनीतिक घटनाक्रम से अपडेट कराया जाता है। यहां सभी विषयों के विशेषज्ञ क्लास लेते हैं। यहां तर्कशक्ति, संख्यात्मक अभियोग्यता, इतिहास, संविधान, मप्र  जैसे सभी विषयों की पढ़ाई कराई जा रही है। आने वाले दिनों में स्टूडेंट्स को अतिथि विषय विशेषज्ञों से मार्गदर्शन प्राप्त होगा। इसके लिए संस्थान प्रबंधन  द्वारा निरंतर प्रयास किया जा रहा है।
आगामी परीक्षाओं में मिलेगा फायदा
संस्था प्रबंधक संजीव दुबे ने जानकारी देते हुए बताया की आगामी प्रतियोगी परीक्षाओं में अभ्यर्थियों को विशेष लाभ मिलेगा। संस्थान द्वारा सेमिनार , मॉक टेस्ट जैसे कई ओर नए प्रयासों के साथ संस्थान हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी शत प्रतिशत परिणाम हेतु संकल्पित है, रोजाना अखबार में तात्कालिक मुद्दों को गंभीरता से लेने की सलाह दे रहे हैं, जो ऐसे परीक्षाओं के लिए बेहद महत्वपूर्ण होते हैं।
ज्ञान सबके लिए
झाबुआ जैसे ग्रामीण ओर पिछड़े हुए जिले में हर उम्र, जाति और वर्ग के लोगों तक पिछले कई वर्षों से ज्ञान का प्रकाश पहुंचा रही ‘एसडी एकडेमी ’ ने पिछले दिनों एमपी पीएसी प्रारंभिक एवं मुख्य परीक्षा में ऐतिहासिक परिणाम देकर नया कीर्तिमान रचा  है । संस्थान द्वारा  एमपी पीएसी ओर  आईएस परीक्षाओं हेतु आम लोगों का रास्ता खोल दिया है। एमपी पीएसी, यूपीएससी ,बैंक, संविदा शिक्षक या ऐसी ही किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों के लिए झाबुआ जिले के साथ ही समूचे प्रदेश का एक मात्र संस्थान जहाँ प्रतिवर्ष शत प्रतिशत परिणाम देकर दिन प्रतिदिन सफलता के नए आयाम स्थापित किये जा रहे है।
बढ़ते कदम
डॉ सुरेश कोठरी द्वारा 2002 -03 में बैकलॉग PSC हेतु निःशुल्क क्लासेज शुरू करने के बाद झाबुआ में प्रतियोगिता परीक्षाओं हेतु माहौल बनना शुरू हुआ ओर बैकलॉग में प्रदेश का सबसे बड़ा परीक्षा परिणाम झाबुआ ने दिया लेकिन 2003 में ही कोठरी क्लासेज बंद हो गया ओर संस्था के अधिकांश शिक्षक इंदौर चले गए लेकिन शिक्षक संजीव दुबे द्वारा इंदौर वापस न जाकर यही प्रतिकूल परिस्थितियों में कार्य करने का निर्णय लिया।
     वर्ष 2003  में छोटे से स्तर पर विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाने वाला यह संस्थान 14  वर्षो में हर वर्ष श्रेष्ठ परिणाम देते हुए आज झाबुआ जिले के साथ ही पुरे प्रदेश का तेजी से बढ़ता संस्थान हो चला है , परिणामों में निरन्तर श्रेष्ठता इस संस्थान की खासियत है जो प्रतिवर्ष घोषित परिणामों में दिखाई पड़ती है  ।
खासियत
वर्ष 2003  में स्थापित ‘एसडी एकडेमी ’ने मात्र एक दशक में जिले  के सबसे बड़े प्रतियोगी परीक्षा संस्थान के रूप में अपनी पहचान बना ली है। प्रबंधक संजीव दुबे द्वारा संचालित इस संस्थान का लक्ष्य समाज के हर वर्ग के लोगों को बेहतरीन व उच्च शिक्षा उपलब्ध कराने, उनकी हिम्मत बढ़ाने, उनसे कोऑर्डिनेट करने और जिले के साथ ही प्रदेश में  एक मानक तय करने के उद्देश्य से रखा गया। 2005  से संस्थान ने शैक्षणिक कार्यक्रम चलाने आरंभ किए। सबसे पहले 700  छात्रों के साथ ‘निःशुलक सेमिनार ’ और ‘निःशुलक शिविर ’ कार्यक्रम शुरू किए गए, जिसके बाद निरन्तर इस तरह के शिविर सेमिनार आयोजित किये जा रहे है ।
पुस्तकालय की सुविधा
 संस्थान द्वारा सभी प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु वृहद पुस्तक श्रृंखला ओर  विभिन्न विषयों पर आधारित पुस्तकों की विशाल श्रृंखला संस्थान द्वारा पुस्तकालय में रखी गयी है । लाइब्रेरी में स्टूडेंट्स, एकेडमिक काउंसलर्स और एकेडमिक कोऑर्डिनेटर्स की जरूरतों का ध्यान रखा जाता है। संस्थान  ने वेब लाइब्रेरी भी तैयार कर रखी है। ऑथर, टाइटल, सब्जेक्ट और की-वर्डस के आधार पर यूजर्स ऑनलाइन लाइब्रेरी की सेवा भी ले सकते हैं।
बढ़ रही हैं उपलब्धियां
आज जिले के प्रतियोगी परीक्षाओं के  क्षेत्र में नामांकित कुल छात्रों में से लगभग 65  प्रतिशत परीक्षार्थियों  की शैक्षणिक आवश्यकता एसडी एकडेमी संस्थान पूरी कर रहा है। प्रतियोगी परीक्षाओं में अग्रणी संस्थान के रूप में एसडी एकडेमी को प्रतियोगी परीक्षाओं के क्षेत्र में सर्वोत्तम संस्थान के रूप में उच्च शिक्षा मंत्रालय द्वारा सम्मानित किया गया है ।  खास बात यह भी है कि केवल प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए समर्पित जिले ओर प्रदेश के अभ्यर्थियों द्वारा एसडी एकडेमी को न केवल बेहतर मार्गदर्शक संस्थान अपितु संस्थान ने शिक्षा के नए युग में प्रवेश कराया है। आज संस्थान द्वारा विभिन्न  क्षेत्रीय अध्ययन केंद्रों  के माध्यम से दूर-दराज के विद्यार्थियों तक प्रतियोगी परीक्षाओं में रूचि ओर अवसर हेतु विभिन्न सेमिनार द्वारा मोटीवेट किया जा रहा है ।
हर वर्ग के लिए वरदान
प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता प्राप्त करने की आकांक्षा रखने वाले उन सभी लोगों के लिए संस्थान एक वरदान की तरह है, जो किसी कारणवश रेगुलर पढ़ाई नहीं कर पाते। इस संस्थान में आज के हिसाब से लगभग सभी तरह की परीक्षाओं हेतु पाठ्यक्रम उपलब्ध हैं। खास बात यह है कि इनकी विश्वसनीयता नियमित संस्थानों द्वारा दी जा रही शिक्षा से किसी भी मायने में कम नहीं है। संस्थान द्वारा संचालित अधिकांश परीक्षाओं में निःशुल्क सेमिनार सुविधा छात्रों के लिए वरदान साबित हो रही है.
          मुख्य परीक्षा में चयनित अविनाश भूरिया ने बताया की इंदौर जैसे महानगर में व्यवसायिक स्तर पर संचालित विभिन्न संस्थान लाखो रु. की फीस वसूलते है झाबुआ के सेकड़ो युवा इंदौर जाते है लेकिन परीक्षा परिणाम न के बराबर रहता है। वही जिले के आर्थिक रूप से अक्षम छात्र इंदौर के संस्थान से ही 10% फीस में ही यही रहकर अपने दैनिक कामकाज करते हुए पीएससी परीक्षाओं में मेरिट में स्थान पा रहे है
पर्याप्त स्टडी मैटीरियल
स्टूडेंट्स को परीक्षा  पर आधारित पर्याप्त स्टडी मैटीरियल भी उपलब्ध कराया जाता है, ताकि वे रेगुलर पढ़ाई कर सकें। समय-समय पर परीक्षाएं, मॉक टेस्ट, सेमिनार भी आयोजित किये जाते  हैं।  इसके आधार पर वे सरकारी और निजी कहीं भी अपने अनुकूल रोजगार भी पा सकते हैं।
बढ़ती लोकप्रियता
ग्रामीण और सुदूरवर्ती क्षेत्रों के युवाओं के बीच एसडी एकडेमी की बढ़ती लोकप्रियता का आलम यह है कि इसकी लोकप्रियता को देखते हुए जिले के कई अन्य संस्थानों द्वारा एसडी एकडेमी की तरह सेमिनार आयोजित किये जाने लगे  है.  इन संस्थानों  के अलावा जिले में 25 से अधिक  इंस्टीट्यूट भी एमपी पीएससी, यूपीएससी  की जरूरत पर बल दे रहे हैं। 

Sd Academy के अभ्यर्थियों ने इस वर्ष भी दिया श्रेष्ट परिणाम 

एमपी पीएससी प्रारंभिक परीक्षा के नतीज़ों ने ये साबित कर दिया की झाबुआ के प्रतियोगी अब मध्य प्रदेश स्तर पर नतीजे देने लगे है और मध्य प्रदेश के अन्य जिलो को भी अच्छी टक्कर दे रहे है। वही झाबुआ के Sd Academy का परिणाम हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी श्रेष्ट रहा , संस्था के संचालक श्री संजीव दुबे ने बताया की संस्था में पीएससी प्रारंभिक परीक्षा 2015 के लिए कुल 80 से अधिक अभ्यर्थी नामांकित थे , जिनमे से 60 से अधिक अभ्यर्थी मुख्य परीक्षा के लिए चयनित हुए हैँ। हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी संस्था का परिणाम 85 प्रतिशत से अधिक रहा है।
          जानकारी देते हुए संस्था संचालक संजीव दुबे ने बताया की विगत कई वर्षो से झाबुआ में दमोह , सागर, जबलपुर, रायसेन ,रीवा , इंदौर आदि स्थानों से भी सिविल सेवा परीक्षाओं की तैयारी हेतु विद्यार्थी आने लगे है शासन प्रशासन अगर सिविल परीक्षाओं हेतु थोड़ी सहायता भी करे तो झाबुआ में इससे भी बेहतर परिणाम आ सकते है  संस्था द्वारा वर्ष 2003 से अब तक पीएसी बैकलॉग परीक्षा के बाद एमपीपीएससी की विभिन्न परीक्षाओं में 300 से अधिक युवा चयनित होकर विभिन्न विभागों में अपनी सेवा दे रहे है वही रेल्वे, बैंक , एसएससी , एसआई , व्यापम सहित विभिन्न परीक्षाओं में ये आंकड़ा 1000 से अधिक पहुंच चूका है.
ये अभ्यर्थी हुए प्रारंभिक परीक्षा में चयनित 
      रवि सस्तिया, दीपा सरवन ,विकास मेड़ा , नीना भाबोर ,शम्भू बारिया ,ठाकुर सिंह ,संगीता भाबोर, पूजा वास्कले ,अयाज़ शेख,हेमलता बिलवाल ,शिखा सोनी, निकिता सिन्हा ,देव श्री नाय, मधुबाला गोयल ,शिखा शर्मा ,रिंकू चौहान, अश्विन वसुनिया ,कनका बामनिया ,राकेश परमार ,शेखर दुबे, बलवंत नलवाया ,सपना पचौली, रवि साहू ,लॉरेंस ,मोनिका बघेल ,सुनीता बरिया ,ललित गड़रिया ,राजेश बारिया ,राजेंद्र वसुनिया, कमलेश बामनिया सहित कुल 60 से अधिक अभ्यर्थियों ने प्रारंभिक परीक्षा में सफलता प्राप्त की है।
2015 -16 मुख्य परीक्षा में ये अभ्यर्थी हुए चयनित 
        अविनाश भूरिया , आरती गरवाल, शिखा सोनी, हेमलता बिलवाल , अभिषेक बिलवाल, देवश्री नाय, मुकेश मचार , हर्षिता मेड़ा , ज्योति भाबोर, बलवंत नलवाया, अश्विन वसुनिया , राकेश परमार , लॉरेंस भूरिया, मोनिका बघेल , सुनीता बरिया , निकिता सिंह , ललित गड़रिया , कमलेश बामनिया , कुसुम मेड़ा , विकास मवि, राधा डावर सहित 40 से अधिक  अभ्यर्थियों  ने मुख्य परीक्षा में सफलता प्राप्त की जिनके साक्षात्कार पीएससी द्वारा लिए जा रहे है.
          2015 -16 में अयाज़ शेख , सुनील पाल , कमलेश बामनिया , भवरसिंह , रामसिंह आदि ने एमपी एसआई परीक्षा में सफलता प्राप्त की है वही महिला पर्यवेक्षक परीक्षा में 25 से अधिक अभ्यर्थियों ने सफलता प्राप्त की है जिनमे संस्था की वंदना वाखला ने पुरे प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त किया है

 एक्सपर्ट व्यू  


झाबुआ  जिले में प्रतिभाओ की कोई कमी नहीं है यदि उन्हे परिवार द्वारा प्रोत्साहित किया जाये तो निश्चित ही वे अपने लक्ष्य को प्राप्त करेंगे।  जितने परिश्रमी झाबुआ के छात्र है उतने शायद ही कही हो. सही मार्ग दर्शन के आभाव में अपेक्षित सफलता नहीं आ पाती , वर्तमान में में सीसेट पैटर्न आने से  झाबुआ के विद्यार्थियों को IAS आदि परीक्षाओ में भी सफलता प्राप्त करने के अवसर है आरम्भ में छात्रों की मेहनत  ही शिक्षको के परिश्रम को मंज़िल तक पहुचाती  है में अपने सभी चयनित छात्र छात्राओ को बधाई और शुभकामनाये देता हु.
श्री संजीव दुबे , संचालक ( SD ACADEMY, JHABUA)


[bgallery] [img src="https://4.bp.blogspot.com/-UoUD3AMb4Xw/Vymmz5w89wI/AAAAAAAAI_o/orupTrnTd_cL9wHa2zcAjeJ1JjSqiu7FgCLcB/s1600/dubey-sir2.jpg"][/img] [img src="https://3.bp.blogspot.com/-lytdR0o_71E/Vymfj72xwAI/AAAAAAAAI9s/D3uRmm8FEMsVEoO0Jc208G-dATmJ7YcbQCLcB/s1600/avinash.jpg"][/img] [img src="https://1.bp.blogspot.com/-WTWKVgYxGL0/VymfkmTqmxI/AAAAAAAAI90/Fb2DX56BX447Pbe71l8QzweZY6-Hlm7SgCLcB/s1600/ayaz.jpg"][/img] [img src="https://2.bp.blogspot.com/-pXsMepHgoDo/VymfkQnnuJI/AAAAAAAAI9w/JMurLNWLLmM6CY6Dvkg8-YFNQH4OYFQuwCLcB/s1600/balwant.jpg"][/img] [img src="https://3.bp.blogspot.com/-FcNE0xiUuSo/VymflJUMDgI/AAAAAAAAI94/yT3m1IY8T84gmn8brRSmWXOYe8zhZYViwCLcB/s1600/bhawarsingh.jpg"][/img] [img src="https://1.bp.blogspot.com/-l9ImgF5Xutw/VymfmbD5K5I/AAAAAAAAI-A/I75-M1-_wSEzUIGF648rneA1RZODHNCiQCLcB/s1600/devshiri.jpg"][/img] [img src="https://2.bp.blogspot.com/-_PL0v-UCKyk/VymfmMA7pEI/AAAAAAAAI98/qx6nIdNJ8LEzB_YbGmHqU0F76pb1gHRFACLcB/s1600/harshit.jpg"][/img] [img src="https://2.bp.blogspot.com/-8uyTJUqPOx4/VymfmsMgOXI/AAAAAAAAI-E/vI2oaKq7sHQi_MrcGLD1PUqZ5BDP7zjhQCLcB/s1600/harshita.jpg"][/img] [img src="https://2.bp.blogspot.com/-qYVGipF7wYE/Vymfn3jFlwI/AAAAAAAAI-M/bvuG4F_vu08A4S4IKxTorDKSQqFhBnimQCLcB/s1600/hemlata-kanka.jpg"][/img][img src="https://2.bp.blogspot.com/-U8hnqv0upqo/VymfnYq23QI/AAAAAAAAI-I/Gl5Mao8nloUov9uYhlpWjfVNUD9B4U4qwCLcB/s1600/jyoti.jpg"][/img] [img src="https://1.bp.blogspot.com/-PdddA5WeEqI/Vymfn5hL8bI/AAAAAAAAI-Q/1jYZ_v-cI20RGRjWdfFtRW_hRsDI-nTAwCLcB/s1600/kusum.jpg"][/img] [img src="https://2.bp.blogspot.com/-2G4Rpz7jpXA/Vymfo0qmnrI/AAAAAAAAI-U/i1HoL5ZrqlE7pmu8KkgzinGzAs5uYZyHACLcB/s1600/lorence-abhishek.jpg"][/img] [img src="https://2.bp.blogspot.com/-gV08-y4t3zA/VymfpHwd_4I/AAAAAAAAI-Y/loXFFPcuhAcqTON0KXjTsmuFbS_O10xSwCLcB/s1600/mukesh.jpg"][/img][img src="https://1.bp.blogspot.com/-DPnQ3_yZ1oQ/VymfpdY3FEI/AAAAAAAAI-c/F_4orzFQ71QfM7QFtEe4qSkuoOkOuHb2QCLcB/s1600/nilesh.jpg"][/img] [img src="https://2.bp.blogspot.com/-QllahKNKO-Y/Vymfqx-B39I/AAAAAAAAI-o/9s3c0EFBP_g5EmHBdB7fJCheoXgUfnLWQCLcB/s1600/radha.jpg"][/img] [img src="https://2.bp.blogspot.com/-4i8OWol2AMQ/VymfqXQa9yI/AAAAAAAAI-g/SssThYORBDEvGxtS-1hno0lhrsFHvn8PQCLcB/s1600/rakesh.jpg"][/img] [img src="https://1.bp.blogspot.com/-Cjbn-iQQQJA/Vymfq_MojAI/AAAAAAAAI-k/1a-ACLj9_FEcVNp8iYYAsmGVZS18s_e1QCLcB/s1600/sheekha.jpg"][/img] [/bgallery]