झाबुआ : प्रख्यात राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय साहित्यकार  डॉ. रामशंकर चंचल की 22 वी कृति  " पर्यावरण की पुजारिन " का विमोचन जिला स्तरीय राष्ट्रीय सेवा योजना के गड़वाड़ा कैंप में महाविद्यालय की वरिष्ट प्राध्यापिका , साहित्यकार डॉ. गीता दुबे के कर कमलो से संपन्न हुआ।  इस अवसर पर डॉ. एसी जैन प्राचार्य डॉ.जेसी सिन्हा , डॉ. अंजना सोलंकी भी अथिति के रूप में मौजूद थी. 
                डॉ. चंचल की लोकप्रिय कृति " नेशनल बुक ट्रस्ट नई दिल्ली " से प्रकाशित हुई है जिसकी लोकप्रियता यह की कृति  का दूसरा संस्करण हाल ही में नेशनल संस्करण द्वारा प्रकाशित किया गया है।  उक्त अवसर पर डॉ. रंजना रावत , डॉ. गोपाल भूरिया , कीर्तिश राठोड आदि उपस्थित थे. संचालन प्रो रीता गणावा ने किया आभार डॉ. वीएस मेडा  ने माना।  

dr-ramshankar-chanchal-jhabua

dr-ramshankar-chanchal-jhabua

dr-ramshankar-chanchal-jhabua

dr-ramshankar-chanchal-jhabua

dr-ramshankar-chanchal-jhabua





तीसरा संस्करण जल्द ही प्रकाशित 
      डॉ. चंचल ने एक मुलाकात में बताया के अगर कृति  का तीसरा संस्करण निकलता है तो नेशनल बुक ट्रस्ट द्वारा उसका कई भाषाओ में अनुवाद भी किया जा सकता है ओर  हर कृति पर 75 % रॉयल्टी बुक ट्रस्ट द्वारा प्रदान की जाएगी।  
डॉ. रामशंकर चंचल 
वरिष्ठ साहित्यकार